कांग्रेस सरकार गिराने का ख्व़ाब पाल रही भाजपा के लिए खड़ी हुई मुश्किल?, कांग्रेस ख़ेमे में अचानक आयी ख़ुशी..

भोपाल: सियासत में कौन कब कौन सी चाल चलता है ये समझना मुश्किल हो जाता है. यूं तो कई विधायक ये ख्व़ाब देखते हैं कि वो कभी सांसद बने लेकिन कभी ऐसा भी होता है कि विधायक बनना कुछ ज़्यादा ज़रूरी हो जाता है. असल में मामला कुछ ऐसा ही हो रहा है मध्य प्रदेश में. मध्य प्रदेश की सियासत में इस समय विधायकों की एहमियत सांसदों से कहीं अधिक हो गई है.

हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा को बड़ी जीत मिली और मध्य प्रदेश में भी पार्टी ने बड़ी जीत हासिल की और लगभग भाजपा का सफ़ाया ही कर दिया. परन्तु इस समय विधायकों की संख्या की बात भी तेज़ी से हो रही है. २३० सीटों वाली विधानसभा में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी है. कांग्रेस के कुल 114 विधायक हैं और निर्दलीय तथा बसपा, सपा के सहयोग से पार्टी की यहाँ सरकार है लेकिन भाजपा भी सत्ता का ख्व़ाब यहाँ देख रही है.

परन्तु भाजपा के 109 विधायक ही थे लेकिन अब भाजपा का एक और विधायक कम हो गया है. जी हाँ, मध्य प्रदेश की रतलाम झाबुआ लोकसभा सीट से सांसद चुने गए गुमान सिंह डामोर विधायक भी हैं लेकिन अब उन्हें विधायक पद छोड़ना पड़ेगा. पहले ये चर्चा थी कि वो सांसद पद छोड़ सकते हैं क्यूंकि इस समय मध्य प्रदेश में एक-एक विधायक की बड़ी वैल्यू है.

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव से पहले डामोर नवंबर 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में झाबुआ विधानसभा सीट से कांतिलाल भूरिया के चिकित्सक पुत्र विक्रांत भूरिया को पराजित कर विधायक बने थे. मध्यप्रदेश भाजपा के अध्यक्ष राकेश सिंह ने मंगलवार को इस बारे में विशेष घोषणा की कि डामोर विधायक पद से इस्तीफा देगें और वह लोकसभा सांसद बने रहेगें.

उन्होंने पार्टी के प्रदेश कार्यालय में संवाददाताओं से कहा, ‘भाजपा की प्रदेश इकाई ने फैसला किया है कि डामोर सांसद बने रहेगें तथा विधायक के पद इस्तीफा देगें’. एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘कमलनाथ सरकार को गिराने की हमारी कोई मंशा नहीं है. यह अपने अंतरर्विरोध से स्वयं ही गिर जायेगी’. राज्य में अब भाजपा के विधायकों की संख्या एक और कम हो जाएगी. राज्य में बहुमत के लिए कुल 116 सीटें चाहियें और कांग्रेस को इस समय बसपा के 2 और सप्पा के एक विधायक का समर्थन प्राप्त है जबकि 4 निर्दलीय विधायक भी कांग्रेस को समर्थन दे रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *