भाई बहन ने पहले रचाई शादी, बाद में सब मर्या’दा’यों को भूलकर किया ऐसा किया कि श’र्म से

आजकल के वक्त में अक्सर लोग अपने रिश्तो की मर्या’दा’ओं को भू’ल’ते जा रहे हैं। बड़े बु’जु’र्गों द्वारा कहा जाता था कि कलयुग का ऐसा दौर आएगा कि हर रिश्ते की परिभाषा बदल जाएगी। आज वही बात सच हो रही है। लोगों में रिश्तो का कोई मोल नहीं बचा है। आज हम आपको एक ऐसी खबर के बारे में बताने जा रहे हैं।

जिसे पढ़कर आप यह कहने को म’ज’बूर हो जाएंगे की असल में आज के वक्त में लोग अपने रिश्तो की म’र्यादा’ओं को भू’ल चुके हैं। यह मामला हरियाणा के यमुनानगर का बताया जा रहा है। जहां ऑ’नर कि’लिं’ग के ड’र से एक प्रेमी जोड़े ने लगातार 4 घंटे तक वकील के चैंबर में मेज के नीचे छु’प’ने का सहारा लिया।

बताया जाता है कि इस दौरान लड़की के घर वाले बाहर ही खड़े थे इसलिए वह दोनों मेज के नीचे छु’प कर बैठे रहे। वकील ने इस मामले में पुलिस को जानकारी दी तो पुलिस ने दोनों को अपने साथ रख ले जा कर मामले को शां’त करने की कोशिश की इसके बाद इस प्रे’मी जो’ड़े को को’र्ट में पे’श किया गया। गौरतलब है, कि जज ने उन्हें पु’लि’स की सुर’क्षा में एक से’फ घर में भेज दिया।

आपको जान कर है’रा’नी होगी कि ये प्रेमी जोड़ा पहले एक दूसरे के भाई बहन थे। इसी वजह से इनके घरवाले इनकी शादी के खि’ला’फ थे। आईये आपको पूरा मा’म’ला वि’स्ता’र से बताते हैं। दरअसल लड़की की मुलाकात एक साल पहले अपनी मौसी की जेठानी के बेटे से हुई थी। बस तभी से ही इन दोनों के बीच ल’गा’व हो गया और बात आगे बढ़ती बढ़ती प्यार तक पहुंच गई।

यह दोनों एक दूसरे से इतना प्यार करने लगे की शादी करने के लिए घर से भाग गए। बताया जाता है कि यह प्रेमी जोड़ा 21 जुलाई से अपने घर से फ’रा’र हुआ था और 22 जुलाई को इन्होंने मंदिर में जा कर शादी कर ली। लेकिन इन दोनों को अपने परिवार का डर सता रहा था। क्योंकि वह इस रिश्ते के खि’ला’फ थे।

इसलिए उन्होंने को’र्ट में जाकर सुर’क्षा लेने की अ’पी’ल की। लेकिन जब इस बारे में दोनों के रि’श्ते’दा’रों को पता चला तो वह लोग पहले ही को’र्ट के गेट पर आकर खड़े हो गए और उन्हें ढूंढने लगे। उस प्रेमी जोड़े ने म’हि’ला हेल्प लाइन पुलिस कं’ट्रो’ल में फोन करके मदद मांगी। वहीँ पु’लि’स भी मौके पर वहां पहुँच गई और फिर उन्हें को’र्ट के आदे’श से पहले ही सुर’क्षा प्र’दान की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *