राज कुंद्रा पर चल रही है शनि ढैय्या, जानें तुला राशि वालों को शनि कब तक करेंगे परेशान

इंटरनेट से मिली जानकारी के अनुसार राज कुंद्रा (Raj Kundra) का जन्म 9 सितंबर 1975 में हुआ था। इनकी जन्म राशि तुला है। ज्योतिष अनुसार तुला वालों पर इस समय शनि ढैय्या (Shani Dhaiya) चल रही है।
Shani Dhaiya Going On Raj Kundra: अश्लील फिल्में बनाने के आरोप में गिरफ्तार हुए शिल्पा शेट्टी (Shilpa Shetty) के पति राज कुंद्रा की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं। इस केस में रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं। इंटरनेट से मिली जानकारी के अनुसार राज कुंद्रा का जन्म 9 सितंबर 1975 में हुआ था। इनकी जन्म राशि तुला है। ज्योतिष अनुसार तुला वालों पर इस समय शनि ढैय्या चल रही है। ज्योतिष से जानिए क्या होती है शनि ढैय्या और व्यक्ति के जीवन पर इसका क्या पड़ता है प्रभाव?

problems solution shani dev totka

शनि ढैय्या का प्रभाव: शनि एक राशि में ढाई साल तक विराजमान रहते हैं। जब शनि गोचर काल से चौथे या आठवें भाव में स्थित होते हैं तब ये स्थिति शनि ढैय्या कहलाती है। शनि ढैय्या के दौरान व्यक्ति को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। आर्थिक मामलों को लेकर उतार-चढ़ाव बना रहता है। फिजूल खर्चे काफी बढ़ जाते हैं जिससे कई बार आर्थिक तंगी का सामना भी करना पड़ सकता है। मानसिक तनाव काफी ज्यादा रहते हैं। परिवार वालों के साथ मतभेद होते रहते हैं। कोर्ट-कचहरी के चक्कर में फंसना पड़ सकता है। बुरी आदतों की लत लग सकती है।

शनि ढैय्या के दौरान इन गतिविधियों से बचें:

शनि ढैय्या के दौरान नशे दे दूर रहना चाहिए।किसी को परेशान नहीं करना चाहिए।गलत तरीके से धन कमाने से बचना चाहिए। नहीं तो आपराधिक मामले में जेल तक हो सकती है।झूठ नहीं बोलना चाहिए।किसी महिला का अपमान नहीं करना चाहिए।पैसों के लेन-देन में समय सावधानी बरतनी चाहिए।

तुला वालों पर कब तक रहेगी शनि ढैय्या: इस राशि वालों पर 24 जनवरी 2020 से ही शनि ढैय्या चल रही है। तुला शनि की उच्च राशि है और इन्हें शनि ढैय्या से मुक्ति 29 अप्रैल 2022 को मिलेगी। लेकिन 2022 में ही शनि 12 जुलाई से फिर से वक्री अवस्था में मकर राशि में गोचर करने लगेंगे और 17 जनवरी 2023 तक इसी राशि में रहेंगे। इसके बाद कुंभ राशि में वापस लौट आयेंगे। यानी तुला वालों को शनि ढैय्या से पूर्ण रूप से मुक्ति 17 जनवरी 2023 में ही मिलेगी।

shani dev

शनि ढैय्या के दौरान क्या करें उपाय:

शनि ग्रह को मजबूत करने के लिए भगवान शिव और हनुमान जी की उपासना करनी चाहिए।शनि की शांति के लिए महामृत्युंजय मंत्र का जप करने की भी सलाह दी जाती है।शनि दोष से मुक्ति के लिए शनिवार के दिन शनि से संबंधित चीजें जैसे काले तिल, उड़द दाल, लोहा, भैंस, सरसों तेल, काले कपड़े, काली गाय और काले जूते का दान कर सकते हैं।शनि ढैय्या से मुक्ति के लिए काले कुत्ते को रोटी खिलाना, पालना और उसकी सेवा करना भी उत्तम उपाय बताया गया है।जरूरतमंदों की सहायता करनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *