पत्रकारिता के क्षेत्र में आज चुनौतियां ज्यादा : सामना करने संघर्ष की जरूरत- बृजमोहन अग्रवाल

रायपुर. कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा है कि पत्रकारिता के क्षेत्र में आज पहले की अपेक्षा ज्यादा चुनौतियां है। पत्रकारिता के मूल्यों को सहेजकर काम करने से इन चुनौतियों का सामना किया जा सकता है। मूल्यों का ह्रास होने के कारण आज पत्रकारिता में तकलीफें बढ़ गयी हैं। श्री अग्रवाल प्रेस क्लब रायपुर में आज पत्रकारिता दिवस के मौके पर ‘छत्तीसगढ़ में हिन्दी पत्रकारिता का विकास एवं चुनौती‘ विषय पर आयोजित कार्यशाला को मुख्य अतिथि की आसंदी से सम्बोधित कर रहे थे। श्री अग्रवाल ने इस अवसर पर प्रेस क्लब द्वारा प्रकाशित दूरभाष निर्देशिका का विमोचन किया।
श्री अग्रवाल ने कहा कि समय, काल और परिस्थितियों के आधार पर काम करने से हर क्षेत्र में कामयाबी मिलती है। समय के अनुसार हर व्यक्ति को ढलना चाहिए। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की पत्रकारिता का स्वर्णिम इतिहास रहा है। पुराने समय में छत्तीसगढ़ के पत्रकारों ने निष्पक्ष पत्रकारिता कर राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनायी है। साहित्य के विकास में भी छत्तीसगढ़ के साहित्य मनीषियों का विशेष योगदान रहा है। छत्तीसगढ़ में अनेक ऐसे पत्रकार हुए हैं, जिन्होंने कभी किसी भी चीज से समझौता नहीं किया है, इसलिए हम उन्हें आज भी श्रद्धा के साथ याद करते हैं। श्री अग्रवाल ने कहा कि वर्तमान पीढ़ी के पत्रकारों को छत्तीसगढ़ के पुराने पत्रकारों से सीखने की जरूरत है। वर्तमान दौर के पत्रकारों को समाचार और विचार में अंतर करना सीखना पड़ेगा। समाचार घटनाओं पर आधारित और तथ्यात्मक होना चाहिए। समाचारों में विचारों का घालमेल होने से समाचारों का महत्व कम हो जाता है। विचारों के लिए समाचार पत्रों में अलग-अलग जगह होती है।
श्री अग्रवाल ने कहा कि पत्रकारिता की चुनौतियों का सामना करने के लिए संघर्ष करने की जरूरत है। संघर्ष में काम करने का एक अलग मजा है। संघर्ष से आत्म विश्वास बढ़ता है और सफलता सुनिश्चित होती है। विपरीत परिस्थितियों में सफल होने के लिए संघर्षशील होना चाहिए है। वर्तमान दौर के पत्रकारों को अपनी कमजोरियों को दूर कर आत्म विश्वास बढ़ाना जरूरी है। इससे उन्हें काम करने में सहूलियत होगी। श्री अग्रवाल ने पत्रकारिता दिवस के मौके पर आगामी एक माह तक विभिन्न कार्यक्रम आयोजित करने के लिए प्रेस क्लब रायपुर के पदाधिकारियों की सराहना की। उन्होंने कहा कि बहुत अच्छे विषय पर कार्यशाला के आयोजन से पत्रकारिता दिवस के कार्यक्रमों की अच्छी शुरूआत हुई है।
रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव, छत्तीसगढ़ औद्योगिक विकास निगम के अध्यक्ष श्री छगन मूंदड़ा, छत्तीसगढ़ हिन्दी ग्रंथ अकादमी के पूर्व संचालक एवं वरिष्ठ पत्रकार श्री रमेश नैयर सहित अन्य वरिष्ठ पत्रकारों ने भी कार्यशाला में अपने विचार रखे। प्रेस क्लब रायपुर के अध्यक्ष श्री के.के. शर्मा ने कार्यक्रम का संचालन किया। इस अवसर पर प्रेस क्लब रायपुर के पदाधिकारी और सदस्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *