सुरह यासीन की एक आयत का कमाल, बीवी शौहर की और शौहर की मोहब्बत में दीवाना, मोहब्बत का…

सूरः यासीन का वज़ीफ़ा, अस्सलामोअलैकुम नाज़रीन भाइयों और बहनों अल्लाह ताला ने दुनिया मे सबसे पहला रिश्ता मियां बीवी का बनाया है।दोनो में मोहब्बत पैदा की, औरत को शौहर का लिबास कहा गया है। आज हम आपको 1 मिंया बीवी की मोहब्बत का वाक्या बताते हैं- एक मियां बीवी बहुत गरीब था वह मजदूरी करता था और घर का खर्चा चलाता था मगर मियां बीवी में आपस में मोहब्बत थी जब शादी का दिन आता जिसको एनिवर्सरी कहते हैं दोनों उस दिन पर एक दूसरे को कोई छोटा-मोटा गिफ्ट देते.

उसके बाद एक ऐसा वक्त आया कि शौहर के पास खर्च करने को कुछ भी नहीं था और बीवी के पास भी कुछ बचत नहीं थी लेकिन जब शादी का दिन करीब आया मियां बीवी दोनों के बीच मोहब्बत थी कि हम एक दूसरे को गिफ्ट करें। अल्लाह की शान देखिये। बीवी जा रही थी उसने रास्ते मे दुकान देखी उस दुकान पर विग बिक रही थी उसने दुकानदार से पूछा यह कैसे बनती है? तो दुकानदार ने जवाब दिया जिसके बाल बहुत बड़े होते हैं वह अपने बाल काट कर बेच देता है और इससे यह बनती है तो उस औरत ने कहा कि अगर मैं अपने बाल कटवा दूं तो तुम उसके बदले मुझे अच्छे पैसे दे दोगे और उसके दिल में चाहत थी कि उसे पैसे मिलेंगे तो वह एनिवर्सरी के दिन अपने शौहर को तोहफा देगी अपने बाल कटवा दिए उसके बदले में उसने पैसे ले लिये, सोचने लगी क्या गिफ्ट खरीदें?

google

उसके मिंया के पास एक गोल घड़ी थी उसकी चैन नहीं थी तो उसने अपने पति के लिए घड़ी की चेन लिया फिर घर आई दोनो ने साथ खाना खाया फिर बीवी ने अपने शौहर को सारी बात बताई मैंने आपकी घड़ी के लिये प्यारी सी चन खरीदी है तो शौहर की आंखो में आंसू आगये बीवी बोली आप रो क्यो रहे शौहर ने कहा मैंने भी सोचा था कि मैं तुम्हें गिफ्ट दूंगा इसलिए मैंने उस घड़ी को बेच दिया उसके बदले में तुम्हारे लिए हेयर क्लिप लेकर आया हूं.

शौहर के लिए घड़ी की चेन लेकर आई तो शौहर घड़ी बेच चुका था। गरीबी अपनी जगह मोहब्बत और प्यार सबसे बढ़कर है। शरीयत ये चाहती है मिया बीवी जितनी मोहब्बत से ज़िन्दगी गुज़ारेंगे उन्हें उतना अजर व सवाब मिलेगा। आज आप अपने समाज मे नज़र डालें तो हर जगह मिंया बीवी में झगड़े फसाद बीवियों को गाली देना,मा-रना ये सब आसान हो गया है.

google

तलाक दिन पर दिन बढ़ता जा रहा।ऐसे हालात में ज़्यादातर शौहर अपनी बीवी को घर से निकाल देते हैं जिन बीवियों के शौहर ऐसे हैं उन्हें घर से निकाल देते हैं वह लड़कियां मजबूर है मां बाप भाई बहन या किसी अजीज के घर में भटकना पड़ता है ऐसी बीवी अपने बच्चों के बेहतर मुस्तकबिल के लिए बहुत सी परेशानियां और रोज़ी रोटी का सामना करने पर मजबूर होती है रोजमर्रा की जिंदगी में भाइयों बहन भाइयों की मोहताज हो जाती हैं. अल्लाह से दुआ करती है कि किसी तरह शौहर और उसके साथ सब ठीक हो जाय.

आज हम आपको ऐसा अमल बताते है जिससे शौहर आपके दीवाने हो जाय। ये अमल बहुत छोटा और आसान है- सूरः यासीन की आयत नम्बर 9 है इसकी बरकत से मिया बीवी की मोहब्बत लोगो के लिये मिसाल बन जायगी। आयत नम्बर 9-” वजअलना मिम बैनी ऐदिहिम सददौ व मिन खल्फ़ीहिम सददन फाअगशयनाहुम फहुम लायुबसिरुन” 21दफह पढ़कर अव्वल आखिर 3,3 मर्तबा दरूद इब्राहीमी पढ़कर किसी मीठी चीज़ पर दम करदे और दिन में किसी भी समय मिंया को खिला दे। ये अमल 21 दिन करना होगा इससे सारी शिकायते दूरहोजायगी।ये बहुत ही फायदेमंद वज़ीफ़ा है इसे करे जल्द असर दिखेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *