कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर हुआ ट्रायल, जानें गोरखपुर से कब मिलेगी सुविधा

कुशीनगर. कुशीनगर में बन रहे इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए शुक्रवार का दिन खास रहा। नवनिर्मित एयरपोर्ट के रनवे पर प्रदेश सरकार के स्टेट प्लेन को उतारकर इसका ट्रायल किया गया। इसके साथ प्लेन में आई टीम ने कार्गो (मालवाहक विमान) से जुड़ी संभावनाओं की तलाश की और जिला प्रशासन के साथ बैठक कर आसपास के क्षेत्रों के बारे में जानकारियां हासिल की। टीम का मानना रहा कि यहां पर्यटक हब होने के साथ ही कार्गो सेवाओं को लेकर भी हब बनाया जा सकता है।

शुक्रवार को तय कार्यक्रम के अनुसार प्रदेश सरकार का स्टेट प्लेन हवाईअड्डे पर उतरा। इसमें यूपी यूपी डेवलेपमेन्ट फोरम के जनरल सेक्रेटरी पंकज जायसवाल के साथ चार सदस्यीय टेक्नीकल टीम आई थी। यह फोरम एयर कार्गो विकास अनुसंधान पर काम करती है। टीम के सदस्य पहले हवाईपट्टी का एक चक्कर आकाश से ही लगाकर हवाईअड्डे का निरीक्षण किया। इसके बाद जहाज लैंड हुआ।

मौके पर मौजूद डीएम आंद्रा वामसी ने एडीएम कृष्णलाल तिवारी व एसडीएम श्रीप्रकाश शुक्ल के साथ टीम का स्वागत किया। हवाईअड्डे पर उतरने के बाद टीम के सदस्य पार्किगं एरिया में पहुंचे। जहां निर्माण करा रही राइट्स कम्पनी के आफिस में बैठक की। बैठक में दोनों तरफ से व्यापार को बढ़ाने को लेकर विस्तार से चर्चा की गई।

अंतरराष्ट्रीय मानक के अनुसार बना है हवाईअड्डा

टीम में लीडर पंकज जायसवाल ने बताया कि यह हवाईअड्डा अंतरराष्ट्रीय मानक के अनुसार बनाया गया है। इसको और विकसित करने को लेकर यात्री सुविधाओं के अलावा माल के भी आयात-निर्यात को लेकर यह हवाई अड्डा सफल साबित होगा। उन्होंने कहा कि यह बिहार और नेपाल से सटा है। यहां कार्गो हब से साथ-साथ पर्यटन हब भी बनेगा। इस हवाईअड्डे पर बोइंग के साथ एयरबस उतर सकता है।

उन्होंने महाराष्ट्र, गुजरात आदि राज्यों का जिक्र करते हुए बताया कि वहां बन्दरगाह हैं, जहां से लोगों के प्रोडक्ट को एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेजा जाता है और लोगो को अच्छी आमदनी होती है। यहां पर भी चावल, गेंहू, केला, आलू, चीनी, गुड़ और हस्तशिल्प की वस्तुओं को बाहर भेजने की अपार संभावनाएं हैं। इससे किसानो की आय में बढ़ोत्तरी होगी।

तीन महीने में पूरा हो जाएगा निर्माण

डीएम आंद्रा वामसी ने कहा कि निर्माण को लेकर बचे कामों को तीन माह के भीतर पूरा कर चालू कर दिया जायेगा। एटीसी बिल्डिंग का काम शुरू हो चुका है, जो इस वर्ष के अंत तक पूरा कर लिया जायेगा। यहां 1 लाख 17 हजार पर्यटक प्रत्येक वर्ष आते हैं, जिनमें 40 हजार विदेशी पर्यटक होते हैं। यात्री सेवा के साथ साथ कार्गो सेवा शुरू होने से एक तरफ पर्यटन उद्योग में बढ़ोत्तरी होगी तो वहीं दूसरी ओर किसानो की आय में भी चार चांद लगेंगे।

नोडल अधिकारी को बैठाकर प्लेन उड़ा

बैठक के बाद सभी लोग प्लेन की ओर गए। वहां थोड़ी देर तक जिले में निरीक्षण पर आए नोडल अधिकारी रजनीश गुप्ता का इंतजार किया गया। नोडल अधिकारी के आते ही टीम के लोग प्लेन में बैठकर टेकओवर कर गए। इसके पूर्व जहाज आने की सूचना को लेकर गुरुवार की रात डीएम ने देर रात हवाईअड्डे पर पहुंचकर निरीक्षण किया था।

मेहनत रंग लाई, उड़ान को लग जाएंगे पंख : सांसद

कुशीनगर सांसद राजेश पांडेय ने ट्रायल को लेकर कहा कि अर्न्तराष्ट्रीय हवाईअड्डे को लेकर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री दोनों लोग गंभीर हैं। इसको लेकर वे चार वर्षों से प्रयासरत हैं। आज राज्य सरकार द्वारा ट्रायल उड़ान कराई गई। शीघ्र ही सभी औपचारिकताओं को पूरा कराकर पैसेंजर व कार्बो दोनों उड़ानों को शुरू करा दिया जाएगा। इससे पर्यटकों की संख्या चार गुनी होगी और किसानों की आर्थिक स्थिति में तेजी से सुधार होगा।

साढ़े चार वर्ष पूर्व इस हवाईअड्डे पर उतरा था अंतिम विमान

बीएसएफ ने 5 अक्टूबर 2013 को इस हवाईअड्डे को उड़ान को लेकर अयोग्य घोषित कर दिया गया था। विमान ट्रायल के तौर पर तत्कालीन कुशीनगर सांसद व केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री आरपीएन सिंह को 7 अक्टूबर-13 को इलहाबाद में आपीएफ के वार्षिकोत्सव में शामिल होने को लेकर आया था। तत्कालीन राज्यमंत्री गोरखपुर हवाईअड्डे से इलाहाबाद गये थे। उसके बाद से यहां कोई भी विमान नहीं उतरा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *