छात्रावासों के छात्रसंघों के पदाधिकारियों ने ली सामूहिक शपथ : शिक्षा रूपी धन जीवन भर काम आता है: उद्योग मंत्री श्री लखमा

रायपुर: राजनांदगांव शहर के छात्रावासों के छात्रसंघों के पदाधिकारियों को आज पहली बार सामूहिक रूप से एक साथ शपथ दिलाई गई। उद्योग मंत्री श्री कवासी लखमा समारोह के मुख्य अतिथि थे। समारोह की अध्यक्षता कर रही खुज्जी विधायक श्रीमती छन्नी साहू ने शपथ दिलाई। शपथ ग्रहण समारोह राजनांदगांव के न्यू महेश नगर स्थित शासकीय पोस्ट मैट्रिक आदिवासी बालक छात्रावास परिसर में आयोजित किया गया।

समारोह के मुख्य अतिथि श्री कवासी लखमा ने अपने संबोधन में पढ़ाई का महत्व बताते हुए कहा कि जिस परिवार और समाज में पढ़े लिखे सदस्य होते हैं, वह परिवार और समाज विकास के रास्ते पर हमेशा आगे बढ़ता है। श्री लखमा ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और संविधान प्रारूप समिति के अध्यक्ष बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर का उदाहरण दिया। देश के प्रथम प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री जवाहर लाल नेहरू ने बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर की उच्च शिक्षा को देखते हुए उन्हें देश के पहले कानून मंत्री की जिम्मेदारी दी। बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर के मार्गदर्शन में भारत का संविधान बनाया गया। इसी संविधान से देश चल रहा है। गरीबों और वंचितों की भलाई के लिए संविधान में अनेक प्रावधान किए गए हैं। अनुसूचित जाति-जनजाति वर्ग के लोगों की शिक्षा-दीक्षा के लिए समुचित व्यवस्था की गई है।

????????????????????????????????????

उद्योग मंत्री श्री लखमा ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री राजीव गांधी ने देश को कम्प्यूटर युग से परिचित कराया। कम्प्यूटर से आज पूरी दुनिया सिमट गई है। स्वर्गीय श्री राजीव गांधी ने पंचायती राज लागू कर के निचले तबके के लोगों को प्रतिनिधित्व करने और विकास में भागीदारी करने का मौका दिया। श्री लखमा ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छŸाीसगढ़ की नई सरकार ने किसानों की कर्ज माफी और धान की कीमत 2500 रूपए प्रति क्विंटल करने का निर्णय लिया है। इन निर्णयों ने किसानों को नया जीवन देने का काम किया है। अनुसूचित जनजाति वर्ग को 32 प्रतिशत, अनुसूचित जाति को 13 प्रतिशत तथा अन्य पिछड़ा वर्ग को 27 प्रतिशत आरक्षण देने की व्यवस्था प्रदेश की नई सरकार ने की है। श्री लखमा ने कहा कि शहरों में पुराने आबादी पट्टों के नवीनीकरण और नजूल की जमीन पर मकान बनाकर रह रहे लोगों को पट्टे देने का निर्णय लिया है। छोटे भू-खंडों की रजिस्ट्री की अनुमति देने से लोगों को बहुत राहत मिली है। श्री लखमा ने छात्र-छात्राओं से कहा कि जीवन में हर क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए पढ़ाई सबसे यादा जरूरी है। शिक्षा सबसे बड़ा धन है, जो जीवन भर काम आता है। उद्योग मंत्री ने छात्रावासों में विभिन्न प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराने से संबंधित मांगों पर चर्चा करते हुए कहा कि इन मांगों को मुख्यमंत्री तक जरूर पहुंचाएंगे।

विधायक श्रीमती साहू ने नव निर्वाचित पदाधिकारियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। उन्होंने पदाधिकारियों से कहा कि पद की बहुत बड़ी जिम्मेदारी होती है। पदाधिकारियों को छात्र-छात्राओं के हित मे आपसी समन्वय के साथ कार्य करना होगा। शिक्षा सबसे बड़ी पूंजी होती है। एक उद्देश्य लेकर पढ़ाई करेंगे तो सफलता निश्चित है। श्रीमती साहू ने कहा कि माता-पिता बच्चों को उम्मीद के साथ पढ़ने भेजते हैं। उनकी उम्मीदों को पूरा करने की जिम्मेदारी छात्र-छात्राओं की होती है। राजनांदगांव नगर निगम के नेता प्रतिपक्ष श्री हफीज खान और वरिष्ठ जनप्रतिनिधि श्री नवाज खान ने अपने संबोधन में अनेक महान विभूतियों का उदाहरण देकर छात्र-छात्राओं को पूरी लगन और मेहनत से पढ़ाई-लिखाई करने के लिए प्रेरित किया।

दुर्ग संभाग के आयुक्त श्री दिलीप वासनीकर ने कहा कि हर बच्चे को अपने जीवन का लक्ष्य बनाना चाहिए। लक्ष्य को प्राप्त करने गुणवŸाापूर्ण शिक्षा, मेहनत और लगन जरूरी है। दृढ़ संकल्प हो तो मंजिल जरूर मिलेगी। श्री वासनीकर ने बच्चों को बेहतर केरियर के लिए मार्गदर्शन दिया। उन्होंने कहा कि राजनांदगांव जिले में शिक्षा की अच्छी सुविधा उपलब्ध है। इस सुविधा का लाभ लेकर सभी बच्चों को आगे बढ़ना चाहिए।
शासकीय पोस्ट मैट्रिक आदिवासी बालक छात्रावास के अध्यक्ष श्री नरेश टेकाम ने स्वागत भाषण दिया। उन्होंने छात्रावासों की विभिन्न समस्याओं की ओर ध्यान आकृष्ट भी कराया। विभिन्न छात्रावासों के छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति भी दी। कार्यक्रम का सफल संचालन श्री चंद्रेश ठाकुर ने किया। इस अवसर पर जिला पंचायत राजनांदगांव की अध्यक्ष श्रीमती चित्रलेखा वर्मा, खुज्जी के पूर्व विधायक श्री भोलाराम साहू, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती विभा साहू, नगर निगम पार्षद श्री कुलबीर छाबड़ा, श्रीमती विक्रमा देवी नेताम, एल्डरमेन श्री गावेन्द्र नेताम, श्री जितेन्द्र मुदलियार, श्री कमलजीत पिन्टू, पुलिस अधीक्षक राजनांदगांव श्री कमलोचन कश्यपसहित अनेक जिला पंचायत सदस्य, नगर निगम पार्षद, स्थानीय वरिष्ठ जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *