नए पाठ्यक्रमों की सहायता से संस्कृत की इस विशाल ज्ञान राशि को राष्ट्र उत्थान

भोपाल महानगर में 22-23 सितंबर 2021 को संस्कृतभारती संगठन के अखिल भारतीय महामंत्री श्री श्रीशदेव पुजारी जी के प्रवास के संदर्भ में आज दिनांक 23 सितंबर 2021 को मध्यप्रदेश विनियामक आयोग में महोदय के द्वारा सभी कुलपतियों से चर्चा कर विभिन्न निजी विश्वविद्यालयों में संस्कृत का पाठ्यक्रमों मे कैसे समावेश हो सकता है एवं संस्कृत के उत्थान के राष्ट्र उत्थान के क्या प्रयास निजी स्तर पर किए जा सकते हैं इन विषयों में चर्चा करते हुए नई शिक्षा नीति संस्कृत आयोग एवं देश के विभिन्न भागों में संस्कृत के विभिन्न विषयों का अध्यापन कराने में समर्थ शिक्षकों का परिचय एवं उपलब्धता से अवगत कराया । महोदय ने बताया कि आधुनिक भारत में संस्कृत के विभिन्न आधुनिक विषयों पर जैसे ज्यामिति, वोटनी, वैदिक गणित, आयुर्वेद आदि पर शोध एवं प्रबंधन के कार्य चल रहे अतः हम नए पाठ्यक्रमों की सहायता से संस्कृत की इस विशाल ज्ञान राशि को राष्ट्र उत्थान के लिए प्रसारित कर सकते हैं साथ ही विनियामक आयोग के अध्यक्ष भरत शरण महोदय द्वारा वैदिक गणित एवं आयुर्वेद के कई उदाहरणों के साथ संस्कृत पढ़ाए जाने के महत्व को प्रतिपादित किया। कार्यक्रम में संस्कृत भारती के क्षेत्र संयोजक भरत बैरागी प्रांत संगठन मंत्री नीरज दीक्षित आदि उपस्थित रहे साथ ही साथ विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपति जैसे आरकेडीएफ, सेज यूनिवर्सिटी , माखनलाल पत्रकारिता विश्वविद्यालय आदि के कुलपतियों द्वारा अपनी जिज्ञासाओं एवं सुझावों को व्यक्त किया गया। संपूर्णता की घड़ी में पत्रकार बंधुओं ने भी संस्कृत के समक्ष उपस्थित चुनौतियों एवं पत्रकारिता में उसके समावेश पर जिज्ञासा प्रकट की महामंत्री महोदय द्वारा दिए गए समाधानों से वे आनंदित हुए एवं सभी ने संस्कृत की उत्तरोत्तर वृद्धि की शुभकामनाएं व्यक्त करते हुए समय-समय पर संस्कृत भारती के मार्गदर्शन की अपेक्षा व्यक्ति की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.