सूर्य नमस्कार का महत्व जानिए शास्त्रों वैज्ञानिक के अनुसार

शास्त्रों की बात करो, धर्म से सीखो
हिंदू धर्म एक ऐसा धर्म है जिसकी हर परंपरा में वैज्ञानिक तर्क है, तो आइए आज इस कला में जानते हैं कुछ ऐसी परंपराएं, जिनमें धार्मिक और वैज्ञानिक तथ्य हैं।

फर्श पर खाओ
भारतीय संस्कृति के अनुसार फर्श पर बैठकर खाना खाना अच्छा शिष्टाचार माना जाता है। वैसे इसके और भी बहुत से फायदे हैं, जिनके बारे में बहुत से लोगों को जानकारी नहीं है।

वैज्ञानिक तर्क: क्रॉस के साथ बैठना एक प्रकार की योग मुद्रा है। इस पोजीशन में बैठने से मन शांत रहता है और अगर भोजन करते समय मन शांत रहता है तो पाचन क्रिया अच्छी रहती है। जैसे ही आप इस पोजीशन में बैठते हैं, दिमाग से ही एक संकेत पेट तक जाता है कि इसे खाने के लिए तैयार होना चाहिए।

भोजन की शुरुआत तीखे से और अंत मीठे पर करना चाहिए।
जब भी कोई धार्मिक या पारिवारिक अनुष्ठान या पारिवारिक अनुष्ठान होता है, तो भोजन की शुरुआत मसाले से होती है और मिठाई पर समाप्त होती है। क्या आप जानते हैं ऐसा क्यों किया जाता है?

वैज्ञानिक तर्क: मसालेदार खाना खाने से हमारे पेट के अंदर मौजूद पाचन तत्व और एसिड सक्रिय हो जाते हैं, जिससे पाचन तंत्र ठीक से काम करता है। अंत में मीठा खाने से अम्ल की तीव्रता कम हो जाती है, इससे जलन नहीं होती है।

पीपल पूजा
आमतौर पर लोग सोचते हैं कि पीपल की पूजा करने से भूत-प्रेत दूर हो जाते हैं, लेकिन यह भ्रम लोगों को पूजा के लिए प्रेरित करने के लिए ही फैला है।

वैज्ञानिक तर्क: पीपल की पूजा इसलिए की जाती है कि लोग इस पेड़ का सम्मान करें और इसे काटें नहीं। पीपल एकमात्र ऐसा पेड़ है जो रात में भी ऑक्सीजन का संचार करता है और वातावरण शुद्ध रहता है, जबकि कई अन्य पेड़ और पौधे रात में कार्बन डाइऑक्साइड छोड़ते हैं जो हानिकारक है।

दक्षिण दिशा में सिर करके सोएं
यदि कोई दक्षिण दिशा में पैर रखकर सोता है तो लोग कहते हैं कि बुरे सपने आएंगे, प्रेत प्रेम की छाया आएगी क्योंकि दक्षिण दिशा को पूर्वजों का स्थान माना जाता है, इसलिए हमें उत्तर दिशा की ओर मुंह करके सोने को कहा जाता है।

वैज्ञानिक तर्क: जब हम उत्तर की ओर सिर करके सोते हैं, तो हमारा शरीर पृथ्वी के चुंबकीय क्षेत्र की तरंगों के समानांतर दिशा में आता है। शरीर में आयरन दिमाग में जाने लगता है, जिससे अल्जाइमर, पार्किंसन या दिमाग से जुड़ी अन्य बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है, इतना ही नहीं ब्लड प्रेशर भी बढ़ जाता है। इन सभी रोगों से बचने के लिए हमें दक्षिण दिशा में सिर करके सोना चाहिए न कि उत्तर दिशा में। आपने देखा होगा कि जब लाश का दाह संस्कार किया जाता है या कब्र में दफना दिया जाता है, तब भी मृतक का सिर उत्तर की ओर होता है।

सूर्य नमस्कार
सुबह सूर्य को जल चढ़ाकर नमस्कार करने की परंपरा हिंदुओं में बहुत पुरानी है।

वैज्ञानिक तर्क: पानी के बीच से सूर्य की अवरक्त किरणें आँखों तक पहुँचती हैं, जो हमारी आँखों की रौशनी बढ़ाने और आँखों को स्वस्थ रखने में बहुत उपयोगी होती हैं।

तुलसी के पौधों का पंथ
ऐसा माना जाता है कि तुलसी की पूजा करने से घर में समृद्धि आती है और सुख-शांति भी हमेशा बनी रहती है।

वैज्ञानिक तर्क: तुलसी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करती है। इसलिए यदि घर में तुलसी का पौधा है तो उसके पत्तों का भी उपयोग होगा और उससे बीमारियां दूर होंगी और वातावरण भी शुद्ध रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *