डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट, कारोबारियों के साथ सरकार भी परेशान

नई दिल्ली। विदेशी मुद्रा बाजार में डॉलर के मुकाबले रुपया आज कमजोरी के साथ खुला। आज डॉलर के मुकाबले रुपया 2 पैसे की कमजोरी के साथ 74.10 रुपये के स्तर पर खुला। वहीं, गुरुवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 75 पैसे की कमजोरी के साथ 74.08 रुपये के स्तर पर बंद हुआ। डॉलर में कारोबार काफी समझदारी से करने की जरूरत होती है, नहीं तो निवेश पर असर पड़ सकता है।

जानिए पिछले 5 दिनों के रुपये का क्लोजिंग स्तर

गुरुवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 75 पैसे की कमजोरी के साथ 74.08 रुपये के स्तर पर बंद हुआ।-मंगलवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 4 पैसे की कमजोरी के साथ 73.31 रुपये के स्तर पर बंद हुआ।-सोमवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 20 पैसे की कमजोरी के साथ 73.27 रुपये के स्तर पर बंद हुआ।-शुक्रवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 2 पैसे की कमजोरी के साथ 73.07 रुपये के स्तर पर बंद हुआ।-बुधवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 8 पैसे की कमजोरी के साथ 72.98 रुपये के स्तर पर बंद हुआ।

जानिए रुपये के कमजोर या मजबूत होने का कारण

रुपये की कीमत इसकी डॉलर के तुलना में मांग एवं आपूर्ति से तय होती है। वहीं देश के आयात एवं निर्यात का भी इस पर असर पड़ता है। हर देश अपने विदेशी मुद्रा का भंडार रखता है। इससे वह देश के आयात होने वाले सामानों का भुगतान करता है। हर हफ्ते रिजर्व बैंक इससे जुड़े आंकड़े जारी करता है। विदेशी मुद्रा भंडार की स्थिति क्या है, और उस दौरान देश में डॉलर की मांग क्या है, इससे भी रुपये की मजबूती या कमजोरी तय होती है।

rupee opened against the dollar

महंगा डॉलर का जानिए आप पर असर

देश में अपनी जरूरत का करीब 80 फीसदी क्रूड ऑयल का आयात करना पड़ता है। इसमें भारत को काफी ज्यादा डालर खर्च करना पड़ता है। यह देश के विदेशी मुद्रा भंडार पर दबाव बनाता है, जिसका असर रुपये की कीमत पर पड़ता है। अगर डॉलर महंगा होगा, तो हमें ज्यादा कीमत चुकानी पड़ती है, और अगर डॉलर सस्ता हो तो थोड़ी राहत मिल जाती है। रोज यह उठा पटक डॉलर के मुकाबले रुपये की स्थिति को बदलती रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *