Board Result 2018: 12वीं के बाद इस क्षेत्र में हैं ढेरों मौके

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश सेकेंडरी एजुकेशन बोर्ड 29 अप्रैल को 10वीं और 12वीं के रिजल्ट घोषित करेगा। यूपी बोर्ड रिजल्ट की घोषणा दोपहर करीब 12.30 के आसपास करेगा। ऐसे में 12वीं के बाद छात्रों के बीच अपने करियर को लेकर टेंशन बढ़ जाती है। बहुत से छात्र अपने करियर के चुनाव को लेकर असमंजस में रहते हैं। छात्रों के साथ उनके अभिभावक भी इसी टेंशन में रहते हैं कि ऐसा कौनसा कोर्स किया जाए जिससे आगे उनके बच्चे के करियर को सही दिशा मिल सके। यहां हम आपको कुछ ऐसे करियर ऑप्शंस के बारे में बता रहे हैं जो छात्रों के करियर को एक नई उड़ान देने के साथ छात्रों और अभिभावकों चिंता को भी खत्म कर देंगे।
मेडिकल में लें सकते हैं एडमिशन
अगर आपने 12वीं की परीक्षा पीसीबी बायोलॉजी के साथ पास की तो आप हेल्थकेयर सेक्टर का हिस्सा बन सकते और डॉक्टर बनने की ओर कदम बढ़ा सकते हैं। इसके लिए आपको मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी करनी होगी। एमबीबीएस और बीडीएस जैसे कोर्स में दाखिले के लिए NEET, AIIMS की प्रवेश परीक्षा देनी होती है। डॉक्टरी पेशे में रुतबे के साथ आमदनी भी अच्छी होती है। डॉक्टर को किसी भी निजी या सरकारी अस्पताल में आसानी से नौकरी मिल जाती या अपना खुद का निजी क्लिनिक भी खोला जा सकता है।

बीटेक या बीई
डॉक्टर के बाद इंजीनियरिंग के पेशे को भी सम्मान की नजरों से देखा जाता है। इंजीनियर बनने के लिए आपके पास 12वीं फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी से पास होनी चाहिए। बीटेक या बीई चार वर्षीय कोर्स होता है। इसमें इंजीनियरिंग की कई शाखाओं में पढ़ाई होती है जैसे टेक्सटाइल इंजीनियरिंग, नेवल आर्किटेक्चर, एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग और मैकेनिकल इंजीनियरिंग आदि।

बैचलर ऑफ इकोनॉमिक्स
बैचलर ऑफ इकोनॉमिक्स किसी भी अच्छे कॉलेज से किया जा सकता है। कॉमर्स के अधिकतर छात्र 12वीं के बाद इकोनॉमिक्स में विशेषज्ञता हासिल करते हैं। आईआरएस या आईएएस की तैयारी के लिए ये बेहतरीन कोर्स है। इसके अलावा इकोनॉमिस्ट बनने की दिशा में भी यह कोर्स प्रमुख भूमिका निभाता है। आज कई बड़ी वित्तीय कंपनियों में इकोनॉमिस्ट होते हैं जिन्हे अच्छा सैलरी पैकेज ऑफर किया जाता है।

चार्टड एकाउंटेंट
सीए बनने के लिए कड़ी मेहनत करनी होती है लेकिन इसकी शुरुआत 12वीं से ही शुरू हो जाती है। इस कोर्ट को चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया (आईसीएआई) संस्था करवाती है। इसके बाद आप टैक्स कंसलटेंट, ऑडिटर या फाइनेंशियल ऑफिसर बन सकते हैं। सीए बनने के बाद आप अच्छे पैकेज पर निजी या सरकारी नौकरी कर सकते हैं या अपनी खुद की फर्म चला सकते हैं।

होटल मैनेजमेंट
होटल मैनेजमेंट 12वीं के बाद लोकप्रिय कोर्सेस में से एक है इसमें होटल की प्रबंधक जिम्मेदारी के बारे में पढ़ाया जाता है। देश में कई इंस्टीट्यूट इस कोर्स को करवाते हैं। इसमें 3 साल का डिग्री कोर्स होता है जबकि डिप्लोमा कोर्स की अवधि 1-2 साल तक होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *