रायपुर : मुख्यमंत्री ने जिलों में कोसरिया यादव समाज के भवन निर्माण के लिए जमीन उपलब्ध होने पर स्वेच्छानुदान मद से 20-20 लाख रूपए दिए जाने की घोषणा

kosariya yadav samaj raipur

रायपुर, 23 सितम्बर 2021 मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल से आज यहां उनके निवास कार्यालय में छत्तीसगढ़ कोसरिया यादव समाज के प्रतिनिधि मंडल ने सौजन्य मुलाकात की। उन्होंने राज्य में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में संचालित जनहितैषी योजनाओं विशेषकर राजीव गांधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना, राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के लिए मुख्यमंत्री का गज माला पहनाकर अभिनंदन किया। प्रतिनिधि मंडल ने कहा कि आपने छत्तीसगढ़ में सामाजिक न्याय और सामाजिक सरोकार को एक नई दिशा दी है और राज्य की सभ्यता और संस्कृति को आगे बढ़ाया है।मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि कोसरिया यादव समाज के सामाजिक भवन के लिए जिन जिलों में जमीन उपलब्ध हैं, वहां भवन निर्माण के लिए स्वेच्छानुदान से 20-20 लाख रूपए की राशि स्वीकृत की जाएगी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि राज्य सरकार की सुराजी गांव योजना और गोधन न्याय योजना जैसी योजनाओं से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने का प्रयास किया जा रहा है। सुराजी गांव योजना के तहत गांवों में स्थापित गौठानों और गोधन न्याय योजना से पशुपालन और डेयरी उद्योग को बढ़ावा मिला है। गोधन न्याय योजना से चरवाहों और पशुपालकों को आय का नया जरिया मिला है। गौठानों में वर्मी कम्पोस्ट के उत्पादन से महिला स्व-सहायता समूहों को रोजगार और आय के अवसर मिले हैं। वहीं प्रदेश में जैविक खेती को भी बढ़ावा मिल रहा है। उन्होंने कहा कि बहुत जल्द गोबर से बिजली बनाने की शुरूआत प्रदेश में की जाएगी। इसके तकनीक और इसके आर्थिक पहलुओं का अध्ययन किया जा रहा है। ऐसा होने पर महिला स्व-सहायता समूहों की आय में वृद्धि होगी। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ राज्य खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री गिरीश देवांगन, छत्तीसगढ़ कोसरिया यादव समाज के अध्यक्ष श्री राधेलाल यादव, छत्तीसगढ़ राज्य गौ सेवा आयोग के उपाध्यक्ष श्री मन्नालाल यादव सहित विभिन्न जिलों के समाज के अध्यक्ष सर्वश्री गोधन यादव, शंकर यादव, रविन्द्र यादव, कमलेश यादव सहित अनेक प्रतिनिधि उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन सुश्री अर्चना यादव ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *