मप्र, राजस्थान, छग में 80 विधायक बन सकते हैं मंत्री, गहलोत सरकार में शामिल हो सकते हैं 30 मंत्री

रायपुर/भोपाल/जयपुर. राजस्थान में सोमवार को अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री और सचिन पायलट ने उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। मंत्री पद के लिए फिलहाल किसी को शपथ नहीं दिलवाई गई है।
इसी तरह मध्यप्रदेश में कमलनाथ ने शपथ ली। कैबिनेट का गठन बाद में किया जाएगा। कहा जा रहा है कि तीनों राज्यों में 80 विधायकों को मंत्री बनाया जा सकता है। इनमें सबसे बड़ा मंत्रिमंडल मध्यप्रदेश में हो सकता है।

मध्यप्रदेश: 37 विधायकों के नाम की चर्चा

मालवा-निमाड़ से 11 : सज्जन सिंह वर्मा, हुकुमसिंह कराड़ा, विजय लक्ष्मी साधौ, बाला बच्चन, तुलसी सिलावट, उमंग सिंघार, जीतू पटवारी, सचिन यादव, राज्यवर्द्धन सिंह दत्तीगांव, दिलीप सिंह गुर्जर या रामलाल मालवीय।विंध्य से 2 : बिसाहू लाल, कमलेश्वर पटेल। मध्य से 5 : आरिफ अकील, डॉ. प्रभुराम चौधरी, पीसी शर्मा, लक्ष्मण सिंह या जयवर्द्धन सिंह।

ग्वालियर-चंबल से 6 :

डॉ. गोविंद सिंह, केपी सिंह, एंदल सिंह कंसाना, लाखन सिंह, प्रद्मनयु सिंह और इमरती देवी।बुंदेलखंड से 4 : ब्रजेंद्र सिंह राठौर, गोविंद सिंह राजपूत, हर्षयादव और विक्रम सिंह।महाकौशल से 7 : एनपी प्रजापति, तरुण भानौत, दीपक सक्सेना, लखन घनघोरिया, ओमकार सिंह मरकाम, सुखदेव पांसे, हिना कावरे।निर्दलीय 2 : चार बार के विधायक प्रदीप जायसवाल और सुरेंद्र सिंह उर्फ शेरा। विधानसभा अध्यक्ष : डॉ. गोविंद सिंह, केपी सिंह, डॉ. विजय लक्ष्मी साधौ, एनपी प्रजापति में किसी एक को विधानसभा अध्यक्ष बनाया जा सकता है।

छत्तीसगढ़: 17 नाम, लेकिन 13 ही मंत्री बनेंगे

संवैधानिक बाध्यता के चलते छत्तीसगढ़ में 13 मंत्री ही बनाए जाएंगे, ऐसे में मंत्रिमंडल गठन का फॉर्मूला बनाया जा रहा है। कहा जा रहा है कि हर संभाग से तीन-तीन और सीएम बघेल के गृह संभाग से उनके अतिरिक्त एक ही मंत्री लिया जा सकता है। इसी तरह विधानसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के नाम भी तय किए जाने हैं। बघेल का कहना है कि उनकी कैबिनेट में वरिष्ठता के साथ युवाओं, महिलाओं की भी हिस्सेदारी होगी। इसके बाद से इसके साथ ही चर्चाओं का दौर और विधायकों की दौड़ भी तेज हो गई है। जिन लोगों के नाम सामने आ रहे हैं उनमें आठ पूर्व मंत्री है। ये बन सकते हैं मंत्री : टीएस सिंहदेव, चरणदास महंत, सत्यनारायण शर्मा, रविंद्र चौबे, धनेन्द्र साहू, शिव डहरिया, अमरजीत भगत, खेलसाय सिंह, लखेश्वर बघेल, उमेश पटेल, प्रेमसाय टेकाम, मोहम्मद अकबर, अमितेष शुक्ल, ताम्रध्वज साहू, अरुण वोरा, कवासी लखमा और अनिला भेड़िया।

राजस्थान : कैबिनेट में शामिल हो सकते हैं 30 मंत्री

राज्य की कमान अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री का पद सचिन पायलट को देने के बाद यह चर्चा है कि मंत्रिमंडल में दोनों के समर्थकों की भागीदारी 50:50 की रहेगी। यानी गहलोत सरकार में 30 मंत्री होंगे।

दोनों के 15-15 समर्थित मंत्री होंगे। हालांकि, दोनों खेमों से नाम सामने नहीं आए हैं। अशोक गहलोत ने कहा कि राष्ट्रीय नेतृत्व से विचार विमर्श के बाद कैबिनेट का गठन होगा। सीएम पद की जिम्मेदारी आने के बाद काम के दबाव को लेकर गहलोत ने कहा कि वे 24 घंटे 365 दिन काम करने वाले आदमी हैं। वे चाहे पद पर रहे हों या नहीं, उनका रूटीन यही रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *