ओवैसी को झ’टका देने की तैयारी में कांग्रेस, इस पार्टी के साथ..

सियासत एक ऐसी चीज़ है कि कोई नहीं जानता कि कौन कब विजेता बन जाए और कौन कहाँ किसको पिछाड दे. हाल ही में ऐसी ख़बर आयी कि तेलंगाना में कांग्रेस के 12 विधायक टूट कर टीआरएस में चले गए. इसके बाद कांग्रेस के विधायकों की संख्या विधानसभा में सिर्फ़ 6 रह गई. इसके साथ ही कांग्रेस राज्य में तीसरी सबसे बड़ी पार्टी बन गई जबकि पहले ये दूसरी सबसे बड़ी पार्टी थी.

इसके साथ ही कांग्रेस को बड़ा झटका ये भी लगा कि आल इंडिया मजलिस ए इत्तिहादुल मुस्लिमीन ने विपक्ष का पद स्पीकर से माँग लिया है क्यूंकि AIMIM के राज्य में 7 विधायक हैं और ये दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है. कांग्रेस अब नई रणनीति के साथ AIMIM से बदला लेने की तैयारी में है. ख़बरों की माने तो AIMIM की महाराष्ट्र में सहयोगी बहुजन वंचित अघाडी AIMIM से ख़ुश नहीं है.

वंचित अघाड़ी ने राज्य में हर सीट पर एक लाख के आसपास वोट पाए लेकिन कोई भी लोकसभा सीट पार्टी जीत न पायी जबकि औरंगाबाद में AIMIM का सांसद चुन कर आ गया. पिछले दिनों वंचित अघाड़ी के नेता प्रकाश आंबेडकर ने कहा था उनकी पार्टी को मुस्लिम वोट नहीं मिले जबकि इत्तेहादुल मुस्लिमीन को दलित और मुस्लिम दोनों वोट मिले जिससे औरंगाबाद में इम्तियाज़ ज़लील चुनाव जीतने में सफल हो गए.प्रकाश आंबेडकर की नाराज़गी को भुनाने के लिए कांग्रेस के दिग्गज नेता लग गए है.

कांग्रेस-एनसीपी ने वंचित अघाड़ी को अपने पाले में लाने के लिए बातचीत भी अंदरखाने शुरू कर दिया है.कांग्रेस की कोशिश है कि महाराष्ट्र में इत्तेहादुल मुस्लिमीन को अलग थलग करके वंचित अघाड़ी को अपने पाले में लाया जाये। हाल ही में महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष अशोक चव्हाण ने प्रकाश आंबेडकर के प्रभाव वाले इलाको में कोंग्रेसियो से बात की जहाँ कोंग्रेसियों ने प्रकश आंबेडकर से गठबंधन ना करने का सुझाव दिया.

इस सुझाव पर कांग्रेस नेता ने कांग्रेसियों से प्रकाश आंबेडकर से गठबंधन के प्रति सकारत्मक रवैया रखने को कहा और भविष्य में आघाड़ी को लेकर हमारा रवैया सकारात्मक ही है. माना जा रहा है कि आने वाले विधानसभा चुनाव् के मद्देनज़र वंचित बहुजन अघादी कांग्रेस और एनसीपी के गठजोड़ में शामिल हो सकती है. आपको बता दें कि वंचित बहुजन अघादी के नेता प्रकाश आंबेडकर राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर जल्द ही जनसभाएं भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.