इन अफसरों के साहस से खौफ खाते हैं बदमाश, इतने अधिकारियों को वीरता पदक और 10 को भारतीय पुलिस पदक

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज यहां पुलिस परेड ग्राउंड में स्वतंत्रता दिवस के मुख्य समारोह में उल्लेखनीय कार्य करने वाले पुलिस और जेल विभाग के 35 अधिकारियों को पुरस्कृत किया। उन्होंने पुलिस विभाग के 13 अधिकारियों को पुलिस वीरता पदक और 10 अधिकारियों को भारतीय पुलिस पदक प्रदान किया। भारतीय पुलिस सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारी पूर्व उप पुलिस महानिरीक्षक श्री एस.एस. सोरी को विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति के विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित किया गया।
पुलिस वीरता पदक से सम्मानित होने वालों में निरीक्षक श्री प्रकाश राठौर, ई.ओ.डब्ल्यू. में पुलिस अधीक्षक श्री आई.के. एलेसेला, निरीक्षक श्री अब्दुल समीर, सहायक उपनिरीक्षक श्री हनीफ खान, उपनिरीक्षक शहीद श्री पुष्पराज नागवंशी, निरीक्षक सर्वश्री निलेश पाण्डेय, देवेन्द्र दर्रो, श्री संग्राम सिंह ध्रुर्वे, आरक्षक शहीद श्री आदित्यशरण प्रताप सिंह, उपनिरीक्षक शहीद श्री मूलचंद कंवर, उप पुलिस अधीक्षक श्री आकाश राव गिरेपुंजे, निरीक्षक श्री सोनल ग्वाला तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री अनिल कुमार सोनी शामिल हैं।

मुख्यमंत्री ने स्वतंत्रता दिवस समारोह में रेल पुलिस अधीक्षक श्रीमती मिलना कुर्रे, सेनानी श्री मनोज कुमार खिलारी, उप पुलिस अधीक्षक श्री नजमुस साकिब, कंपनी कमांडर श्री मोहन सिंह, प्लाटून कमांडर श्री इस्तेफन कुजूर, सहायक उप निरीक्षक श्री बलराम बघेल, सहायक प्लाटून कमांडर श्री ओंकार दास साहू, प्रधान आरक्षक सर्वश्री ताज खान, संजय सिंह बघेल और श्रीमती जुलेखा बेगम को भारतीय पुलिस पदक से अलंकृत किया। उन्होंने जेल विभाग की मुख्य प्रहरी श्रीमती फ्लोरा लकड़ा, प्रहरी सर्वश्री दाऊराम कठोतरे और दुलार सिंह वर्मा को सराहनीय सुधार सेवा पदक से सम्मानित किया। कंपनी कमांडर श्री शिव कुमार सोनी एवं प्रधान आरक्षक श्री सत्यनारायण प्रजापति को यूनियन होम मिनिस्टर मेडल फॉर एक्सीलेंस इन पुलिस ट्रेनिंग से सम्मानित किया गया। वहीं राज्य स्तरीय पुरस्कारों में प्रधान आरक्षक श्री हरीश टेम्भूरकर को गुरू घासीदास पुरस्कार, निरीक्षक श्रीमती सुषमा सिंह को राज्यपाल पुरस्कार, निरीक्षक श्रीमती सतरूपा तारम को मुख्यमंत्री पुरस्कार, निरीक्षक श्रीमती सी. तिर्की को रानी सुवरन कुंवर पुरस्कार, सहायक उपनिरीक्षक श्री वेदराम खूंटे को वीर नारायण सिंह पुरस्कार और प्रधान आरक्षक श्री कन्हैया लाल उइके को पुलिस महानिदेशक पुरस्कार प्रदान किया गया।

छत्तीसगढ़ का नाम पूरे विश्व में रोशन करें

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके से आज यहां राजभवन में नारायणपुर जिले के मलखम खिलाड़ियों के प्रतिनिधिमण्डल ने मुलाकात की। इन्होंने आज सुबह राजधानी के पुलिस परेड ग्राउंड में आयोजित स्वतंत्रता दिवस के मुख्य समारोह में अपना प्रदर्शन प्रस्तुत किया है। राज्यपाल ने उन्हें स्वतंत्रता दिवस और रक्षा बंधन की बधाई एवं शुभकामनाएं दी और कहा कि आप बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। इतने दूरस्थ क्षेत्र में रहने वाले खिलाड़ियों का इतना अच्छा प्रदर्शन वाकई सराहनीय है। मेरी कामना है कि आप छत्तीसगढ़ का नाम देश ही नहीं पूरे विश्व में रोशन करें। राज्यपाल ने संबंधित अधिकारियों को खिलाड़ियों की आवश्यकताएं पूरे करने के निर्देश दिए। प्रतिनिधिमण्डल ने बताया कि उन्होंने विभिन्न प्रतिस्पर्धाओं में पदक जीता है और वर्ष 2017 में तमिलनाडु में हुए राष्ट्रीय प्रतियोगिता में चौथा स्थान प्राप्त किया है। इस अवसर पर उपस्थित समग्र शिक्षा के मिशन निदेशक श्री पी. दयानंद ने कहा कि बच्चों को सभी सुविधाएं मुहैया कराने का प्रयास किया जा रहा है। भविष्य में बच्चे ओलंपिक में जाने के लिए भारतीय टीम में चयनित होने की तैयारी कर रहे हैं। इस अवसर पर खिलाड़ियों के प्रशिक्षक भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *