पाक के खिलाफ भारत के साथ आया दुनिया का सबसे ताकतवर देश, अब दिखेगा असली एक्शन

पुलवामा आतंकी हमले से पूरा भारत परेशान और दुखद स्तिथि में है वही पाकिस्तान ने इस हमले से पल्ला झाड़ लिया है, पाकिस्तान से कोई भी उम्मीद नही है कि वो इस हमले के खिलाफ कोई ऐक्शन लेंगे, हमले की ज़िम्मेदारी खुद जैस मुहम्मद आंतकी संगठन ने लिया है जो पाकिस्तान का हिस्सा है, हमले में भारत के साथ विश्व का सबसे बड़ा देश तैयार है, पाकिस्तान के अब अच्छे दिन खत्म और बुरे दिन शरू होगये हैं.

पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले में 44 जवान सी आर पी एफ के शहीद हो गये, पाकिस्तान ने इसपे कार्रवाई करने के बजाय खुद हिंदुस्तान पर आरोप लगा दिया है कि वो कश्मीर के लोगो को परेशान कररहे और हमे बदनाम कररहे हैं, पाकिस्तान की मीडिया ने आतंकवादियों को आज़ादी के लड़ाके कहा है और पाकिस्तान ने कहा है इस हमले में हमारा कोई हाथ नही है.

google

मोदी सरकार ने इस आक्रमण के बाद कई बड़े कदम उठा लिये है, सरकार ने पाकिस्तान से बदला लेने की पूरी तैयारी करली है और पाकिस्तान को ज़बरदस्त चोट दी है जो अभी आर्थिक मोर्चे पर है, मोदी सरकार ने पाक सामानों पर 200% टैक्स बढ़ा दिए हैं इससे वहां आर्थिक दिक्कते आना ही है इसके साथ सरकार पाकिस्तान को विदेशी मुद्रा मिलने से भी रोकने की कोशिश कर रही है.

भारत के साथ विश्व का सबसे ताकतवर देश अमेरिका आंतकवाद से लड़ने के लिए आगे आया है, राष्ट्रीय सलाहकार अजीत डोभाल को इस कामयाबी की खबर मिली है, डोभाल ने अपने अमेरीकी साथी जॉन बोल्टन से बात किया, इसके बाद बोल्टन ने बताया अमेरिका भारत के साथ है. उन्होंने कहा पाकिस्तान को जैस मुहम्मद जैसे आंतकवादियो के ठिकानों को खत्म करना होगा और उन्होंने कहा इस हमले के बाद वो भारत के साथ है, आतंकवाद का जड़ से सफाया होगा.

google

अमेरिका के NSA जॉन बोल्टन ने आतंक के खिलाफ लड़ाई में भारत का साथ देने का आश्वासन दिया।शुक्रवार को एन एस ए बोल्टन ने फ़ोन पर बात करते हुए शहीदो के लिये दुख ज़ाहिर किया और कहा भारत के साथ आतंकवाद के खिलाफ खड़े रहेंगे और शहीदो को इंसाफ दिलायेगें ताकि फिर कोई आतंकवाद सर न उठा सके।उन्होंने कहा हम पाकिस्तान से भी इस मसले पर बात कर रहे है. इससे पहले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने भी पाकिस्तान को आतंकी गुटो की मदद व पनाह देने को बंद करने के लिए कहा था, ट्रम्प ने कहा,’आतंकवाद को पनाह देना बन्द करदे क्योकि देश मे हिंसा और आतंक फैलाना उनका लक्ष्य है’.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *