BJP को वोट ना देने की अपील करने वाले कलाकारों पर अनुपम खेर ने साधा निशाना, दे दिया ये बड़ा बयान…

हेलो दोस्तों जितनी तेजी से चुनाव करीब आ रहा है उतनी ही तेजी से चुनावों को लेकर हर तरफ बयानबाजी हो रही है सभी पार्टियां एक दूसरे को नीचे दिखाने में लगी हुई है ऐसे में जनता भी उन पार्टियों का सपोर्ट कर रही है जिन्हें वह जीताना चाहती है अलग अलग लोग अलग-अलग पार्टियों को सपोर्ट कर रहे हैं ऐसे में सिर्फ आम जनता ही नहीं बल्कि फिल्मी सितारे भी 2019 के चुनाव को गंभीरता से ले रहे हैं। अभी जल्द ही सोशल मीडिया पर एक पत्र वायरल हुआ था जिसमें नसीरुद्दीन शाह समेत करीब 600 से ज्यादा फिल्मी दुनिया से जुड़े कलाकारों ने भाजपा को वोट ना देने की अपील की थी.

इस पत्र में नसीरुद्दीन शाह, अनुराग कश्यप ,कोकड़ा सेन शर्मा, अमोल पालेकर जैसी बड़ी फिल्मी हस्तियों नें लोगों से अपील की थी कि अपने कीमती वोटों को बीजेपी को ना देकर उसे इस बार सत्ता से बाहर कर दें क्योंकि देश को और देश के संविधान को बीजेपी से खतरा है. दोस्तों जैसे ही यह सारी बातें अनुपम खेर तक पहुंची और उन्होंने सोशल मीडिया पर इस लेटर को वायरल होते हुए देखा तो उन्होंने इन कलाकारों को जवाब देते हुए अपने विचार स्पष्ट किए और कहा कि यदि आप बीजेपी को वोट ना देने की अपील कर रहे हैं तो इसका मतलब है कि आप विपक्षी दल के साथ हैं और विपक्षी दलों के समर्थक हैं.

google

दोस्तों आज के जमाने में सोशल मीडिया एक ऐसा माध्यम बन चुका है जिसके जरिए हम अपनी बातों को पूरी दुनिया तक पहुंचा सकते हैं ऐसे में फिल्मी दुनिया के सितारों ने भी इसी माध्यम को अपनाया और बीजेपी को वोट ना करने की अपील कर दी ।फिर जब अनुपम खेर को इस बारे में पता चला तो उन्होंने सोशल मीडिया के द्वारा ही उन फिल्मी सितारों को खूब खरी-खोटी सुनाई.

अनुपम खेर ने अपनी बात को रखते हुए सोशल मीडिया पर ट्वीट लिखा “तो हमारी ही बिरादरी के कुछ लोगों ने एक लेटर जारी करके आने वाले चुनाव में वर्तमान सरकार को वोट ना देने की अपील की है जिसे जनता ने खुद संवैधानिक तरीके से चुना था”। अनुपम खेर ने अपने एक और ट्वीट में लिखा है कि ” दूसरे शब्दों में कहा जाए तो ये लोग आधिकारिक रूप से विपक्ष के लिए कैंपेनिंग कर रहे हैं अच्छा है। कम से कम अब ये लोग दिखावा तो नहीं कर रहे हैं शानदार।

google

दोस्तों नसीरूद्दीन शाह समेत छह सौ व्यक्तियों की सहमति से तैयार किये गये इस पत्र को 12 भाषाओं में सोशल मीडिया पर वायरल किया गया ।इस पत्र में कहा गया है कि आज गीत नृत्य हास्य सहित कला खतरे में है। देश एवं देश का संविधान खतरे में है लेटर में आगे यह भी लिखा है कि कोई भी लोकतंत्र सवाल बहस और विपक्ष के बिना काम नहीं कर सकता है लेकिन मौजूदा सरकार ने तो विपक्ष को बिल्कुल कुचल ही दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *