इन 3 तरह के लोगों से भूलकर भी न करें मित्रता, उठाना पड़ता है नुकसान

Chanakya Niti For Friendship According To Neet Shastra Do Not Stay With These Three Type Of People

आचार्य चाणक्य द्वारा लिखित नीति शास्त्र की बातें आज भी लोगों के बीच काफी लोकप्रिय हैं। कुछ लोगों को उनकी नीतियां अत्यंत कठोर लगती हैं लेकिन ये मनुष्य को जीवन की सत्यता से अवगत करवाती हैं। हांलांकि कुछ लोग इन नीतियों को तोड़-मरोड़कर भी पेश करते हैं लेकिन सही मायनों में इन नीतियों के सार को समझकर अपने जीवन में उतार लिया जाए तो मनुष्य कई तरह की समस्याओं से बचा सकता है और एक सुखी व संतुष्ट जीवन जी सकता है।

आचार्य चाणक्य ने पारिवारिक जीवन से लेकर, धन, शत्रु और मित्रता तक के विषय में महत्वपूर्ण बातें बताई हैं। आचार्य चाणक्य ने कुछ लोगों के बारे में बताया है जिनसे दूरी बनाने में ही मनुष्य की भलाई होती है। इन लोगों से भूलकर भी मित्रता नहीं करनी चाहिए। तो चलिए जानते हैं कि कौन से हैं वे लोग…

ऐसे व्यक्ति से रहें दूर

आचार्य चाणक्य कहते हैं कि एक सच्चा मित्र वही होता है जो आपको ग़लत कार्य करने से रोके और सही गलत की पहचान करवाए। जो व्यक्ति आपकी हर बात में आपकी हां में हां मिलाता हो या फिर गलत कार्यों की प्रशंसा करके आपको गलत करने के लिए प्रेरित करता हो तो उससे समय रहते दूर हो जाना चाहिए। ऐसे लोग भले ही आपको अच्छे लगते हो लेकिन इनका साथ आपको परेशानी में डाल सकता है।

आचार्य चाणक्य

गलत कार्य करने वाले

आचार्य चाणक्य कहते हैं कि जो लोग गलत कार्य करते हैं उनसे सदैव दूरी बनाकर रखनी चाहिए। ऐसे लोग समय आने पर आपको भी मुसीबत में फंसा सकतें हैं। इसके अलावा गलत लोगों की संगति आपको भी आगे बढ़ने से रोकती है और सफलता में बाधक बनती है।

आचार्य चाणक्य

लालची लोगों से बनाएं दूरी

चाणक्य नीति के अनुसार जो लोग अपने मन में लोभ रखते हैं उनसे सदैव दूरी बनाकर रखनी चाहिए। ऐसे लोग हमेशा दूसरों की धन-संपत्ति देखकर लालच करते हैं और समय पड़ने पर आपको भी नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसलिए ऐसे लोगों से भूलकर भी मित्रता नहीं करनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *