अगर घर पे शौहर न हो और कोई गैर म’र्द घर पे आये तो बीवी को क्या करना चाहिए? जानिए

0
14

सलाम वालेकुम मेरे प्यारे भाइयों और बहनों आज हम आपको बताएंगे शौहर के दर्जे के बारे मे। दोस्तों इस्लाम मे शौहर के दर्जे के बारे में तो हर कोई जानता है ।अगर हक की बात करें तो किसी मर्द पर सबसे ज्यादा हक उसकी मां का होता है लेकिन किसी औरत पर सबसे ज्यादा हक उसके शौहर का होता है। दोस्तों इस्लाम में औरतों के लिए उसके शौहर की जगह सबसे ऊंची है। ऐसे में अगर कोई चीज है जो उसके शौहर को पसंद नहीं है तो बीवी का यह फर्ज है कि वह उससे दूरी बनाए रखे औऱ ऐसा कोई काम न करें जो उसके शौहर को पसंद ना हो.

एक बार एक लड़की रसूल अल्लाह के पास आई और कहने लगी कि या रसूल अल्लाह मेरी शादी होने वाली है आप मुझे बताएं कि मुझ पर मेरे शौहर का क्या हक होगा इस पर आप सल्लल्लाहो वसल्लम ने फरमाया की औरत के लिए शोहर का दर्जा कुछ ऐसा है कि अगर शौहर के बदन पर फोड़े निकल जाएं और औरत उसकी गंदगी को अपनी जुबान से साफ करें तो भी उसका हक नहीं अदा हो सकता है.

google

दोस्तों सबसे मुश्किल रिश्ता होता है मियां और बीवी का ।अल्लाह ने इस रिश्ते के लिए सैकड़ों आयात उतारी ।बाकी सभी रिश्तों के लिए यहां तक कि मां बाप के उनकी औलाद से रिश्ते के लिए भी चंद आयत उतरी ,लेकिन सबसे ज्यादा आयते मियां और बीवी के रिश्ते के लिए उतारी गई. एक लड़की ने सवाल किया कि अगर शौहर को किसी का घर में आना ना पसंद हो तो क्या करें?

आप सल्लल्लाहो अलेही वसल्लम ने फरमाया की शौहर की हाजरी में या गैर हाजरी में किसी ऐसे शख्स को घर में ना आने दो जिसे शौहर पसंद ना करता हो। एक वजह यह भी है कि अल्लाह ने मर्दों को औरतों से ज्यादा समझ दी है वह इस बात को ज़्यादा बेहतर जानते हैं कि किस मर्द की क्या फितरत होती है यदि वह आपके आसपास या पड़ोसी को घर में आने की इजाजत ना दें तो उसकी गैरमौजूदगी में आपका यह फर्ज बनता है कि आप किसी को भी घर में आने ना दें.

google

दोस्तों अगर देखा जाए तो दुनिया का कोई भी रिश्ता टूटता नहीं है चाहे वह मां का बेटे से हो ,भाई का भाई से हो ,भाई का बहन से हो ,बाप का बेटे से हो लेकिन शौहर और बीवी का रिश्ता भले ही कितना करीब का हो लेकिन वक्त पड़ने पर एक लफ्ज़ बोलने से ही टूट सकता है ।हमारा यह फ़र्ज़ है कि हम इस रिश्ते की बारीकियों को समझें और इसे पूरी शिद्दत से निभाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here