लोकसभा में सबसे बड़े प्रदेश से हैं इतने मुस्लि’म सां’सद, ‘मोदी लह’र’ में भी..

आज हम आपको बताने जा रहे हैं इस बारे में कि हमारे देश के निचले सदन लोकसभा में कितने सांसद मुस्लि’म समाज के हैं. इस समय केंद्र की सत्ता भाजपा के पास है. भाजपा एक ऐसी पा’र्टी है जिसने लोकसभा चुनाव में कहीं भी कोई मज़बूत मु’स्लिम उम्मीदवार नहीं उतारा. उत्तर प्रदेश में तो भाजपा ने किसी भी मु’स्लिम उम्मीदवार को तिक्त नहीं दिया. इसके बावजूद मुस्लि’म समाज के प्रत्याशियों ने ठीक ठाक सफलता हासिल की है.

देश के सबसे अधिक सीटों वाले राज्य उत्तर प्रदेश की 80 सीटों में से किसी भी सीट पर भाजपा ने कोई मुस्लि’म प्रत्याशी नहीं खड़ा किया था जबकि सपा-बसपा गठबंधन ने अपनी सीटों में मुस्लि’म समाज के लोगों को भी टिकट दिया था. उत्तर प्रदेश में कुल 6 मु’स्लिम प्रत्याशियों ने जीत हासिल की है. इनमें से 3 सपा और 3 बसपा के उम्मीदवार रहे.


अमरोहा लोकसभा सीट से बसपा के कुंवर दानिश अली ने चुनाव जीता जबकि ग़ाज़ीपुर से अफ़ज़ाल अंसारी ने बसपा का परचम ल’हराया. अफ़ज़ाल अंसारी भी बहुजन समाज पा’र्टी के टिकट पर चुनाव में खड़े हुए हैं.अंसारी के अलावा सहारनपुर से हाजी फजलुर्रहमान ने भी जीत हासिल की. मुरादाबाद में एसटी हसन ने सपा के टिकट पर जीत हासिल की जबकि क़द्दावर समाजवादी नेता आज़म ख़ान ने भी रामपुर से बड़ी जीत हासिल की.

इन नेताओं की जीत इस वजह से मायने रखती है क्यूंकि ये ऐसे समय पर आयी है जब पूरे देश में ‘मोदी लह’र’ चल रही थी. इसके बाद भी इन नेताओं ने बड़ी जीत हासिल की और अपने समाज का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं. उल्लखनीय है कि सपा-बसपा लोकसभा चुनाव मिलकर ल’ड़े थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *