ग्रामीण विकास योजनाओं में छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय पुरस्कार: मुख्यमंत्री ने दी बधाई

रायपुर.मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से आज यहां विधानसभा परिसर स्थित उनके कार्यालय कक्ष में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चन्द्राकर के नेतृत्व में उनके विभाग के अधिकारियों के प्रतिनिधि मंडल ने मुलाकात की। उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि छत्तीसगढ़ को नई दिल्ली में कल ग्रामीण विकास की विभिन्न केन्द्रीय योजनाओं के तहत 15 राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है। डॉ. सिंह ने इस महत्वपूर्ण उपलब्धि के लिए उन्हें बधाई दी। अधिकारियों ने उन्हें प्राप्त पुरस्कार सौंपे। ज्ञातव्य है कि केन्द्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में छत्तीसगढ़ प्रदेश को इन पुरस्कारों से सम्मानित किया था।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज शाम यहां विधानसभा के दो दिवसीय विशेष सत्र के समापन अवसर पर अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल सहित पक्ष-विपक्ष के सभी सदस्यों, विधानसभा सचिवालय और शासन के सभी अधिकारियों, कर्मचारियों तथा मीडिया प्रतिनिधियों से प्राप्त सहयोग के लिए सबके प्रति आभार व्यक्त किया। विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने भी सदन के सुचारू संचालन में सहयोगी बने सभी सदस्यों और अधिकारियों, कर्मचारियों तथा पत्रकारों को धन्यवाद दिया। मुख्यमंत्री ने सदस्यों को सम्बोधित करते हुए कहा-हम सार्वजनिक जीवन में आते हैं। चुनाव लड़ते हैं, सदन में आते हैं। ऐसे में सार्वजनिक जीवन के हर व्यक्ति को स्वयं से यह सवाल पूछना चाहिए कि वह आज की स्थिति में जनता के लिए क्या कर सकता है? उन्होंने किसानों को धान का बोनस देने के लिए द्वितीय अनुपूरक में 2400 करोड़ की राशि के प्रावधान के लिए विशेष सत्र के आयोजन पर विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल को विशेष रूप से धन्यवाद दिया।मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले सत्र के बाद एक वित्त मंत्री के रूप में मुझे लगा कि हम कुछ अतिरिक्त धनराशि का इंतजाम किया जा सकता है। मैंने अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगियों से परामर्श किया और तय किया कि किसानों को धान का बोनस दिया जाना चाहिए। आज धान बोनस के लिए 2400 करोड़ रूपए की अनुदान मांगें सदन में पारित किया गया। उन्हांेंने कहा कि ऐसे ही प्रयासों से हमारे जीवन को सार्थकता मिलती है और सदन की प्रतिष्ठा बढ़ती है। यह प्रसन्नता का विषय है कि इस सदन के पवित्र मंच का पिछले पूरे कार्यकाल के दौरान हम सभी ने सार्थक उपयोग किया। उन्होंने कहा-मुझे प्रसन्नता है कि सदन के इस पवित्र मंच का पिछले पूरे कार्यकाल के दौरान हम सबने सार्थक उपयोग किया। इस भूमिका को निभाने में सबसे बड़ा सहयोग और संरक्षण हमें अध्यक्ष महोदय से मिला। उपाध्यक्ष जी और सभापति तालिका के सभी सदस्य भी उसमें शामिल हैं। हमारे विद्वान नेताप्रतिपक्ष श्री टी.एस. सिंहदेव और प्रतिपक्ष के सभी साथियों की रचनात्मक आलोचना से सरकार और मेरा स्वयं का भी बहुत लाभ हुआ। मैं उन्हें धन्यवाद देना चाहूंगा कि उन्होंने मतभेदों को जनहित के कार्यों में आड़े नहीं आने दिया।डॉ. सिंह ने सदन के सुचारू संचालन के लिए नेताप्रतिपक्ष श्री टी.एस. सिंहदेव, मंत्रिमंडलीय सहयोगियों, सदन के सभी सदस्यों को धन्यवाद देता हूं। उन्होंने सदन की कार्रवाई के संचालन में सहयोग के लिए मुख्य सचिव, विधानसभा सचिव सहित राज्य शासन और विधानसभा सचिवालय के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों, सुरक्षा कर्मियों, मीडिया प्रतिनिधियों को भी धन्यवाद दिया।विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने चतुर्थ विधानसभा के 17वें सत्र के समापन के अवसर पर कहा कि चतुर्थ विधानसभा का यह दो दिवसीय 17वां सत्र विशेष सत्र भी था। उन्होंने सदन के सुव्यस्थित संचालन के लिए मुख्यमंत्री सहित नेताप्रतिपक्ष, संसदीय कार्यमंत्री और सदन के सभी सदस्यों को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ विधानसभा के संसदीय इतिहास में यह कीर्तिमान है कि चतुर्थ विधानसभा के 17सत्रों की कुल 145 बैठकों में 845 घण्टे 47 मिनट चर्चा हुई। राज्य के किसान भाईयों की परिस्थितियों और उनकी आवश्यकताओं को महसूस करते हुए यह विशेष सत्र आहूत किया गया, जिसमें किसानों को धान बोनस देने के लिए 2400 करोड़ रूपए के अनुदान मांगें पारित की गई। उन्होंने बताया कि विशेष सत्र की दो बैठकों में आठ घण्टे 48 मिनट चर्चा हुई। सत्र में विनियोग विधेयक सहित चार विधेयकों की सूचना प्राप्त हुई और सभी विधेयक पारित हुए। द्वितीय अनुपूरक और अनुमान पर सदन में पांच घण्टे 33 मिनट चर्चा हुई। श्री अग्रवाल ने सदन की माता बहनों को तीजा पर और सभी लोगों को गणेश चतुर्थी की शुभकामनाएं दी। नेता प्रतिपक्ष श्री टी.एस. सिंहदेव ने छत्तीसगढ़ के निर्माण के लिए साथ मिलकर काम करने का संकल्प दोहराया। संसदीय कार्यमंत्री श्री अजय चंद्राकर ने भी सदन को सम्बोधित करते हुए विशेष सत्र के सुचारू संचालन में प्राप्त सहयोग के लिए सबके प्रति आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *