राज्य में अच्छे खिलाड़ी तैयार करने खेल प्राधिकरण के गठन का निर्णय

रायपुर: गृह एवं लोक निर्माण मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने आज दुर्ग जिले के भिलाई में आयोजित 19वीं शालेय राज्य क्रीड़ा प्रतियोगिता 2019 का शुभारंभ किया। श्री साहू ने इस अवसर पर कहा कि शासन द्वारा प्रदेश में अच्छे खिलाड़ी तैयार करने के लिए खेल प्राधिकरण के गठन का निर्णय लिया गया है। प्रदेश में खेलों को बढ़ावा देने के लिए प्राधिकरण की अहम भूमिका होगी। हमारी कोशिश होगी कि केवल राष्ट्रीय ही नहीं, वैश्विक मंच पर भी हमारे खिलाड़ी अपनी प्रतिभा से लोगों को चकित कर दें। इसके लिए आवश्यक कार्य प्राधिकरण द्वारा किए जाएंगे।
इस अवसर पर श्री साहू ने कहा कि प्राधिकरण के माध्यम से खेल ढांचे को समुन्नत बनाने के लिए ऐसे कार्य किए जाएंगे, जिससे सभी खेलों को बढ़ावा मिल सके। उन्होंने कहा कि प्रतिभाओं को पहचानने एवं उन्हें आगे लाने की दिशा में शालेय राज्य क्रीड़ा प्रतियोगिता की अहम भूमिका होती है। बहुत से बच्चों में खेल की गहरी प्रतिभा छिपी होती है लेकिन उचित मंच नहीं मिल पाने के कारण यह आगे नहीं आ पाती। आज यहां प्रदेश के कोने-कोने से बच्चे अपनी प्रतिभा के प्रदर्शन के लिए आये हैं। मैं उन्हें अपनी शुभकामनाएं देता हूँ। आप अपना शतप्रतिशत प्रदर्शन करने की कोशिश करें, यदि सफल हों तो बहुत अच्छा, असफल हों तो निराश न हो। अगले साल फिर बेहतर करने के संकल्प के साथ खेलों में हिस्सा लें।

इस मौके पर सांसद श्री विजय बघेल ने कहा कि आज आप लोगों के बीच आकर मुझे अपना बचपन याद आ रहा है और अनेक स्मृतियां उभर रही हैं। खेल हमें बहुत खुशी प्रदान करते हैं। साथ ही हमें सीख भी प्रदान करते हैं कि हमारा एक लक्ष्य भी है जिसे प्राप्त करने के लिए निरंतर प्रयत्न करना है। यह सीख हमारे भविष्य को गढ़ने में भी मदद करती है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में खेलों को बढ़ावा मिले, इसके लिए हम लोग सतत कार्य करेंगे। विधायक श्री अरुण वोरा ने कहा कि खेल से हमको कई बातें सीखने मिलती हैं। हार जीत को बिना विचलित हुए स्वीकार करना और टीम भावना के अनुसार कार्य करना सिखाती है। इसके साथ ही यह शारीरिक स्फूर्ति के लिए भी आवश्यक है। विधायक श्री विद्यारतन भसीन ने इस मौके पर कहा कि खेल संपूर्ण विकास के लिए बेहद आवश्यक होते हैं। खेल और पढ़ाई के उचित संतुलन से ही बेहतर व्यक्तित्व तैयार होता है। कलेक्टर श्री अंकित आनंद ने विस्तार से खेल प्रतियोगिता की जानकारी प्रदान की एवं बच्चों को श्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए बधाई दी। इस मौके पर जिला शिक्षा अधिकारी श्री प्रवास बघेल सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद थे। प्रतियोगिता में बच्चों ने जिमनास्टिक के हुनर भी दिखाये। अतिथियों ने बच्चों के शारीरिक कौशल की काफी तारीफ की। उल्लेखनीय है कि प्रतियोगिता में आठ प्रकार के खेल शामिल किए गए हैं और लगभग 2940 विद्यार्थी इसमें हिस्सा ले रहे हैं। इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति भी की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *