बड़ी खबर : जल्द ही बंद हो जाएंगे सारे बैंक बस बचेंगे ये 6 बैंक, जानिए क्या होगा आपके अकाउंट का ..

0
15

दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते ही है जब से देश में मोदी सरकार आई है उसने लगातार जनता के हित को ध्यान में रखते हुए एक के बाद एक अहम फैसले लिए है और अब सरकार बैंको को मजबूत बनाने की दिशा में अहम कदम उठाते हुए सरकार ने 3 बैंको के विलय की प्रक्रिया शुरू कर दी है. बैंक ऑफ बड़ोदा, विजया बैंक और देना बैंक का विलय किया जायेगा. इससे पहले भी 2017 में भारतीय स्टेट बैंक के 5 सहायक बैंको का विलय किया गया था.

इसके बाद बैंक ऑफ बड़ोदा, विजया बैंक और देना बैंक का ये विलय दूसरा होगा. इन तीनो बैंको को मिलाकर जो बैंक बनेगा उसका आकार 14.82 लाख करोड़ रूपये का होगा. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ये बैंक SBI और पंजाब नेशनल बैंक के बाद देश का तीसरा सबसे बड़ा बैंक बन जायेगा.

इन तीनो बैंको के ताजा विलय पर सरकार का कहना है कि इससे बनने वाले कस्टमर वेस मार्किट में पहुँचने वाले संचालन में दक्षिता बढ़ेगी. इसके अलावा ग्राहकों को अच्छी सेवाएं भी मिलेगी. सरकार का कहना है कि बड़े बैंको को अर्थव्यवस्था से बड़ा लाभ होता है और वे अपनी दक्षिता बढाने के लिए अच्छे से कास्टकटिंग कर सकते है.

21 उताददाँतोओं में सरकार का बहुमत हिस्सा है जो बैंकिंग संपति के करीब 2 तिहाई से ज्यादा है हालांकि बैंकिंग सेक्टर के कुल लोन परफोर्म यानी NPA का करीब 90 % हिस्सा सरकारी बैंको का है. बैंकिंग सेक्टर में फिलहाल 10 लाख करोड़ रूपये का NPA है. जिसमे 8.9 लाख करोड़ रूपये तो सरकारी बैंको के ही है. NPA संकट को देखते हुए RBI कुल सरकारी बैंको में से 11 की एक आपातकालीन कार्यक्रम के तहत निगरानी कर रहा है और इन बैंको को फिलहाल कर्ज देने से रोक दिया गया है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here