अक्टूबर में चार ग्रहों का परिवर्तन, ये राशियां रहें सतर्क

due to the change of four planets in october month

अक्टूबर के महीने में चार ग्रह राशि परिवर्तन करेंगे, जिससे आम जनमानस के साथ-साथ अर्थव्यवस्था और वातावरण पर भी प्रभाव देखने को मिलेगा। अक्टूबर में ग्रहों के राजा सूर्य अपनी नीच राशि तुला में गोचर करेंगे, शुक्र ग्रह का गोचर कन्या राशि में होगा वहीं मंगल मीन राशि में उल्टी चाल चलेंगे।

बुध ग्रह कन्या राशि में वक्री गति करते हुए तुला राशि में गोचर करेंगे और 14 अक्टूबर से 4 नवंबर तक तुला राशि में वक्री गति करेंगे। सूर्य का अपनी नीच राशि तुला में गोचर करना कई महत्वपूर्ण बदलावों का कारण साबित हो सकता है। आइए ऐसे में जानते हैं कि ग्रहों के इस परिवर्तन से किन राशि वालों को अक्टूबर के माह में जीवन में उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ पड़ सकता है।

मेष राशि- बातचीत के दौरान शब्दों का रखें ध्यान

मेष राशि के लिए अक्टूबर माह के आखिरी दो हफ्ते काफी चुनौतीपूर्ण साबित हो सकते हैं। इस दौरान आपको अपने पारिवारिक जीवन में कुछ उलझनों का सामना करना पड़ सकता है। जो लोग शादीशुदा हैं उनको अपने जीवनसाथी के साथ बातचीत के दौरान शब्दों का इस्तेमाल सोच-समझकर करना चाहिए, नहीं तो छोटी सी बात भी बड़े झगड़े का रूप ले सकती है। इस महीने शुक्र भी आपके षष्ठम भाव में विराजमान होंगे, जिसके चलते भौतिक चीजों पर अनचाहे खर्चे हो सकते हैं और बजट बिगड़ सकता है। आपको खर्चों पर लगाम लगाने के लिए महीने की शुरुआत में ही अच्छा बजट प्लान बना लेना चाहिए, इससे आप फायदे में रहेंगे।

सिंह राशि- अपनी बातों को दूसरों के सामने रखें

आपके राशि के स्वामी का अपनी नीच राशि में होना और वाणी के देवता बुध का वक्री अवस्था में होना आपके लिए परेशानियों का कारण बन सकता है। इस महीने आपके साहस-पराक्रम में कमी आ सकती है। अपनी बातों को दूसरों के सामने रखने में आप हिचकिचाएंगे, जिससे सामाजिक स्तर और कार्यक्षेत्र में आप संघर्ष कर सकते हैं। अक्टूबर के इस महीने में आपको अपनी वाणी पर भी नियंत्रण रखना होगा, गुस्से में आकर आप अपने किसी करीबी से कुछ ऐसी बात कह सकते हैं जिससे रिश्ता खराब हो सकता है। इस राशि वालों को अपने छोटे भाई-बहनों से अच्छे रिश्ते बनाए रखने के लिए अपने व्यवहार में अच्छे बदलाव लाने होंगे।

तुला राशि: अनुभवी लोगों से बात करने पर मिलेगा रास्ता

अक्टूब के महीने में आपको धैर्य और विवेक का इस्तेमाल करके आगे बढ़ना होगा, अत्यधिक उत्साही स्वभाव आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। जल्दबाजी में आप कोई ऐसा फैसला ले सकते हैं, जो आपके लिए घातक हो सकता है। कोई भी फैसला लेने से पहले इस महीने आपको अनुभवी लोगों या अपने विश्वासपात्र लोगों से बात अवश्य करनी चाहिए। आपकी ही राशि में नीच अवस्था में बैठे सूर्य आपके आत्मविश्वास को भी कमजोर कर सकते हैं। इस महीने तुला राशि के लोगों को योग-ध्यान के जरिए अपने मन को नियंत्रण में लाने की कोशिश करनी चाहिए। साथ ही आप प्रतिदिन सूर्य को जल चढ़ाएं तो आपको फायदा मिलेगा।

मीन राशि: आत्मविश्वास में आ सकती है कमी

इस महीने मन में असंतोष और निराशा की भावना घर कर सकती है। आपको लग सकता है कि जितनी आपने मेहनत की है, उतनी जीवन में आपको सफलता नहीं मिली, इस वजह से मीन राशि के जातक मानसिक पीड़ा से जूझ सकते हैं। इस महीने मंगल ग्रह आपकी राशि में वक्री गति करेंगे जिसके कारण आपके जोश में कमी देखी आ सकती है, वहीं अष्टम भाव में नीच अवस्था में सूर्य के होने से आपको छोटी-मोटी बीमारियां परेशान कर सकती हैं। अपने खोए आत्मविश्वास को वापस पाने के लिए इस महीने मीन राशि के जातकों को योग-ध्यान करना चाहिए।

ग्रहों के राशि परिवर्तन का प्रभाव

इस महीने मंगल ग्रह जल तत्व की राशि मीन में होंगे वहीं सूर्य भी अपनी नीच राशि में विराजमान रहेंगे जिसके कारण वातावरण में ठंडक बढ़ने लगेगी। इसके साथ ही राजनीति पर भी इन दोनों ग्रहों का प्रभाव देखने को मिलेगा, इस दौरान वैश्विक स्तर पर राजनीतिज्ञों के बीच अविश्वास की भावना कर सकती है साथ ही, कई देशों की सीमाओं पर भी टेंशन बढ़ सकती है। शुक्र के वृश्चिक राशि में गोचर के चलते बाजार में सौंदर्य-प्रसाधनों के दाम घट सकते हैं। बुध के वक्री के चलते इस महीने लोगों की तार्किक क्षमता प्रभावित होगी इसके साथ ही व्यवसाय पर भी इसका बुरा प्रभाव हो सकता है। इस दौरान कारोबार करने वाले लोगों को हर फैसला बहुत सोच समझकर करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *