अगर औरत ये पानी शौहर को पिला दे तो शौहर बीवी का आशिक बन जायेगा, इस वजीफे को…

अस्सलामोअलैकुम नाज़रीन भाइयों और बहनों आज हम बात करेंगे मियां बीवी के रिश्ते की अल्लाह ताला ने जो पहला रिश्ता बनाया है शौहर और बीवी का है सबसे पहले अल्लाह ताला ने आदम अलैहिस्सलाम और दादी हव्वा को पैदा किया। दुनिया में भी पहला रिश्ता है मियां और बीवी का है जन्नत में भी पहला रिश्ता है. मियां और बीवी के जन्नत में जोड़े होंगे. मां बाप अपनी जन्नत में भाई बहन अपनी जन्नत में बच्चे अपनी जन्नत में. अल्लाह ने वहां भी साथ रखा है मियां बीवी को और मियां बीवी क रिश्ता सबसे अहम रिश्ता है.

इस रिश्ते को बनाए रखने के लिए अल्लाह ताला ने सैकड़ों आयात उतारा इसमें दखल अंदाजी के लिए कोई रास्ता नहीं छोड़ा। औलाद को भी यह यह हक नहीं दिया कि मियां बीवी के रिश्ते में दरार उनकी वजह से पड़े. कुछ बीवी ऐसी होती हैं जो बच्चों के चलते शौहर(मियां) को नजरअंदाज करती और उनसे लड़ाई झगड़ा करती हैं कुछ शौहर ऐसे होते हैं जो अपनी बीवी को अपने घर वालों मां बाप बहन भाई के चलते नजर अंदाज करते हैं और उन से झगड़ते हैं अपने बहन भाइयों की बात सुनकर अपनी बीवी को मारते पीटते हैं,ज़लील करते हैं यह हर घर की कहानी है ऐसा करने से अल्लाह ताला ने रोका है.

google

शौहर बीवी को सबसे ज्यादा इज़्ज़त दे और बीवी अपने शौहर को सबसे ज्यादा इज़्ज़त दे. मिया बीवी के हुक़ूक़ में सबसे बड़ा हक शौहर और बीवी का एक दूसरे के साथ है इनसे नसल चलनी है. अल्लाह ताला ने बीवी को शौहर की रोटी पकाने को नहीं कहा तो शौहर के मां बाप की रोटी कैसे उसके ज़िम्मे होगी उसके घरवलो की ज़िम्मेदारी कैसे उसके ज़िम्मे होगी अगर वो करके देती है तो अपने शौहर (पति)पर एहसान करती है. पहला रिश्ता मियां बीवी का है अल्लाह ताला ने कहा बीवी की कदर करो लेकिन आज लोग बीवी को गुलाम समझते है शौहर से ज़्यादा उसके मां बाप उसके भाई बहन उसके रिश्तेदार हक जताते है और शौहर से झूटी सच्ची बात लगाकर दोनो में झगड़ा करवाते हैं।हुज़ूर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम से पूछा गया उनको सबसे ज़्यादा मुहब्बत किससे थी.

उन्होंने जवाब दिया,” आयशा(रज़ि) से वो उनके साथ मिलकर घर के सारे कामकरते और 1 ही बर्तन में खाते”।हमारे नबी अपनी बीवी से इतनी मोहब्बत करते थे तो हम क्यों नही? आज का समाज ऐसा होगया है दिन रात मियां बीवी में झगड़े कभी घरवालो को लेकर कभी बच्चों को तो कभी अना को लेकर दिन रात किसी न किसी बात पर लड़ाई झगड़े लगे रहते हैं। बाज़ लोग तो अपनी बीवियों को गालियां देते मारापीटी करते और कुछ बीवियां भी बदज़बान होती है शौहर के आते शिकवा शिकायत लड़ाई झगड़ा लेकर बैठ जाती है आज रिश्तो में बहुत दरारें आगई हैं.

google

आज हम मिंया बीवी के इन्ही रिश्तो को लेकर आप के लिए 1 ऐसा अमल लाए है जिसे करने के बाद आपके बीच की दरारे कम होजायगी और आपस मे मोहब्बत होगी।हर अमल को करने से पहले आपको पांच वक़्त की नमाज़ ज़रूर पढ़ना चाहिए बिना नमाज़ पढ़े कोई अमल असर नही करता. इस अमल को करने से इंशाल्लाह आप दोनों के रिश्ते में मोहब्बत पैदा होगी और आप दोनों के रिश्ते मज़बूत होंगे लड़ाई झगड़े हमेशा के लिए मोहब्बत में तब्दील हो जाएंगे मिंया को चाहिए ये अमल करके पानी जूस या दूध पर दम कर के अपनी बीवी को पिला दे कुछ ही देर में वह आपकी मुरीद हो जाएगी अगर बीवी का ख्याल नहीं रखता और उससे लड़ाई झगड़ा करता है तो बीवी अमल करें इंशाल्लाह दोनों में ना खत्म होने वाली मोहब्बत पैदा हो जाएगी.

मियां-बीवी मिलकर एक घर बनाते हैं और उनमें भी लड़ाई झगड़ा शुरू हो जाए तो यह घर टूट जाते हैं विवाह बीवी का रिश्ता कोई कच्चा धागा नहीं है यह एक बहुत मज़बूत और बहुत गहरा रिश्ता है जो अल्लाह ताला ने बनाया है अल्लाह ताला फरमाते हैं उन्होंने तुमसे पक्का अहद लिया है कुरान ए मजीद में बीवी को साथी कहा है. यह जिंदगी भर का साथ होता है मियां और बीवी दोनों को समझदारी से काम लेना चाहिए मोहब्बत और प्यार के साथ जिंदगी गुजार कर शैतान को इसमें दखलंदाजी का मौका नहीं देना चाहिए यह जिम्मेदारी दोनो की होती है.

दोनों एक दूसरे के साथ मोहब्बत और प्यार से काम ले।शरीयत में निकाह के बाद मोहब्बत को अजर सवाब का ज़रिया बताया है मिंया बीवी आपस मे जितनी मोहब्बत करेंगे अल्लाह रब्बुल इज़्ज़त उनसे खुश होगा. एक हदीस मुबारका में आया है जब शौहर अपनी बीवी को देखकर मुस्कुराता है और बीवी अपने शौहर को देखकर मुस्कराती है तो अल्लाह ताला उन दोनों को देखकर मुस्कुराते है. वो अमल ये है कि इलाइची पर दूध पर या पानी पर 100 बार या कुद्दुस या सलाम 20 बार सूरह कौसर 10 बार सूरः फातिहा अव्वल और आखिर में 3 3 बार दरूद इब्राहीमी पढ़ कर पानी पर दम करके शाम को अपने शौहर या बीवी को पिला दे इंशाअल्लाह जल्द से जल्द आपको असर दिखेगा.

3 thoughts on “अगर औरत ये पानी शौहर को पिला दे तो शौहर बीवी का आशिक बन जायेगा, इस वजीफे को…”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *