मनचाही मुराद पूरी करती है मां तुलसी, इस दिन भूलकर भी ना तोड़ें तुलसी की पत्तियां, घर में आएगी गरीबी…

tulsi ke upay for fulfill all your wishes getting wealth all problem solving tips importance of tulsi

बेहद पवित्र तुलसी का पौधा जीवन में सुख-शांति प्रदान करने वाला माना गया है. हिंदू धर्म में इसकी पूजा का विधान है. इसका धार्मिक महत्व तो ही साथ ही आयुर्वेद में इसके औषधीय गुणों के बारे में भी बताया गया है. पर क्या आप तुलसी से किए जाने वाले उपायों के बारे में जानते हैं? ये उपाय ऐसे हैं जो जीवन में खुशहाली लाते हैं. हर मनोकामना पूरी होती है. (tulsi ke upay for fulfill all your wishes getting wealth all problem solving tips importance of tulsi)

तुलसी से किए जाने वाले असरदार उपाय- tulsi ke upay

रविवार के दिन तुलसी में जल नहीं दूध चढ़ाएं. घी का दीपक जलाएं. ऐसा करने से घर में हमेशा लक्ष्मी जी का वास रहता है.
घर में वास्तु दोष है तो घर की दक्षिण-पूर्व दिशा में तुलसी का पौधा लगाएं. यहां नियमित रूप से जल दें. घी का दीपक जलाएं.
बेटी की शादी नहीं हो पा रही है तो उसके हाथ से तुलसी में नियमित रूप से जल चढ़वाना आरंभ करें. जल अर्पित करने के बाद तुलसी से अपनी कामना कहे. व्यापार में घाटा हो रहा है तो हर शुक्रवार तुलसी में कच्चा दूध अर्पित करें. फिर मिष्ठान को भोग लगाएं. बचा प्रसाद किसी सुहागन को दान दें. पीतल का लोटा लें. इसमें जल भरें. तुलसी की 4 या 5 पत्तियां लें. इसे लोटे में डाल दें. इसे एक पूरे दिन-रात यानी 24 घंटे के रख दें. अगले दिन स्नान के बाद इस जल को मुख्य द्वार पर छिड़क दें. जल को पूरे घर में छिड़कें. इससे मनोकामना पूरी होने में आने वाली बाधाएं दूर हो जाएंगी.

तुलसी के पौधे का जितना धार्मिक महत्व है, उतना ही औषधीय महत्व है. ये पौधा जिस घर में होता है वहां सुख-समृद्धि प्रदान करता है. हिंदू धर्म में इसका विशेष महत्व है. खासकर भगवान विष्णु व कृष्ण पूजन इसके बिना संपूर्ण नहीं माना जाता. पुराणों में भी तुलसीदल की विशेष महिमा बताई गई है. तुलसीदल कभी बासी नहीं माना जाता, न ही ये किसी चीज से अपवित्र होता है. आयुर्वेद की कई औषधियों में भी तुलसीदल का प्रयोग किया जाता है. वास्तु में भी इसकी महिमा बताई गई है. तुलसी का पौधा सही स्थान पर हो तो आय में वृद्धि देने वाला कहा गया है. इसलिए हमेशा तुलसी को घर के उत्तर और पूर्व दिशा में लगाना चाहिए.

तुलसीदल से संबंधित विशेष बातें tulsi ke upay

भगवान गणेश को तुलसी नहीं चढ़ानी चाहिए. तुलसी के पौधे और पत्तियों को बिना स्नान नहीं छूना चाहिए और न ही तोड़ना चाहिए. तुलसी के पत्ते हमेशा उंगलियों के पोरों से तोड़ने चाहिए. नाखून के प्रयोग से नहीं. तुलसी का पौधा सूख गया हो तो उसे फेंकना नहीं चाहिए बल्कि नदी में प्रवाहित कर देने चाहिए. या जमीन में दबा देना चाहिए. रविवार के दिन तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ने चाहिए.

एकादशी के दिन तुलसी का पत्ता तोड़ना वर्जित माना गया है. सूर्य संक्रान्ति, सूर्य ग्रहण, चंद्र ग्रहण के समय पत्ता नहीं तोड़ना चाहिए. शाम के समय में तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ने चाहिए. tulsi ke upay

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *