India Hindi NewsUncategorizedछत्तीसगढ़प्रशासनराष्ट्रीय

मुख्यमंत्री ने कोरबा में दी 271 करोड़ रूपये से अधिक के विकास कार्यों की सौगात : कोरबा जिले के दर्री, हरदीबाजार और पसान को तहसील का दर्जा देने की घोषणा

रायपुर. मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज कोरबा प्रवास के दौरान जिले वासियों को 271 करोड़ 47 लाख रूपये के विकास कार्यों की सौगात दी और उनकी कई बहुप्रतिक्षित मांगों को भी पूरा किया। श्री बघेल ने चांपा-कोरबा और कटघोरा-बिलासपुर राष्ट्रीय राजमार्ग की मरम्मत के लिए राज्य सरकार द्वारा पहल करते हुए 30 करोड़ रूपये मंजूर किये। मुख्यमंत्री ने कोरबा वासियों की मांग पर चांपा-कोरबा-पाली-कटघोरा जर्जर मार्ग की मरम्मत के लिए 30 करोड़ रूपये घोषणा की। उन्होंने कोरबा के जिला चिकित्सालय में आईसीयू यूनिट, बर्न यूनिट, ओटी सुदृढ़ीकरण एवं डिजिटल एक्सरे सिस्टम तथा फिजियो थेरेपी यूनिट की स्थापना के लिए पांच करोड़ 60 लाख रूपये देने की भी घोषणा की। श्री बघेल ने जिले में चिरौंजी, काजू, मक्का, बेल, मशरूम और लाख प्रसंस्करण यूनिटों की स्थापना के लिए पांच करोड़ 15 लाख रूपये भी मंजूर किये। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कोरबा जिले के दर्री, हरदीबाजार और पसान को तहसीलों का दर्जा देने, कोरबा शहर में नये ट्रांसपोर्टनगर की स्थापना करने की भी घोषणा की। अपने उद्बोधन के दौरान उन्होंने आने वाले समय में कोरबा में मेडिकल कालेज शुरू करने की भी संभावना जताई। उन्होंने बरबसपुर-गोपालपुर और सर्वमंगला-ईमलीछापर फोरलाईन सड़क निर्माण सार्वजनिक उपक्रमों की सहायता से करने की भी स्वीकृति दी। मुख्यमंत्री ने नगरीय निकाय चुनाव के बाद बांकीमोंगरा को नगरपालिका का दर्जा देने तथा कोरबा के झुग्गी-झोपड़ी मंे रहने वाले लोगों को भूमि का आवासी पट्टा देने की भी घोषणा की।  इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने घंटाघर ओपन थियेटर में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा प्रारंभ किया गया नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी कार्यक्रम ग्रामीण अर्थव्यवस्था में मील का पत्थर साबित होगा। इससे स्थानीय स्तर पर रोजगार मुहैया हो सकेगा। उन्होंने कहा कि नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी कार्यक्रम महात्मा गांधी के ग्राम स्वराज की अवधारणा से प्रेरित महत्वाकांक्षी कार्यक्रम है।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष डा. चरण दास महंत, सांसद श्रीमती ज्योत्सना महंत, राज्य सभा सांसद श्रीमती छाया वर्मा, राजस्व मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल, स्कूल शिक्षा मंत्री एवं कोरबा जिले के प्रभारी मंत्री डा. प्रेमसाय सिंह, विधायक श्री देवेन्द्र यादव, विधायक पाली-तानाखार श्री मोहित केरकेट्टा, विधायक कटघोरा पुरूषोत्तम कंवर, विधायक रामपुर श्री ननकीराम कंवर, महापौर श्रीमती रेणु अग्रवाल, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री देवीसिंह टेकाम, कमिश्नर श्री बी.एल. बंजारे सहित जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों की भलाई के लिए ठोस कार्यक्रम एवं योजनाओं की शुरूआत की। गरीबों की भलाई के लिए 400 यूनिट तक बिजली खपत पर 50 प्रतिशत की छुट, 25 सौ रूपये प्रति क्विंटल धान की खरीदी सहित ऋणमाफी की योजना लागू की गई। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब एपीएल के प्रत्ये कार्डधारी परिवारों को 35 किलो चांवल प्रदाय किया जाएगा। श्री बघेल ने कहा कि देश के 50 आकांक्षी जिलों में छत्तीसगढ़ के 10 जिलों में कोरबा भी शामिल है। उन्होंने कहा कि सरकार आकांक्षी जिलों में प्राथमिकता से विकास के कार्यों को मूर्त रूप दे रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में हाट-बाजार स्लम क्लिनिक योजना सेस सभी को स्थानीय स्तर पर स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ मिल रहा है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने 12 चलित स्वास्थ्य क्लिनिक वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। मुख्यमंत्री ने राज्य में कुपोषण, एनीमिया पर अपनी चिंता जाहिर करते हुए कहा कि बच्चे, माताएं सभी के बेहतर स्वास्थ्य के लिए सरकार सकारात्मक काम कर रही है। उन्होंने कहा कि स्वस्थ लोगों से ही मजबूत छत्तीसगढ़ का निर्माण हो सकेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button