वसीम जाफ़र को मिली बड़ी ज़िम्मेदारी, इस तरह क्रिकेट..

कुछ ऐसे क्रिकेटर हुए हैं जिनके बारे में शायद ही किसी को उनके टैलेंट के बारे में संदेह हो लेकिन वो भारतीय टीम में बहुत लम्बे समय नहीं खेल सके हैं. हालाँकि उन्हें जब मौक़ा मिला है तो उन्होंने अपने हुनर का जौहर भी दिखाया है लेकिन ख़राब फॉर्म की वजह से एक बार बाहर होने के बाद देश की टीम में मौक़ा मिलना मुश्किल ही होता है. इसकी वजह ये है कि हमारे देश में टैलेंट भी ख़ूब है. हम आज जिस क्रिकेटर कि बात करने जा रहे हैं उसका नाम है वसीम जाफ़र.

वसीम जाफ़र के नाम प्रथम श्रेणी में कई रिकॉर्ड दर्ज हैं. उनके हुनर का लोहा हर कोई मानता है. उनके नाम जाने कितने रिकॉर्ड हैं. जब वो टीम इंडिया के लिए खेलते थे तब भी उनका बहुत नाम था और घरेलु क्रिकेट में तो उनकी सानी ही नहीं है. कई लोगो का मानना है की वसीम जाफर को टीम इडिया में उचित मौके नही मिले. अब जाफ़र के बारे में एक बड़ी ख़बर आ रही है. उन्हें अब पडोसी देश बंगलादेश ने बड़ी ज़िम्मेदारी दी है.

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वसीम जाफर को बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) ने मीरपुर स्थित अपनी अकादमी के लिये बल्लेबाजी सलाहकार नियुक्त किया है.बीसीबी के एक सीनियर अधिकारी ने गुरुवार को इसकी पुष्टि की. बीसीबी खेल विकास प्रबंधक कैसर अहमद से कहा,‘‘जाफर को मीरपुर में बीसीबी अकादमी में बल्लेबाजी सलाहकार के तौर पर मई से अप्रैल 2020 तक एक साल के अनुबंध के लिये रखा गया है.पहले वह अकादमी में अंडर-16 और अंडर-19 आयु वर्गों की टीमों को कोचिंग देंगे.इसके बाद उन्हें बीसीबी हाई परफोरमेन्स यूनिट में बल्लेबाजी सलाहकार के तौर पर नियुक्त किया जा सकता है.’’

आपको बता दें कि 41 वर्षीय जाफर बांग्लादेश के युवा बल्लेबाजों के साथ छह महीने बिताएंगे.जाफर ने भारत की तरफ से 31 टेस्ट मैचों में 1944 रन बनाये.वह दो एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में भी खेले थे.वसीम जाफर प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 18 हजार से ज्‍यादा रन बना चुके हैं.वो रणजी ट्रॉफी सर्वाधिक मैच खेलने वाले बल्‍लेबाज हैं.वसीम जाफर को फर्स्ट क्लास क्रिकेट में सचिन जैसा क्रिकेटर माना जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *