इन दो बड़े शहरों को जोड़ेगा विश्व-स्तरीय एक्सप्रेस-वे, कांग्रेस सरकार ने बनाई हजारों लोगों को रोजगार देने की प्लानिंग

भोपाल: मुख्यमंत्री कमल नाथ ने भोपाल-इंदौर एक्सप्रेस-वे को पी.पी.पी. मॉडल का विश्व-स्तरीय कॉरिडोर बनाने के निर्देश दिए हैं। श्री नाथ ने आज मंत्रालय में भोपाल-इंदौर एक्सप्रेस-वे के प्रस्तावित मॉडल का प्रस्तुतिकरण देखने के बाद कहा कि यह प्रदेश का ऐसा एक्सप्रेस-वे बने, जो आर्थिक गतिविधियों को बढ़ाने और रोजगार की उपलब्धता का एक बड़ा केन्द्र बने। मुख्यमंत्री नाथ ने इंदौर एक्सप्रेस-वे के लिए भूमि-अधिग्रहण की प्रक्रिया में तेजी लाने को कहा। उन्होंने कहा कि एक्सप्रेस-वे के दोनों और सेटेलाइट टाउनशिप विकसित करें, जिसमें उद्योगों के साथ आम लोगों से जुड़ी सभी बुनियादी सुविधाएँ उपलब्ध हों।

उन्होंने लॉजिस्टिक हब और मनोरंजन के केंद्र और ड्रायपोर्ट भी बनाने को कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक्सप्रेस-वे निर्माण के पीछे मूल-अवधारणा आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देना है। इससे भोपाल और इंदौर और इससे जुड़े क्षेत्रों का भी आर्थिक विकास हो। मुख्यमंत्री श्री नाथ ने कहा कि यह पूरा प्रोजेक्ट पी.पी.पी. मॉडल पर तैयार किया गया है। राज्य सरकार की एजेंसी की सड़क निर्माण, परियोजना स्थल के विकास और भूमि अधिग्रहण प्रक्रिया में भूमिका हो। बैठक में लोक निर्माण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा, नगरीय विकास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह, मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहंती, अपर मुख्य सचिव श्री ए.पी. श्रीवास्तव, श्री एम. गोपाल रेड्डी, श्री मलय श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव नगरीय विकास श्री संजय दुबे, एमपीएसआईडी के प्रबंध संचालक श्री विवेक पोरवाल एवं संबंधित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

ओंकारेश्वर के विकास के लिए विस्तृत कार्य योजना तैयार करें : श्री सिलावट

भोपाल : देश के प्रमुख तीर्थ स्थलों की तरह ओंकारेश्वर में तीर्थ यात्रियों को और अधिक सुविधाएँ उपलब्ध कराई जायेंगी। तिरूपति बालाजी, शिर्डी, हरिद्वार एवं वैष्णोदवी तीर्थस्थल की तर्ज पर ओंकारेश्वर में विकास की रूपरेखा तैयार की जायेगी। इसके लिये अधिकारियों का एक दल इन तीर्थ स्थलों पर अवलोकन के लिये भेजा जायेगा। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा खण्डवा जिले प्रभारी मंत्री श्री तुलसी सिलावट ओंकारेश्वर में विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि यात्रियों की सुविधाओं को देखते हुए क्षेत्र में हवाई पट्टी के निर्माण के लिये शीघ्र ही प्रस्ताव तैयार करें।

श्री सिलावट ने कहा कि ओंकारेश्वर में नर्मदा के घाटों पर आवश्यक सुविधाएँ उपलब्ध कराने तथा घाटों का सौंदर्यीकरण किया जायेगा। नर्मदा स्नान के बाद यात्रियों की सुविधा के लिए घाटो पर चेजिंग रूम बनवाने के साथ ही शहर में स्ट्रीट लाइट, वाहन पार्किंग व्यवस्था, यात्रियों के लिये शुद्ध पेयजल के लिए वॉटर वेडिंग मशीन की व्यवस्था के निर्देश दिये। श्री सिलावट ने कहा कि अधिकारी व जनप्रतिनिधि मिलकर ओंकारेश्वर शहर व खण्डवा जिले के विकास के लिए कार्य करें एवं ओंकारेश्वर आने वाले तीर्थ यात्रियों को कोई परेशानी न हो यह भी सुनिश्चित करें। बैठक में विधायक मांधाता श्री नारायण पटेल, कलेक्टर श्रीमती तन्वी सुन्द्रियाल, पुलिस अधीक्षक डॉ. शिवदयाल सिंह, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री रोशन कुमार सिंह, जिला कांग्रेस अध्यक्ष श्री इंदल सिंह पंवार व श्री ओंकार पटेल भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *