Sunday, August 1, 2021
Home India Hindi News यह है ज्योतिरादित्य सिंधिया का 400 कमरे का शाही महल, अमूल्य रत्नों...

यह है ज्योतिरादित्य सिंधिया का 400 कमरे का शाही महल, अमूल्य रत्नों से सजे हैं कमरे: देखें तस्वीरें

ज्योतिरादित्य सिंधिया

सिंधिया राज घराने से नाता रखते हैं और जयविलास पैलेस के मालिक हैं। जयविलास पैलेस बेहद ही बड़ा पैलेस है और इस पैलेस को साल 1874 में श्रीमंत जयाजी राव सिंधिया द्वारा बनाया गया था। ये पैलेस कितना भव्य है इसका अंदाजा इसी चीज से लगाया जा सकता है कि ये पैलेस 40 एकड़ में फैला हुआ है और इस पैलेस की दीवारों को सोने-चांदी से सजाया गया है।

ग्वालियर में स्थित ये पैलेस

सिंधिया राज घराना का राजमहल है। इस पैलेस में जीवाजीराव सिंधिया म्यूजियम भी है जो कि लोगों के लिए खोला गया है। इस म्यूजियम में सिंधिया खानदान के इतिहास से जुड़ी चीजें रखी गई है। इस म्यूजियम को साल 1964 में लोगों के लिए खोल दिया गया था।

इस पैलेस में आज भी सिंधिया राज परिवार रहता है और इस महल को देखने के लिए विदेश से भी टूरिस्ट ग्वालियर आया करते हैं। इस महल में सिंधिया परिवार के वंशज ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने परिवार के साथ रहा करते हैं।

जयविलास पैलेस कितना सुंदर है और इस पैलेस से जुड़ी विशेषताएं आज हम आपको बताने जा रहा हैं। जो कि इस तरह से है-

जयविलास पैलेस का निर्माण सर माइकल फिलोसे ने किया था। इस महल की कीमत साल 1874 में 200 मिलियन डॉलर की थी।
 ये महल बेहद ही भव्य तरीके से बनाया गया है और इसकी वास्तुकला बेहद ही सुंदर है।
इस महल की पहली मंजिल को टस्कन स्टाइल में बनाया गया है।
 इस महल को इटेलियन-डोरिक (Italian-Doric) और कोरिंथियन (Corinthian) स्टाइल से सजाया गया है।
ऐसा कहा जाता है कि इस महल को बनाने के लिए विदेशी कारीगर की भी मदद ली गई थी।
इस पैलेस में कुल 400 कमरे मौजूद हैं और सभी कमरों में यह है ज्योतिरादित्य सिंधिया का 400 कमरे का शाही महल, सोने-चांदी और अमूल्य रत्नों से सजे हैं कमरे को लगाया गया है।
 जयविलास पैलेस महल के कई कमरों की दीवारों पर सोने का पेंट भी किया गया है।
इस महल में 3500 किलो का झूमर लगाया गया है जो कि देखने में बेहद ही भव्य और सुंदर है। ये झूमर जय विलास पैलेस के दरबार के हॉल में लगा हुआ है। इस झूमर के साथ एक अन्य झूमर भी लगाया गया है।
हॉल में इन झूमरों को टांगने के लिए हाथियों का सहारा लिया गया था। माना जाता है कि करीब 10 हाथियों को लकड़ी के रैंप के जरिए छत पर चढ़ाया गया था।
इन झूमरों को लगाने का काम 7 दिनों में पूरा हुआ था। ये झूमरों 48 फीट ऊंची छत पर लगे हैं। इन झूमरों को बेल्जियम ग्लास से बनाया गया है।

इस महल का डाइनिंग हॉल बेहद ही बड़ा और सुंदर है। इस डाइनिंग हॉल में कई सारे टेबल हैं और इन टेबल पर चांदी की ट्रेन लगाई हुई है जो कि खाना परोसने के लिए इस्तेमाल की जाती है।
जयविलास पैलेस की सुदंरता और भव्यता देखते ही बनतीं है। आप अगर मध्य प्रदेश जाते हैं तो इस महल को देखने के लिए जरूर जाएं। इस महल के म्यूजियम में राज घराने से जुड़ी बेहद ही सुंदर चीजे रखी गई हैं। जिनको देखकर आपका मन खुश हो जाएगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments