प्रधानमंत्री श्री मोदी ने की अटल विकास यात्रा की तारीफ : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को दी बधाई

रायपुर. प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने छत्तीसगढ़ में डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में चल रही प्रदेश व्यापी विकास यात्रा की प्रशंसा की है। श्री मोदी ने आज डॉ. रमन सिंह को सम्बोधित अपने ट्वीटर संदेश में कहा है कि डॉ. सिंह के नेतृत्व में अटल विकास यात्रा को शानदार सफलता मिल रही है। उन्होंने इसके लिए मुख्यमंत्री को बधाई दी है और छत्तीसगढ़ में हो रही प्रगति की भी प्रशंसा की है। उन्होंने ट्वीटर संदेश में डॉ. सिंह से कहा है – इसमें कोई आश्चर्य नहीं कि राज्य के लोग आप पर जोरदार भरोसा करते हैं। प्रधानमंत्री ने अपने जन्म दिन (17 सितम्बर) पर डॉ. रमन सिंह द्वारा भेजी गई शुभकामनाओं के लिए उनके प्रति आभार व्यक्त किया।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश व्यापी अटल विकास यात्रा के दौरान आज रायगढ़ जिले के धरमजयगढ़ में विशाल आमसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ देश में किसानों को धान की सबसे ज्यादा कीमत देने वाला और वनवासियों को सर्वाधिक तेन्दूपत्ता बोनस देने वाला राज्य है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के साथ-साथ रायगढ़ जिले का यह धरमजयगढ़ क्षेत्र भी विकास के मामले में पीछे नहीं है। पिछले पन्द्रह वर्षाें में इस क्षेत्र की तस्वीर बदल गई है। उन्होंने कहा कि धरमजयगढ़ बहुत जल्द रायगढ़ से चमचमाती सिक्सलेन सड़क से जुड़ जाएगा। भारत माला परियोजना के तहत इस सड़क की मंजूरी मिल गई है।
डॉ. सिंह ने आम सभा में लगभग 201 करोड़ 44 लाख रूपए की लागत के 15 विभिन्न निर्माण कार्याें का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। उन्होंने इस अवसर पर 47 हजार 188 हितग्राहियों को 44 करेाड़ 66 लाख रूपए की सामग्री और सहायता राशि के चेक वितरित किए। डॉ. सिंह ने इस अवसर पर छाल को उप तहसील का दर्जा देने, धरमजयगढ़ के शासकीय महाविद्यालय में अगले शिक्षा सत्र से स्नातकोत्तर कक्षाएं प्रारंभ कराने और धरमजयगढ़ में राठिया समाज के सामुदायिक भवन के लिए 20 लाख रूपए की स्वीकृति की घोषणा की। इस अवसर पर केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री श्री विष्णु देव साय, संसदीय सचिव श्रीमती सुनिति राठिया, विधायक श्री रोशन अग्रवाल और श्रीमती केराबाई मनहर सहित अनेक जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस क्षेत्र में सड़कों का जाल बिछ गया है। आज 140 करोड़ 71 लाख रूपए की लागत केे धरमजयगढ़-कापू मार्ग के उन्नयन एवं चौड़ीकरण कार्य, 24 करोड़ 74 लाख रूपए की लागत की घरघोड़ा बायपास सड़क और 22 करोड़ 48 लाख रूपए की लागत के पत्थलगांव-कापू मार्ग के उन्नयन कार्याें का भूमिपूजन किया गया है। डॉ. सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ देश में धान की सबसे ज्यादा कीमत पर खरीदी करने वाला और वनवासियों को सर्वाधिक तेन्दूपत्ता बोनस देने वाला राज्य है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 12 लाख तेन्दूपत्ता संग्राहकों को चरणपादुकाएं दी जा रही है। विकास यात्रा के दौरान तेन्दूपत्ता संग्राहकों को 750 करोड़ रूपए का बोनस दिया जाएगा। डॉ. सिंह ने कहा कि राज्य सरकार की योजनाओं से गरीबों के जीवन में परिवर्तन आया है। अब छत्तीसगढ़ में किसी को भूखा नहीं सोना पड़ता। राज्य सरकार ने गरीब परिवारों के लिए एक रूपए किलो चावल की व्यवस्था के साथ-साथ लाखों परिवारों के लिए पक्के मकान, रसोई गैस कनेक्शन, स्वास्थ्य सुरक्षा, शौचालयों की व्यवस्था की है। गरीब परिवारों की बेटियों के लिए शिक्षा की व्यवस्था की गई है। सरस्वती साइकिल योजना में लाखों बेटियों को साइकलें प्रदान की गई है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार लोगों को शासन की कल्याणकारी योजनाओं से जोड़ रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने धान के समर्थन मूल्य में प्रति क्विंटल एकमुश्त 200 रूपए की वृद्धि की है। किसानों को धान के समर्थन मूल्य पर खरीदी के समय ही 300 रूपए प्रति क्विंटल की दर से बोनस राज्य सरकार देगी। अब किसानों को धान की किस्म के अनुसार प्रति क्विंटल 2050 रूपए और 2070 रूपए प्रति क्विंटल मूल्य मिलेगा। उन्होंने बताया कि किसानों को पांच हार्सपावर तक के सिंचाई पम्पों पर एक से अधिक पम्प पर भी फ्लेट रेट पर बिजली के बिल के भुगतान की सुविधा दी जा रही है। सिंचाई पम्पों के कनेक्शन के लिए राज्य सरकार एक लाख रूपए का अनुदान दे रही है। प्रदेश के एकल बत्ती कनेक्शनधारी लगभग 12 लाख परिवारों को 40 यूनिट से अधिक बिजली की खपत होने पर फ्लेट रेट पर प्रति माह 100 रूपए के भुगतान की सुविधा दी जा रही है। डॉ. सिंह ने अटल विकास यात्रा के संबंध में कहा कि यह जनता जनार्दन के आशीर्वाद की यात्रा है। मैं इसे तीर्थ यात्रा के समान पवित्र मानता हूूं। डॉ. सिंह ने कहा कि अटल नगर नया रायपुर में राज्य निर्माता, भारत रत्न और पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी की स्मृति में भव्य स्मारक बनाया जाएगा। इस स्मारक के लिए गांव-गांव में घरों के तुलसी चौरे की पवित्र मिट्टी लायी जाएगी। आमसभा को केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री श्री विष्णुदेव साय ने भी सम्बोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *