इसे पी लेने से एक दिन में ही शरीर की पूरी गंदगी हो जाएगी साफ, बस अपनाने होंगे ये घरेलू उपा’य ..

हम सभी जानते हैं की लंबी जिंदगी के लिए स्वस्थ होना बेहद जरूरी है लेकिन ये बात भी सच है की आजकल व्यक्ति अपने काम में इतन ब्यस्त हो जाता है की वो खुद पर ध्यान नहीं दे पाता है और यही वजह है की इंसान आए दिन कई तरह की बिमारियों से घिरा रहता है वैसे ये बात तो सच है की हमारे शरीर में कई अंग होते हैं जिसका अलग अलग महत्व होता है लेकिन आज हम बात करेंगे लीवर के बारे में जो की हमारे शरीर का बहुत ही महत्वपूर्ण अंग होता है, इसके बिना जीवन नहीं हो सकता।

लीवर शरीर की सबसे बड़ी ग्रंथि है, जो पित्त का निर्माण करती है। पित्त, यकृती वाहिनी उपतंत्र तथा पित्तवाहिनी द्वारा ग्रहणी तथा पित्ताशय में चला जाता है। पाचन क्षेत्र में अवशोषित आंत्ररस के उपापचय का यह मुख्य स्थान है। हम जो कुछ भी खाते या पीते हैं, वह लिवर से होकर ही गुजरता है। हमारा लिवर अनेक जटिल कार्य करता है। यह संक्रमण और बीमारियों से लड़ता है, हमारे रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करता है। हमारे शरीर से विषैले तत्व को बाहर निकालता है, कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करता है।

आपको बता दें की आज के समय में कई लोग ऐसे बहुत से लोग हैं जो लीवर संबंधी समस्याओं से जूझ रहे हैं। इन समस्याओं का मुख्य कारण अनियमित खानपान और गलत जीवनशैली है। इसलिए आज इस लेख के जरिए हम आपको एक ऐसे तरीके के बारे में बताने जा रहे हैं जिससे आप अपने लीवर की सफाई कर सकते हैं इसके लिए आज हम आपको एक जबरदस्त घरेलु नुस्खा बताने जा रहे है। आपको लि‍वर संबंधी कोई समस्या तो नहीं है, आपको शरीर की प्रतिक्रियाओं पर विशेष रूप से नजर रखना होगा और उनमें होने वाले बदलाव एवं लक्षणों को गंभीरता से लेना होगा।

दरअसल हम रोजाना की दिनचर्या में कई ऐसी वस्तुओं का इस्तेमाल करते हैं जिससे कई सारी बिमारियों को दूर किया जा सकता है लेकिन वहीं ये भी बता दें की इसके बारे में हर किसी को पता नहीं होता है। जैसा की आप सभी जानते भी होंगे की हल्दी हम सभी के घरों में प्रयोग किया जाता है और आयुर्वेद में भी इसे औषधि माना जाता है लेकिन वहीं आपको शायद ये नहीं पता होगा की हल्दी हमारे लीवर को स्वस्थ रखने में बहुत मदद करता है।

हल्दी प्रोटीन, फाइबर, विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन के, पोटेशियम, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम और जस्ता जैसे पोषक तत्वों से भी भरपूर है, इसके सेवन से हमारे शरीर को बहुत लाभ प्राप्त होता है। औषधि ग्रंथों में इसे हल्दी के अतिरिक्त हरिद्रा, कुरकुमा लौंगा, वरवर्णिनी, गौरी, क्रिमिघ्ना योशितप्रीया, हट्टविलासनी, हरदल, कुमकुम, टर्मरिक नाम दिए गए हैं। आयुर्वेद में हल्‍दी को एक महत्‍वपूर्ण औषधि‍ कहा गया है। भारतीय रसोई में इसका महत्वपूर्ण स्थान है और धार्मिक रूप से इसको बहुत शुभ समझा जाता है। विवाह में तो हल्दी की रसम का अपना एक विशेष महत्व है।

बताते चलें की हल्दी कुरक्यूमिन लीवर और बाकी शारीरिक अंगों की सफाई करने वाले ग्लूटाथिओन का निर्माण करता है। इसे तैयार करने के लिए आपको सबसे पहले एक गिलास पानी में 1/4 चम्मच हल्दी डालकर अच्छी तरह से मिला लें और तैयार मिश्रण का सेवन करें। दिन में दो बार ऐसा करने से आपका लीवर शुद्ध हो जाएगा। आप इसका मिश्रण गरम दूध का उपयोग करके भी बना सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *