11 अक्टूबर को शनि हो रहे मार्गी, जानिये किन राशि वालों को मिलेगा शुभ परिणाम और किन्हें रहना होगा सावधान

शनि के मार्गी होने पर वृष और सिंह राशि के जातकों को अधिक सावधान रहने की जरूरत होगी। साथ ही धनु राशि के जातकों को शुभ परिणाम मिलेंगे। Shani Margi 2021: सभी राशियों में शनि ग्रह को सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र की मानें तो तीनों लोकों में न्याय और दण्ड के देवता शनि देव की महादशा, साढ़े साती और ढैय्या हर व्यक्ति पर एक-ना-एक बार जरूर पड़ती है। माना जाता है कि शनिदेव व्यक्ति को उसके कर्मों के हिसाब से फल देते हैं। जो मनुष्य अच्छे कर्म करता है, उसे साढ़े साती और ढैय्या के दौरान शुभ फलों की प्राप्ति होती है, वहीं जो व्यक्ति बुरे कर्म करता है, उसका सबकुछ नष्ट हो जाता है।

सभी 9 ग्रहों में शनिदेव सबसे धीमी चाल से चलते हैं। इसी कारण एक राशि को बदलने में इन्हें ढाई साल का समय लगता है। जब भी शनि देव वक्री या फिर मार्गी अवस्था में आते हैं, तो सभी राशि के जातकों पर अलग-अलग तरह का प्रभाव पड़ता है। बता दें कि 23 मई 2021 से शनि, मकर राशि में वक्री चाल से चल रहे हैं। अब पूरे 141 दिन बाद यानी 11 अक्टूबर को शनि ग्रह मार्गी होने जा रहे हैं।

11 अक्टूबर को सबुह 8 बजे शनि मार्गी हो जाएंगे। शनि के मार्गी होने का जहां कुछ राशियों को शुभ परिणाम मिलेगा वहीं कुछ राशि के जातकों को इस दौरान सावधान रहने की जरूरत है। शनि के मार्गी होने पर जहां धुन राशि के जातकों को शुभ परिणाम मिलेगा वहीं मकर और कुंभ राशि के जातकों की कुछ परेशानियां दूर होंगी। मिथुन, तुला और धनु राशि के आर्थिक लाभ के भी प्रबल संयोग बन रहे हैं।

ये राशि वाले रहे सावधान: शनि के मार्गी होने पर वृष और सिंह राशि के जातकों को अधिक सावधान रहने की जरूरत होगी। क्योंकि आर्थिक समस्याओं के साथ-साथ शारिरिक समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है।


2022 में होगा राशि परिवर्तन: शनि ग्रह फिलहाल मकर राशि में गोचर कर रहे हैं। साथ ही मिथुन और तुला राशि वालों पर ढैय्या और धनु, मकर और कुंभ राशि के जातकों पर साढ़े साती चल रह है। साल 2022 में 29 अप्रैल को शनि मकर से कुंभ राशि में परिवर्तन करेंगे, जिससे धनु राशि वालों को शनि साढ़े साती से मुक्ति मिल जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *