अगर आपको पैसे की तंगी है और पैसे ख़’त्म हो चुके हैं तो अल्लाह का ये एक नाम पढकर सो जाएँ, सुबह तक घर में…

अस्सलाम वालेकुम मेरे प्यारे भाइयों और बहनों आज हम आपको एक ऐसा अमल बताने जा रहे हैं जिसके करने से आपकी खोई हुई रोजी वापस आ जाएगी। नाजरीन बहुत से लोग ये शिकवा करते हैं कि उनके घरों में बरकत नहीं है या बरकत कम हो गई है या हाथ तंग हो गया है ।घर के हालात खराब हो रहे है। मेरे भाइयों ये शिकायत आजकल हर घर मे होती है और ये सुनने को मिलता है कि रिज़्क़ बहुत कम हो गया है रिज़्क़ में बरकत ही नहीं रही ,महीने की तनख्वाह पहले ही हफ्ते में खत्म हो जाती है.

पूरा महीना मेहनत कर के कमाया जाता है लेकिन पहले ही हफ्ते में वो पैसे खत्म हो जाते हैं और महंगाई बहुत ज़्यादा हो चुकी है। अच्छा खासा कमाने वाला एक इंसान भी आज की महंगाई से बहुत परेशान रहने लगा है। नाजरीन रिज़्क़ में बरकत न होने की वजह जो है उसमें ये है कि जो भी घर मे खाने वगैरह का सामान घर मे मौजूद होता है वह बहुत जल्द खत्म हो जाता है जब तनख्वाह मिलती है तो वह भी बहुत जल्द खत्म हो जाती है पता ही नहीं चलता है कि पैसे कहां लग रहे हैं जितनी भी मेहनत से पैसे कमाय,उनकी समझ ही नहीं लगती है कि वो पैसे आखिर कहाँ जाते हैं.

google

दोस्तो बरकत न होने की जो वजह है वो ये है कि हमारे घर अल्लाह की याद से खाली हो चुके हैं ।घर मे नमाज़ कोई नहीं पढ़ता है न सदके का कोई एहतेमाम होता है और न ही कोई अपने परवरदिगार को याद करने की कोशिश करता है और न ही इस बात की ज़हमत उठाते हैं कि अल्लाह पाक को याद कर ले। जिस घर में अल्लाह का ज़िक्र नहीं होता है उस घर के लोग ये कैसे सोच सकते हैं कि उस घर मे अल्लाह की बरकत होगी और रहमतें नाज़िल होंगी लेकिन हमारे गुनाहों के बावजूद, अल्लाह को याद न करने के बावजूद अल्लाह हमे रोज़ी अता फरमाता है.

दोस्तों अगर हम बात करें आजकल की तो हर घर में टीवी चलती है गाने की आवाज आती है ड्रामे होते हैं जिसे देखने के लिए हम सब एक साथ बैठ जाते हैं जो हमारे एखलाक को तबाह कर देता है। अगर नहीं होता है हमसे तो अल्लाह का जिक्र, न तिलावत। जिस तरह हम इकट्ठे बैठकर टीवी देखते हैं अगर इस तरह हम साथ में बैठकर अल्लाह का जिक्र करना शुरू कर दे तो अल्लाह पाक की हम पर रहमते बरसने लगेंगी.

मेरे प्यारे दोस्तों अगर आपको बरकत का रास्ता ढूंढना है तो यह रास्ता कहीं दूर नहीं है बहुत ही करीब है बल्कि आपके घर में ही वह रास्ता मौजूद है जिस पर चलकर बरकत ही बरकत हासिल की जा सकती हैं। सबसे बड़ा बरक़त का रास्ता कुरान शरीफ है जो हर घर में मौजूद है लेकिन कोई इसकी तिलावत नहीं करता है. दोस्तो दुनिया की कोई भी मुसीबत हो या कोई परेशानी हो सब का हल कुरान में लिखा है.

यह तो बात हो गई नमाज और तिलावत की दोस्तों अब आपको हम बताते हैं एक ऐसा तरीका जिससे आपकी बंद हुई रोजी वापस आ जाएगी. इसके लिए बस आपको ये अमल करना है कि अपने घर के सभी लोगो को साथ मे लेकर सबसे पहले तो आपको नमाज़ की पाबंदी करनी होगी और सबसे ज़रूरी है ईशा की नमाज़ ,नमाज़ के बाद जब आप बिस्तर पर जायँ तो सोने से पहले अल्लाह पाक का ये नाम “या वासियो” 100 बार पढ़ना है उसके बाद अल्लाह से अपने रिज़्क़ के लिए दुआ करना है बस इतने से काम से ही आपकी खोई हुई बरकत वापस आ जायेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *