क्या मेहँदी लगाने से वजू नहीं होता है? जानिए ये अहम मसला…

अस्सलाम वालेकुम भाई और बहनों, आज हम आपको बताएंगे की मेहंदी लगाना सुन्नत है या नहीं? दोस्तो लोग अक्सर सवाल पूछते हैं कि जिन लोगों के बाल सफेद हो चुके हैं क्या वह मेहंदी लगा सकते हैं? क्या मेहंदी लगाने के बाद गुसल और वजू हो सकता है? कुछ लोग यह भी पूछते हैं कि क्या मेहंदी लगाना सुन्नत है ?और क्या औरत के हाथ में हर वक्त मेहंदी लगा होना जरूरी है? मेरे इस्लामिक भाइयों आइए आज हम आपको इन सवालों के जवाब देते हैं.

दोस्तो जैसा कि आप जानते होंगे कि मेहंदी बालों के ऊपर कवर नहीं करती है या नाखूनों पर कवर नहीं करती है जैसा कि नेल पॉलिश करती है मेहंदी बालों में अंदर तक जाती है और हाथों के नाखून के अंदर तक चली जाती है उससे वजू पर कोई फर्क नहीं पड़ता है। जब लड़कियां नेल पॉलिश लगाती है तो नेल पॉलिश उनके नाखूनों को कवर कर लेती है जिसकी वजह से वजू नहीं हो पाता है जबकि मेहंदी लगाने से नाखून कवर नहीं होता है और वज़ू हो सकता है.

google

नबी ए करीम सल्लल्लाहू अलेही वसल्लम ने अबु बकर सिद्दीक र.अ. के वालिद जो फ़तह मक्का के बाद आप सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के पास लाए गए तो आपने अबू बकर सिद्दीक से कहा कि इसे ले जाओ और इसकी किसी बीवी से कहना कि क्योंकि इसके बाल सफेद हो चुके हैं तो इनके बालों को वह रंग दे ध्यान रहे कि बाल काले रंग से ना रंगे.

एक हदीस से पता चलता है कि आप सल्लल्लाहो अलैहे वसल्लम ने सफेद बाल रखने को पसंद नहीं किया और बालों को रंगने का मशवरा दिया। जहां पर उनका मुराद मेहंदी से था और मेहंदी के लाल रंग से था या मेहंदी में कोई बूटी हो तो उससे रंग दिया जाए जो कि हल्का या गाढ़ा लाल रंग देती हो. उन्होंने यह भी कहा कि यहूदियों की मुखालफत करो यहूदी हमेशा सफेद दाढ़ी सफेद बाल और सफेद लीबास रखते थे इसलिए अपनी दाढ़ी और सरों को रंगो बस यह बात याद रहे कि काले रंग से मत रखो.

और इसी तरह आप सल्लल्लाहो अलेही वसल्लम ने औरतों को भी मेहंदी लगाने का हुक्म दिया है इसीलिए मेहंदी को आप की सुन्नत कहा जाता है आपको औरतों के हाथ में मेहंदी लगाना पसंद था। यहां पर एक रिवायत बताना चाहूंगा कि एक खातून का हाथ आपने देखा तो आपने कहा कि यह तो मर्दों जैसा हाथ है आपने ऐसा इसलिए नहीं कहा क्योंकि उसके हाथ मोटे थे आपने ऐसा इसलिए कहा क्योंकि उसके हाथों पर मेहंदी नहीं थी इसलिए सभी औरतों को कोशिश करना चाहिए कि वह मेहंदी लगाएं क्योंकि आप सालअल्लाह वाले वसल्लम को औरतों का हाथ में मेहंदी लगाना पसंद था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *