सामने आया न्यू’जी’लैंड की मस्जिदों पर ह’म’ले का असली मकसद, इस वजह से मचा क’त्ले’आम

हेलो दोस्तो हम आपके लिए लाएं हैं एक बड़ी खबर ,न्यूजीलैंड के क्राइस्ट चर्च नाम के शहर में दो मस्जिदों में बं’दू’क’धा’रियों ने गोलियों से ह’म’ला किया ।जिसमें 49 बेकसूर लोगों की जा’न चली गई। मीडिया को संबोधित करते हुए न्यूजीलैंड के प्रधानमंत्री ने इसे आ’तं’की ह’म’ला करार दिया और इसे इतिहास का सबसे काला दिन बताया। आपको बता दें कि यह हा’द’सा तब हुआ जब लोग मस्जिदों में जुमे की नमाज अदा कर रहे थे। पुलिस कमिश्नर माइक बुश के अनुसार एक म’हि’ला समेत 3 व्यक्तियों को हि’रा’सत में लिया गया है। उन्होंने बताया कि अभी इस मामले की जांच की जा रही है कि क्या इस मामले में कोई और भी शामिल है.

दोस्तों पु’लिस ने जिस आ’तं’क’वादी को गो’लीबा’री करने के लिए हि’रा’सत में लिया है उसकी उम्र 28 साल और नाम ब्रैटन टैरेन्ट है। कहा जा रहा है कि यह युवक ऑस्ट्रेलिया का रहने वाला है इस युवक ने मस्जिदों पर ह’म’ला करने से पहले 74 पेज का एक मेनिफेस्टो अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर किया था.

google

हालांकि न्यूजीलैंड पुलिस ने इस युवक का टि्वटर हैंड ससपेंड कर दिया है मगर यह मेनिफेस्टो मीडिया में मौजूद है इस मेनिफेस्टो में इस युवक ने ह’म’ले के पीछे की वजह को बताया है। तो आइए दोस्तों आपको बताते हैं कि क्या थी इस हमले के पीछे की वजह, ब्रेटेन टैरेन्ट ने इस पत्र में लिखा था कि जब तक एक भी वाइट आदमी जिंदा है तब तक वह अपने देश पर बाहरी आक्रमणकारियों को कब्जा नहीं करने देगा. मैं यह ह’म’ला उन हजारों जानो के बदले में कर रहा हूं जिसे आक्रमणकारियों ने सदियों से यूरोप में लीया है.

मैं यह हमला इन इस्लामिक लोगों से बदला लेने के लिए कर रहा हूं जिन्होंने हमें सालों तक जेल में बंद रखा। मैं यह हमला यूरोपियन जमीन पर होने वाले अनेकों आ’तं’कि ह’म’ले में मारे गए लोगों की जान का बदला लेने के लिए कर रहा हूं और सब से बढ़कर मै यह हमला ऐब्बा एकलन्द की जा’न का बदला लेने के लिए कर रहा हूं. दोस्तों आपको बता दें कि एब्बा एकलन्द वह 11 साल की लड़की है जिसकी स्वीडन के स्टॉकहोम में हुए आ’तं’की ह’म’ले में अप्रैल 2017 में जा’न चली गई थी.

google

मैं यह करके दिखाना चाहता हूं कि सीधा ऐक्शन कैसे लिया जाता है। मैं डर का वह माहौल बनाना चाहता हूं जहां सबसे क्रांतिकारी और मजबूत प्रयास किए जाएंगे. मैं इतिहास के थमते हुए पेंडुलम को गति देना चाहता हूं ।मैं वेस्टर्न सोसाइटी को एकजुट होने पर मजबूर करना चाहता हूं.

दोस्तों इस रिपोर्ट में और भी बहुत सारी बातें लिखी गई थी पर हमने आपको मुख्य मुद्दे बताएं हैं ।ऐसा लगता है कि बहुत सोच समझ कर इस पत्र को लिखा गया है ।हर शब्द में नफरत दिखाई दे रही है किसी समुदाय किसी धर्म के खिलाफ घृणा दिखाई दे रही है. सूत्रों से पता चला है कि बंदूकधारी नें 17 मिनट का लाइव वीडियो भी बनाया था। बताया जा रहा है कि यह युवक आर्मी की ड्रेस में था और इसने मस्जिद में घुसते ही फा’य’रिं’ग शुरू कर दी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.