अपनी इस बेटी से शादी करना चाहते थे महेश भट्ट, वजह जान हैरान रह जायेंगे आप

हेलो दोस्तो आज हमको आपको बताने जा रहे हैं महेश भट्ट के बारे में कुछ चौका देने वाले सच. बॉलीवुड की दुनिया जितनी साफ-सुथरी और रंगीन दिखाई देती है इतनी साफ-सुथरी है नहीं. बॉलीवुड की दुनिया के लोगों के कुछ ऐसे राज भी है जिन्हें जानकर लोग दांतों तले उंगलियां दबा देते हैं. चर्चा में बने रहने के लिए फिल्मी हस्तियां कई बार ऐसा कुछ कर जाती है जिसकी वजह से उन्हें चर्चा तो मिल जाती है लेकिन उन्हें सबके सामने शर्मिंदा भी होना पड़ता है.

महेश भट्ट फिल्मी दुनिया की जानी मानी हस्ती है. वे एक निर्माता ही नहीं निर्देशक भी हैं, महेश भट्ट का नाम सफल डायरेक्टर्स में लिया जाता है. महेश भट्ट ने “मंजिलें और भी है” से अपने निर्देशन की शुरुआत की थी, महेश भट्ट द्वारा निर्देशित फिल्म “सारांश” को मॉस्को अंतरराष्ट्रीय फिल्म उत्सव में दिखाया गया था. सारांश की कहानी के लिए महेश भट्ट को सर्वश्रेष्ठ कहानी का फिल्म फेयर पुरस्कार भी मिला था.

google

हमेशा से रोमांटिक फिल्म बनाने वाले महेश अपने बयानों की वजह से मीडिया में बवाल खड़ा करते आय है, उन्होंने कई बार ऐसा बयान दिया है जिसे सुनकर पूरी दुनिया हैरान हो गई. महेश भट्ट एक रंगीन मिजाज के व्यक्ति है इस बात का पता उनकी द्वारा निर्देशित फिल्म से ही लगाया जा सकता है. महेश भट्ट को उस समय सबसे ज्यादा आलोचना का सामना करना पड़ा जब एक मैगजीन के कवर पर उनकी फोटो उनकी बेटी के साथ छपी इस फोटो में महेश भट्ट ने अपनी बेटी पूजा भट्ट के साथ लिप लॉक किया था. इस तरह की श’र्म’ना’क फोटो को केवल भारत देश ही नहीं बल्कि कहीं भी स्वीकार नहीं किया जा सकता है. धीरे-धीरे करके इस मुद्दे ने विवाद का रूप ले लिया.

इसी विवाद से बचने के लिए महेश भट्ट को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाकर अपनी सफाई देनी पड़ी लेकिन बात तब और भी बिगड़ गई जब उन्होंने अपनी सफाई के दौरान यह कह दिया कि यदि पूजा भट्ट मेरी बेटी नहीं होती तो मैं उनसे शादी कर लेता. मीडिया ने इस बात को और उछाला और फिर महेश भट्ट ने इस बात के लिए भी माफी मांगी और कहा कि पिछले समय में जो विवाद खड़े हुए उसके कारण मैं डिप्रेशन में चला गया था और डिप्रेशन के कारण ही मैंने ऐसा बयान दे दिया.

google

70 साल के होने जा रहे हैं महेश भट्ट का जन्म मुंबई में हुआ था उनके पिता हिंदू और माता मुस्लिम थी वे अपने पिता से बहुत दूरी बनाए रखते थे. उनका कहना था कि वह अपने पिता की नाजायज औलाद है उन्होंने यह भी बताया कि जिस समय उनका जन्म हुआ उनके पिता ने उनकी माता से शादी नहीं की थी.

महेश भट्ट ने आशिकी और जख्म जैसी सदाबहार फिल्मों का निर्देशन किया है, रोमांटिक मिजाज से महेश भट्ट की मुलाकात उनके कॉलेज में गोरी ब्राइट नाम की एक लड़की से हुई जिसका नाम उन्होंने बाद में किरण रख दिया. किरण से शादी के बाद उनका दिल भाभी पर आ गया. भाभी के साथ अफ़ेयर की खबर सुनकर किरण ने उनको छोड़ दिया बाद में उन्होंने सोनी राजदान से शादी कर ली. सोनी राजदान से शादी करने के लिए उन्होंने अपना धर्म तक बदल दिया. महेश भट्ट के चार बच्चे हैं पूजा भट्ट, आलिया भट्ट, शाहीन भट्ट और राहुल भट्ट.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *