जानिये आखिर कैसे तुलसी का पौधा देता है आने वाली मुसीबत का संकेत, ऐसे लगा सकते हैं पता

tulsi paudha gives hint to problems coming in future

लगभग हर हिंदू घर में तुलसी का पौधा पाया जाता है. हिंदू धर्म में इसकी बहुत मान्यता है. तुलसी के पत्ते का इस्तेमाल न सिर्फ पूजा-पाठ के लिए किया जाता है बल्कि यह कई प्रकार की बीमारियों को भी दूर भगाने में समर्थ होता है. शुभ कार्य के दौरान लोग तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल करते हैं. पर क्या आप जानते हैं कि पूजा-पाठ और स्वास्थ्य के अलावा भी तुलसी के पत्तों का बहुत महत्व होता है. घर में चल रही परेशानियों से तुलसी के कुछ पत्ते आपको छुटकारा दिला सकते हैं. वास्तु में तुलसी के पत्तों का कुछ अन्य महत्व भी समझाया गया है.

तुलसी पर पड़ता है आने वाली मुसीबत का असर

tulsi ke totke hindi me


कहते हैं कि जब आपके घर, परिवार या आप पर मुसीबत आने वाली होती है तो सबसे पहले उसका असर आपके घर में लगे तुलसी के पौधे पर पड़ता है. कितना भी ध्यान रखने पर आपका तुलसी का पौधा सूखने लगता है. यह पौधा किसी भी आने वाली मुसीबत के बारे में पहले ही सतर्क कर देता है. शास्त्रों के अनुसार, जब भी घर में मुसीबत आने वाले होती है उस घर से सबसे पहले लक्ष्मी यानी तुलसी चली जाती है. क्योंकि दरिद्रता, अशांति या कलेश वाली जगहों पर माता लक्ष्मी का निवास नहीं होता.

ज्योतिष में ये है मान्यता

वहीं, ज्योतिषों के अनुसार इसका मुख्य कारण बुध है. बुध का प्रभाव हरे रंग पर सबसे पहले पड़ता है और बुध पेड़-पौधों के कारक ग्रह माने जाते हैं. ज्योतिष में लाल किताब के अनुसार बुध एक ऐसा ग्रह है जो दूसरे ग्रहों के अच्छे-बुरे प्रभाव व्यक्ति तक पहुंचाता है. किसी ग्रह का अशुभ प्रभाव बुध के कारक वस्तुओं पर भी पड़ेगा और शुभ प्रभाव से तुलसी का पौधा उत्तरोत्तर बढ़ता रहता है. बुध के प्रभाव से पौधे में फल-फूल लगने लगते हैं.

वास्तु में भी है महत्व

हिंदू धर्म में तुलसी को पूजनीय देवी के रूप में पूजा जाता है. तुलसी के आगे ‘मां’ जुड़ने से हम रोज़ इसकी पूजा-आराधना करते हैं. शास्त्रों में तुलसी के विभिन्न प्रकार के पौधों का जिक्र किया गया है. इसमें श्रीकृष्ण तुलसी, लक्ष्मी तुलसी, राम तुलसी, भू-तुलसी, नील तुलसी, श्वेत तुलसी, रक्त तुलसी, वन तुलसी, ज्ञान तुलसी मुख्य रूप से विद्यमान हैं. इन सब तुलसी के पौधों के अपने अलग-अलग गुण हैं. वास्तु में तुलसी के पत्तों का कुछ अन्य महत्व भी समझाया गया है. वास्तु के अनुसार केवल 5 तुलसी के पत्ते अलग-अलग समस्याओं से लड़ने में आपकी मदद कर सकते हैं.

तुलसी के 5 पत्ते हैं बेहद लाभकारी

  • घर में कलेश होने पर भी तुलसी का पत्ता बेहद काम आता है. जिन पति-पत्नी या कपल्स की आपस में नहीं बनती और छोटी-छोटी बात पर लड़ाई होती रहती है, उन्हें तुलसी के केवल 5 पत्ते हमेशा अपने पास रखने चाहिए. लड़ाई-झगड़ा नहीं होगा और शांति बनी रहेगी.
  • यदि आप अपने मन की कोई मुराद पूरी करना चाहते हैं तो तुलसी के 5 पत्ते को एक लाल कागज़ में लपेटकर अपने पूजा घर में रख दें और डेली इसकी पूजा करें. पत्तों से रोजाना अपने मन की मुराद बताएं. कुछ ही दिनों में आपको फर्क दिखेगा. पैसों से जुड़ी दिक्कतें भी दूर होने लगेंगी.
  • यदि आपको लग रहा है कि आपके घर में किसी नकरात्मक शक्ति का प्रभाव है तो आपको केवल एक काम करना है. आपको सिर्फ सोते वक़्त अपने तकिये के नीचे तुलसी के 5 पत्ते रखने हैं. ऐसा करने पर मौजूद नकरात्मक शक्तियां वहां से चली जाती हैं.

इस बात का ज़रूर ध्यान दें कि जिस कार्य के लिए भी आप तुलसी का पत्ता रख रहे हैं वह ताज़ा रहे. पत्ते को हर 24 घंटे में ज़रूर बदलें. आप जिस भी परेशानी से छुटकारा पाना चाहते हैं उसके लिए 21 दिन लगातार इस प्रक्रिया को दोहराएं. पत्ते अगर सूख जाएं तो उसे फेंकने की बजाय जल में बहा दें. कुछ दिनों में आपको सकरात्मक नतीजा देखने को मिलेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *