किसानों को धान बोनस के लिए नहीं करना पड़ेगा इंतजार : मुख्यमंत्री ने ग्राम रनई, महोरा, जमगहना और बैकुण्ठपुर में स्वागत सभा को सम्बोधित किया

रायपुर.मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा है कि किसानों को धान कि बोनस के लिए इंतजार नहीं करना पड़ेगा। समर्थन मूल्य पर एक नवम्बर से धान खरीदी शुरू होगी। धान के समर्थन मूल्य के साथ धान के बोनस का भुगतान भी किसानों के खाते में कर दिया जाएगा। डॉ. सिंह आज कोरिया जिले के ग्राम रनई, महोरा, जमगहना और जिला मुख्यालय बैकुंठपुर में आयोजित स्वागत सभा और रोड शो को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री के स्वागत के लिए बड़ी संख्या में लोगों का सैलाब उमड़ पड़ा। लोकनृत्य, संगीत ,आरती सहित परम्परागत तरीकों से लोगों ने मुख्यमंत्री का जोरदार अभिवादन किया। महिलाओं ने आरती उतारकर डॉ. रमन सिंह का आत्मीय स्वागत किया।
मुख्यमंत्री डॉ सिंह ने रनई से रोड शो की शुरुआत की। स्थानीय जनप्रतिनिधियों और ग्रामीणों के आग्रह पर उन्होंने पटना पंचायत के सामुदायिक भवन परिसर में टाइल्स लगाने के लिए 20 लाख रुपये की स्वीकृति प्रदान की। डॉ सिंह ने रनई में 5 लाख रुपये का सामुदायिक भवन, पंचायत के लिए नए भवन और पेयजल समस्या के निदान के लिए 5 नए हैण्ड पंप खनन की स्वीकृति प्रदान की। मुख्यमंत्री ने रनई से लेकर चरचा तक लगभग 27 किलोमीटर रोड शो करके लोगों से मुलाकात की। डॉ सिंह ने पिछले 15 बरसों में छत्तीसगढ़ में हुए अभूतपूर्व विकास के प्रमुख क्षेत्रों पर प्रकाश डाला। डॉ. सिंह ने इन सभाओं में कहा कि किसानों को तीन सौ रुपये की बोनस और 200 रुपये बढ़े हुए समर्थन मूल्य मिलाकर इस साल कॉमन धान का 2050 रुपए और पतला धान का 2070 रुपए का भुगतान किया जाएगा।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज प्रदेश व्यापी अटल विकास यात्रा के दौरान कोरिया जिले के शिवपुर चरचा में आयोजित आमसभा में लगभग 98 करोड़ 23 लाख रूपए की लागत के 64 विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। डॉ. सिंह ने इनमें से 80 करोड़ 48 लाख रूपये की लागत के 53 कार्यांे का भूमिपूजन और शिलान्यास तथा 17 करोड़ 75 लाख रूपये की लागत के 11 कार्यांे का लोकार्पण किया। इस अवसर पर श्रम, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री भईयालाल राजवाड़े, संसदीय सचिव श्रीमती चम्पादेवी पावले और विधायक श्री श्याम बिहारी जायसवाल भी इस अवसर पर उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री ने आमसभा में 33 हजार 584 ग्रामीणों को राज्य सरकार की विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं में 9 करोड़ 44 लाख रूपये की सामग्री और सहायता राशि का वितरण किया। उन्होंने इनमें से संचार क्रांति योजना के तहत 16 हजार 740 हितग्राहियों को मोबाइल, एक हजार 157 किसानों को आबादी पटटा, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत 18 हजार 142 महिलाओं को रसोई गैस कनेक्षन, श्रम विभाग की विभिन्न योजनाओं में 800 श्रमिकों को सायकल, सिंलाई मषीन और औजार किट तथा मुख्यमंत्री मनरेगा मजदूर टिफिन योजना के तहत 9 हजार 200 श्रमिकों को टिफिन वितरण का प्रतीकात्मक शुभारंभ किया। डॉ. सिंह ने कम्प्यूटर के माध्यम से बटन दबाकर 5 हजार 57 किसानों को वर्ष 2017-18 के लिए कुल 8 करोड़ 41 लाख रूपये की धान बोनस की राशि किसानों के खाते में जमा की।
मुख्यमंत्री ने षिवपुर चरचा में आयोजित आमसभा में जिन पूर्ण हो चुके कार्याें का लोकार्पण किया, उनमें 13 करोड 84 लाख रूपये की लागत से निर्मित अंजनी जलाषय, एक करोड 77 लाख रूपये की लागत से निर्मित लाईवलीहुड कालेज में कन्या छात्रावास, 43 लाख रूपये की लागत से ग्राम कदमनारा के नकटीनाला में चकेरी डबरा स्टाप डेम, 32 लाख रूपये की लागत से ग्राम मंडलपारा के सलका नर्सरी में निर्मित पुलिया और 30 लाख रूपये की लागत से नौका विहार हेतु मैकेनाईज बोट का लोकार्पण किया।
मुख्यमंत्री जिन नये स्वीकृत कार्यों का भूमिपूजन किया, उनमें 29 करोड़ रूपये की लागत से बनने वाले नगर पालिका बैकुण्ठपुर में जल षुद्विकरण संयंत्र एवं पाईप लाईन विस्तार, 7 करोड 76 लाख रूपये की लागत से जगदीषपुर से रकमा तक बनने वाला पहुंच मार्ग, 5 करोड 77 लाख रूपये की लागत से दुधनिया से रटगा स्कूल पहुंच मार्ग, जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर में 5 करोड 6 लाख रूपये की लागत से बनने वाला स्टेडियम और 3 करोड 84 लाख रूपये की लागत से बनने वाली लाइब्रेरी का भूमिपूजन और शिलान्यास किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *