भाजपा के क़द्दावर नेता ने मुस्लिमों को लेकर दिया बड़ा बयान,’उनका भी काम नहीं रुकना चाहिए..’

चुनाव को लेकर जो भी गहमागहमी थी ख़त्म हो चुकी है. नतीजे आ चुके हैं और भाजपा अपनी प्रचंड जीत के बाद एक बार फिर सरकार बनाने जा रही है. लोकसभा चुनाव में पीलीभीत से चुनाव जीतने वाले भाजपा के नेता वरुण गांधी ने भी अपने क्षेत्र का दौरा किया. उन्होंने इस मौके पर कार्यकर्ताओं से मुलाक़ात की. उनका भाजपा कार्यकर्ताओं ने ज़ोरदार स्वागत किया. इस अवसर पर उन्होंने कार्यकर्ताओं व पार्टी नेताओं का आभार व्यक्त किया और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अमित शाह को जीत का श्रेय दिया.

वरुण के दौरे की ख़ास बात यह रही कि उन्होंने अपने पूरे भाषण में सदर विधायक संजय सिंह गंगवार का कहीं नाम भी नहीं लिया और ना ही वो आये. वरुण गांधी ने कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए ये अपील की कि चाहे कोई उनका कार्यकर्त्ता हो या न हो लेकिन ऐसे लोगों की लिस्ट बननी चाहिए जो बेहद ग़रीब हैं और उनके मकान कच्चे हैं. उन्होंने कहा कि मैं जैसे पहले मकान बनवाता हूँ, बनवाता रहूँगा.

साथ ही उन्होंने कहा कि इस मामले में कोई ज़ात-पात नहीं आनी चाहिए. उन्होंने मुस्लिम समाज के वोटों पर बोलते हुए कहा कि हमकों उनका वोट थोडा सा कम मिला लेकिन फिर भी यदि कोई उनके पास मदद के लिए आता है तो वो उसकी मदद करेंगे.बोले कि‘‘जो वोट दे वो भी अपना है और जो ना दे वो भी’’ चाहे हमें 20 ही वोट मिल वो वोट नहीं उनका आर्शीवाद है.

पीलीभीत विधायक के नदारद रहने पर पीलीभीत विधानसभा का कार्यभार पूर्व ब्लाक प्रमुख सत्यपाल गंगवार,पालिका अध्यक्ष प्रभात जायसवाल और राकेश लोधी को दिया.उन्होंने कहा कि अब वो पीलीभीत में रुका करेंगे और समीक्षा करेंगे। उन्होंने कहा कि अब यहॉ कोई भी कार्य ऐसा नहीं होगा जिसमें वरूण गांधी का 2 पैसे का योगदान ना हो.मेरे पास मेरी मॉ है और एक बेटी है बाकी जो भी है सबकुछ पीलीभीत का है.

आखिर में वरुण बोले कि मेरा पहला श्रेय नरेन्द्र मोदी और अमित शाह को है और उसके बाद मेरी मॉ मेनका गांधी यहां मैं उनके खड़ाऊ लेकर आया हॅू और उन्ही की तरह काम करता रहूॅगा. वरुण गांधी नेहरु-गांधी परिवार के सदस्य हैं. उनके पिता संजय गांधी एक समय कांग्रेस के सबसे प्रभावी लोगों में से थे. संजय गांधी अपनी माँ के कार्यकाल में प्रधानमंत्री के बराबर प्रभावी माने जाते थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *