राज्योत्सव में समूह की महिलाओं को 50 हजार रूपये से अधिक की हुई आमदनी : मुख्यमंत्री और महिला बाल विकास मंत्री ने महिलाओं के हुनर को सराहा

रायपुर: छत्तीसगढ राज्य स्थापना दिवस पर रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में आयोजित राज्योत्सव में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा लगाए गए स्टॉल में महिला स्व-सहायता समूह की महिलाओं को हैण्डीक्राफ्ट, आभूषण और लकड़ी के सजावटी सामानों की बिक्री से 50 हजार रूपये से अधिक की आमदनी हुई है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल और महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेंड़िया ने भी स्टॉल का निरीक्षण कर महिलाओं के हुनर को सराहा। मुख्यमंत्री ने स्टॉल के निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान से संबंधित चित्रों को देखकर विभाग के सचिव श्री सिद्धार्थ कोमल परदेसी से अभियान के क्रियान्वयन के संबंध में विस्तार से जानकारी ली।
स्टॉल में लाखेनगर रायपुर की महालक्ष्मी महिला स्व-सहायता समूह ने हैण्डीक्राफ्ट और छत्तीसगढ़ी व्यंजनों को विक्रय सह प्रदर्शन के लिए रखा था। समूह की अध्यक्ष श्रीमती रेणु विश्वकर्मा ने बताया कि राज्योत्सव में विभाग ने उन्हें अपने सामानों के प्रदर्शन और विक्रय के लिए स्थान उपलब्ध कराया है। समूह द्वारा पेपरमेशी गुलदस्ते, सजावटी सामान, मोबाइल कव्हर, पर्स के साथ बड़ी, पापड़, रूई के बत्ती जैसे कई घरेलू उपयोग के सामानों की बिक्री की गई जिससे उन्हें 12 हजार रूपये की आमदनी हुई है। उन्होंने बताया कि बिक्री के लिए रखे गए सारे सामान महिलाएं स्वयं तैयार करती हैं। राज्योत्सव में सरकार द्वारा विक्रय के लिए स्थान उपलब्ध कराने से उन्हें बाजार उपलब्ध हो जाता है और अच्छी आमदनी हो जाती है। इसी तरह राजेन्द्र नगर रायपुर की पारिजात महिला स्व-सहायता समूह की महिलाओं को आभूषणों के विक्रय से लगभग 15 हजार रूपये की और आमापारा रायपुर के प्रोत्साहन स्व सहायता समूह की महिलाओं को लकड़ी के सामानों के विक्रय से लगभग 25 हजार रूपये की आमदनी हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *