स्वसहायता समूहों की 700 महिलाएं राजधानी के अध्ययन भ्रमण पर

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (बिहान) के तहत काम कर रहीं महिला स्वसहायता समूहों की 700 पदाधिकारी आज सवेरे अध्ययन भ्रमण पर राजधानी पहुंची। इनमें राजनांदगांव जिले की 209, बलरामपुर-रामानुजगंज की 158, सूरजपुर की 87, बलौदाबाजार-भाटापारा और सुकमा की 83-83 एवं गरियाबंद जिले की 79 महिलाएं शामिल हैं। हमर छत्तीसगढ़ योजना के अंतर्गत छह जिलों की स्वसहायता समूह की महिलाएं दो दिनों की अध्ययन यात्रा पर रायपुर आई हैं।

ग्राम संगठन और संकुल संगठन की इन महिला पदाधिकारियों ने अध्ययन प्रवास के पहले दिन आज नया रायपुर में मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और पुरखौती मुक्तांगन देखा। उन्होंने रायपुर के इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय का भी भ्रमण किया। हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में छायाचित्र प्रदर्शनी और होलोग्राफिक प्रोजेक्शन तथा पुरखौती मुक्तांगन में लाइट एंड साउंड शो के जरिए उन्हें प्रदेश की उपलब्धियों एवं प्रगति की जानकारी दी गई।

आवासीय परिसर में स्वसहायता समूह की महिलाओं के लिए प्रशिक्षण एवं समूह चर्चा का आयोजन किया गया। इसमें उन्हें सरकार की अनेक योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी दी गई। वे अध्ययन यात्रा के दूसरे दिन कल 26 जून को जंगल सफारी, छत्तीसगढ़ विधानसभा एवं साइंस सेंटर का भ्रमण करेंगी।

हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन भ्रमण पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने कल शाम नया रायपुर के राजधानी सरोवर में संगीतमय फव्वारे और लेजर शो का आनंद लिया। बस्तर, सरगुजा, जशपुर और बिलासपुर जिलों से आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के 476 प्रतिनिधियों ने बेहद कौतुहल से मंत्रालय (महानदी भवन) के नजदीक स्थित राजधानी सरोवर में इस रंगारंग शो का लुत्फ लिया। नया रायपुर के इस नए आकर्षण की शुरुआत अभी हाल ही में पिछले महीने की 26 तारीख को हुई है।

हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्य 10 जुलाई से राजधानी रायपुर के अध्ययन भ्रमण पर आ रहे हैं। आगामी 30 सितम्बर तक प्रदेश के 32 वनमंडलों में गठित करीब सात हजार 900 समितियों के लगभग 16 हजार सदस्य अध्ययन प्रवास पर आएंगे। प्रतिनिधि दो दिवसीय अध्ययन यात्रा के दौरान जंगल सफारी, मंत्रालय, शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, पुरखौती मुक्तांगन, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, छत्तीसगढ़ विज्ञान केन्द्र और विधानसभा देखेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *