मां ने गरीबी में सपना देखा, बेटे ने मां के 50वें जन्मदिन पर पूरा किया, जिसने भी सुना कर रहे तारीफ…

ठाणे के उल्हासनगर में एक युवक ने अपनी मां की कई साल पुरानी इच्छा को पूरा करते हुए उन्हें हेलिकॉप्टर में बैठाकर पूरे शहर का चक्कर लगवाया। मां की तमन्ना पूरी करने के लिए बेटे की इस कोशिश को लोग बेहद पसंद कर रहे हैं। उसे कलयुग का श्रवण कुमार कहा जा रहा है।

मंगलवार को उल्हासनगर के रहने वाले प्रदीप गरड की मां रेखा दिलीप गरड का 50वां जन्मदिन था। मां को गिफ्ट देने के लिए प्रदीप ने हेलिकॉप्टर राइड का सरप्राइज इंतजाम किया था। प्रदीप ने बताया कि मंगलवार को वे मां को सिद्धिविनायक ले जाने के बहाने सीधे जुहू के एयरबेस पहुंचे और हेलिकॉप्टर दिखाकर उन्हें सरप्राइज किया। बेटे के इस अनोखे तोहफे को देखकर रेखा अपने आंसू नहीं रोक सकीं और राइड के दौरान कई बार रोईं।

घरों में काम कर 3 बच्चों को पढ़ाया

रेखा के साथ पूरे उनके बेटे-बहू और नाती-पोतों ने भी हेलिकॉप्टर में सफर किया।

रेखा मूल रूप से सोलापुर जिले के बार्शी की रहने वाली हैं। शादी के बाद वे पति के साथ उल्हासनगर शिफ्ट हो गई थीं। रेखा के 3 बच्चे हैं और उनमें प्रदीप सबसे बड़े हैं। प्रदीप जब 7वीं क्लास में पढ़ रहे थे, तभी उनके पिता का निधन हो गया। उसके बाद मां ने बेहद कठिनाई से तीनों बच्चों को पढ़ाया। बच्चों का पेट पालने के लिए दूसरों के घरों में काम भी किया। रेखा के बड़े बेटे प्रदीप आज एक कंस्ट्रक्शन कंपनी में बड़ी पोस्ट पर हैं।

घर के ऊपर हेलिकॉप्टर उड़ता देख मां ने जताई थी इच्छा

प्रदीप ने बताया कि जब वे 12वीं कक्षा में थे, तो उनके घर के ऊपर से एक हेलिकॉप्टर उड़ रहा था। मां ने उसे देखकर पूछा कि क्या हम कभी इसमें बैठ पाएंगे। उसी दिन मैंने ठान लिया था कि एक दिन मां को हेलिकॉप्टर की सैर जरुर कराऊंगा। मां की इच्छा पूरी करने के लिए उनका 50वें जन्मदिन से अच्छा कोई दिन नहीं था। मां अब बहुत खुश हैं और उनका सपना पूरा हुआ है।

मां ने कहा-भगवान ऐसा बेटा सभी को दे

घर की छत पर हेलिकॉप्टर उड़ता देख कई साल पहले रेखा ने इसमें बैठने की इच्छा जताई थी।

एक बेटे का मां को दिया गया यह तोहफा पूरे शहर में चर्चा का विषय है। प्रदीप की नौकरी लगने के बाद पूरा परिवार चॉल से निकलकर फ्लैट में रहने लगा है। बेटे के इस प्रयास के बाद रेखा अपने आंसू रोक नहीं सकी और बार-बार रोती हुईं नजर आईं। इस दौरान रेखा ने कहा,’भगवान ऐसा बेटा हर किसी को दे।’ पूरे परिवार ने करीब आधे घंटे तक हेलिकॉप्टर की सवारी का आनंद लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *