सूरा कौ’सर की यह आयत कर देगी आपकी रिज़्क़ की परेशा’नी को ख़’त्म, कम से कम एक क’रोड़ लोगों ने आज़माया

1
27

अस्सलाम वालेकुम मेरे प्यारे भाइयों और बहनों आज कल हर कोई पैसा कमाने के लिए परेशान है ।तो आज हम आपके लिए लाएं हैं एक ऐसी सूरह जो आपके रिज़्क़ की परेशानी को दूर कर देगी। जी हाँ मेरे भाइयों सूरह कौसर की ये आयत कर देगी आप के रिज़्क़ में इज़ाफ़ा। कम से कम 1 क’रोड़ लोगों ने आज़माया है आप भी एक बार जरूर आज़माएं। सूरह कौसर क़ुरान की 108वीं सूरह है जिसके अंदर 3 आयत है इन आयतों में ये साफ कहा गया है कि हर मुश्किल से बचाने वाला और सब कुछ देने वाला सिर्फ अल्लाह है औऱ वो अपने बन्दों को कभी मायूस नहीं करता है.

मेरे भाइयों इस सूरत का दर्जा बहुत आला है और इसको पढ़ने से ज़िंदगी मे कुछ भी हासिल किया जा सकता है और इस सूरह को पढ़कर आप अपने लिए जन्नत के दरवाजे भी खोल सकते हैं। दोस्तों इन आयतों को पढ़ना बहुत ही आसान है और आप इनको अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में कभी भी वक्त निकाल कर पढ़ सकते हैं ।सूरह कौसर एक ऐसी आयत है जो सीधे जन्नत से उतरी है और इसका फायदा सिर्फ अल्लाह को मानने वालों के लिए ही है.

google

बुखारी शरीफ में लिखा है कि हर इंसान को जीने के लिए पैसे की जरूरत होती है और पैसा कमाने के लिए इंसान अपनी पूरी कोशिश और मेहनत करता है ।किसी की कोशिश पूरी हो जाती है तो कई लोग ऐसे भी होते हैं जो जितना कमाते हैं उनकी सारी कमाई उनकी जरूरतें पूरी करने में ही खत्म हो जाती है ।क्योंकि उन लोगों की कमाई में बरकत नहीं होती है वह जितना भी कमा ले सब खत्म हो जाता है बचता ही नहीं है.

अगर आपको भी लगता है कि आप जितना कमाते हैं वह सब जल्दी खत्म हो जाता है और जरूरत पूरी होने से पहले ही पैसे खत्म हो जाते हैं तो दोस्तो आप भी आज से सुरह कौसर पढ़ना शुरू कर दीजिए फिर देखिए रिज़्क़ मे बरकत लाने का इससे बेहतर तरीका और कोई नहीं है। इस सूरह को पढ़ने से अल्लाह ताला से ताल्लुक कायम होता है। और हम अल्लाह की रहमत के हकदार बन जाते हैं तो आइए मेरे दोस्तों अब मैं सूरह कौसर पढ़कर आपको बता देता हूं.

google

इन्ना आतयनत कलकौसर फसल्ली रब्बिका वनहार ,इन्ना शनिअका हुवाल अबतर। दोस्तों ये है सूरह कौसर जो बहुत ही छोटी सी सूरह है। अब आइए हम आपको बताते हैं कि इसके फायदे क्या क्या है? अगर आपको अल्लाह की रेहमत चाहिए तो आप सूरह कौसर पढिये।अगर आप को जन्नत चाहिए तो आप सूरह कौसर पढ़िये। रिजक में बरकत लाने के लिए और अपनी जिंदगी में खुशहाली लाने के लिए आप इस सूरह को पढ़ सकते हैं जिंदगी में तकलीफों को खत्म करने के लिए हर तरफ से तरक्की पाने के लिए कमाई में बरकत के लिए दुश्मनों से छुटकारा पाने के लिए.

सूरह कौसर को आप कभी भी पढ़ सकते हैं जितना ज्यादा आप इसे पढ़़ेंगे आपको उतना ही ज्यादा फायदा होगा सूरह कौसर पढ़ने से सवाब मिलता है और इसका फायदा आपको अपनी जिंदगी में मिलेगा और म’र’ने के बाद भी मिलेगा। मेरे भाइयों अगर आप भी इस सूरह का फायदा उठाना चाहते हैं तो इस जुम्मे से ही आप इसे पढ़ना शुरू कर दें और हर वक्त अपनी जबान पर इसे दोहराते रहे.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here