इस एक काम को किए बिना नहीं मिल सकती व्यक्ति को सफलता, जया किशोरी से जानिये

जया किशोरी की कथाओं को सुनने के लिए बड़ी संख्या में भीड़ इक्ट्ठा होती है। आज जया किशोरी केवल देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी काफी प्रसिद्ध हैं। जया किशोरी एक प्रसिद्ध कथावाचिका हैं, जिन्होंने केवल देश ही नहीं बल्कि दुनिया में भी खूब नाम कमाया है। जया किशोरी कथावाचिका के साथ ही भजन गायिका और मोटिवेशनल स्पीकर भी हैं। किशोरी जी ‘आधुनिक युग की मीरा’ के नाम से भी प्रसिद्ध हैं। साल 1995 में जन्मीं जया 7 साल की छोटी उम्र से ही आध्यात्म से जुड़ गई थीं। दीक्षा लेने के बाद उनका नाम जया शर्मा से जया किशोरी पड़ गया। उन्होंने छोटी उम्र में ही ‘नानी बाई रो मायरा’ और ‘श्री मद् भागवत कथा’ करना शुरू कर दिया था।

धीरे-धीरे जया किशोरी की प्रसिद्धी बढ़ती गई। आज किशोरी जी एक मोटिवेशनल स्पीकर भी हैं। वह सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं। किशोरी जी अक्सर अपने प्रेरक वीडियो फैन्स के साथ साझा करती नजर आ जाती हैं, जिसमें वह लोगों को नई-नई सीख देती हैं। हाल ही में जया किशोरी ने अपने इंस्टाग्राम एकाउंट से एक वीडियो शेयर किया है।

इस वीडियो में किशोरी जी बता रही हैं कि वह कौन-सी चीज है, जिसके बिना व्यक्ति को अपने जीवन में सफलता प्राप्त नहीं हो पाती। वीडियो में जया किशोरी कह रही हैं, “सबसे पहली चीज, जो सफलता आपसे मांगती है, वह है हद से ज्यादा मेहनत। मेहनत कभी भी बर्बाद नहीं जाती। किसी भी काम में आप जितनी मेहनत करते हैं, उसके आपको उतने ही परिणाम मिलते हैं।”

वीडियो में जया किशोरी आगे कह रही हैं, “हो सकता है कि आपको सफलता पाने में थोड़ी देर लगे, हो सकता है कि आपको थोड़ा धैर्य रखने की जरूरत पड़े, लेकिन मेहनत अपना असर जरूर दिखाती है। इसलिए जितना हो सके उतनी मेहनत करें। आपको अपने लक्ष्य के अलावा कोई और चीज नहीं दिखाई देनी चाहिए।”

जया किशोरी के इस वीडियो को अब तक 45 हजार से ज्यादा बार लाइक किया जा चुका है। किशोरी जी के इस वीडियो पर लोग अपनी खूब प्रतिक्रिया भी दे रहे हैं।

जया किशोरी की कथाओं को सुनने के लिए बड़ी संख्या में भीड़ इक्ट्ठा होती है। ज्यादातर लोग उनके 7 दिन लंबी श्रीमद्भगवत कथा और 3 दिन लंबी नानी बाई रो मायरा की कथा सुनना पसंद करते हैं। बता दें कि अब तक किशोरी जी 350 से अधिक प्रवचन आयोजित कर कर चुकी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *