सलमान को ध’म’काने के बाद विवेक ओबेरॉय के बदले तेवर, अब कांग्रेस को…

हेलो दोस्तो आज हम आपके लिए लाए हैं चुनाव से जुड़ी हुई एक बड़ी खबर ।दोस्तों खबरें मिली है कि चुनाव से पहले एक फिल्म आ रही है जिसका नाम है “नरेंद्र मोदी”। यह नरेंद्र मोदी की बायोपिक है इस फिल्म की रिलीजिंग डेट है 5 अप्रैल यानी कि चुनाव की तारीख से सिर्फ एक हफ्ता पहले यह फिल्म रिलीज हो रही है। दोस्तों संशय और सवाल यह है कि क्या चुनाव से पहले इस फिल्म को रिलीज करना आचार संहिता का उल्लंघन करना नहीं है? क्या यह वोटर्स को इनफ्लुएंस करने की बात नहीं है?

दोस्तों ऐसे तो नरेंद्र मोदी को लेकर कई फिल्में बन रही है लेकिन इस फिल्म में मुख्य किरदार यानी की मोदी का किरदार निभाने वाले हैं विवेक ओबेरॉय। दोस्तों यह फिल्म रिलीज होने से पहले कई विवादों से घिर चुकी है लेकिन सबसे बड़ा विवाद इसकी रिलीजिंग डेट है यह चुनाव से 6 दिन पहले ही रिलीज की जा रही है लेकिन इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक फिल्म की रिलीजिंग डेट अब एक हफ्ता आगे बढ़ा दी गई है यानी कि यह फिल्म अब 12 अप्रैल को रिलीज होगी.

google

दोस्तों जैसा कि हर फिल्म के रिलीज होने से पहले फिल्म का प्रमोशन होता है उसी तरह इस फिल्म का भी प्रमोशन जोरों से चल रहा है इस फिल्म के सभी कलाकार फिल्म को हिट करवाने के लिए जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं और इस फिल्म के मुख्य किरदार के लिए विवेक ओबरॉय ने खूब मेहनत की है लेकिन विवेक ओबेरॉय ने इस फिल्म को लेकर अपने एक इंटरव्यू में कुछ ऐसी बातें बोल दी है जो उन्हें शायद नहीं बोलनी चाहिए।एक इंटरव्यू के दौरान विवेक ओबेरॉय ने कहा कि इस फिल्म में नरेंद्र मोदी को इस तरह दिखाया गया है जैसे कि वह असल जिंदगी में है ।वह ना केवल अपने देश में लोगों के हीरो है बल्कि विदेशों में भी वह लाखों दिलों पर राज करते हैं.

इंटरव्यू के दौरान विवेक ओबेरॉय से बहुत सारे सवाल पूछे गए और उन्होंने सबके जवाब बखूबी दिये लेकिन जब इस फिल्म के विवादों में घिरे होने की बात पर सवाल किया गया तो विवेक ओबेरॉय ने कहा कि मुझे समझ नहीं आ रहा है कि लोग इस फिल्म को लेकर इतना ओवर दिया क्यों कर रहे हैं अभिषेक सिंघवी जी और कपिल सिब्बल जी जैसे बड़े वकील इस फिल्म को लेकर अपना वक्त क्यों बर्बाद कर रहे हैं पता नहीं वह इस फिल्म से डर रहे है या चौकीदार के डंडे से?

google

दोस्तो लाखों दिलों पर राज करने वाले और कृष जैसी बड़ी फिल्मों में विलेन का किरदार निभाने वाले विवेक ओबेरॉय जिन्हें बच्चे से लेकर बूढ़े भी पसंद करते हैं उन्हें इस प्रकार की बातें शोभा नहीं देती है शायर विवेक ओबेरॉय यह भूल चुके हैं कि इस फिल्म में वह केवल नरेंद्र मोदी का किरदार निभा रहे हैं फिल्म की शूटिंग खत्म होते हैं उन्हें नरेंद्र मोदी के किरदार से बाहर आ जाना चाहिए। लोगों के सवालों का जवाब विवेक ओबेरॉय इस प्रकार दे रहे हैं जैसे कि वह खुद ही नरेंद्र मोदी हो या फिर नरेंद्र मोदी की पार्टी से कोई नेता हो.

दोस्तों यह पहली बार नहीं है जब विवेक ओबेरॉय ने खुद विवादों को अपनी ओर खींचा है इससे पहले भी उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऐसा ही कुछ किया था। विवेक ओबेरॉय ने सलमान खान को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बहुत सारी धमकियां दी थी और बाद में वह कई जगहों पर सलमान खान से माफी मांगते हुए भी दिखाई दिए.

google

लोगों का मानना है कि विवेक ऐसा पब्लिसिटी पाने के लिए करते रहते हैं क्योंकि कई बड़ी फिल्मों जैसे कंपनी ,कृष और साथिया में काम करने के बावजूद विवेक ओबेरॉय बॉलीवुड के सुपर हिट हीरोज की लिस्ट में अपना नाम दर्ज नहीं कर पाए शायद इसीलिए वह ऐसा करते रहते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *