बसपा-सपा को देगा जबरदस्त टक्कर, यूपी की इस सीट से बाजी मार सकता है ये दिग्गज…

लखनऊ उत्तरप्रदेश की राजधानी है यहां की सीटे किसी भी चुनाव में बहुत ज़रूरी हैं, लोकसभा सभा चुनाव की तैयारी ज़ोरो पे है ऐसे में हर किसी की नज़र उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ पर है यहां के सांसद गृह मंत्री राजनाथ सिंह है जो उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री भी रह चुके हैं, 2009 में बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन लखनऊ के सांसद थे. टण्डन से पहले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी जी यहां के सांसद रह चुके हैं. देश की आज़ादी के बाद 16 बार लोकसभा चुनाव हुए जिसमे 6 बार कांग्रेस लखनऊ से जीते और 7 बार भाजपा.

5 बार अटलबिहारी बाजपेयी जी सांसद बने और 1 बार लालजी टंडन जी और 1 बार राजनाथ सिंह जी सांसद बने।कांग्रेस की शीला कौल जी 3 बार सांसद बनी. लखनऊ से लोकसभा चुनाव जीतने वालो में बीजेपी की संख्या ज्यादा है इसे अटल जी का गढ़ कहा जाता है. आज की स्थिति को देखे तो 1991 से भाजपा को कोई टीम टक्कर नही दे पाई है, ज़्यादा से ज़्यादा भाजपा ही जीती है.

google

भाजपा और कांग्रेस के बीच जीत का अंतर बहुत बड़ा है, भाजपा सरकार ने गरीब बच्चों का सेंट्रल स्कूल में ऐडमिशन दिलवाया,लखनऊ में सड़के बनवाई, गरीबों का फ्री इलाज कराया।राजनाथ सिंह ने अटल बिहारी जी की योजना गोमती नगर स्टेशन बनवाया लखनऊ से दिल्ली तक के लिए डबल डेकर बस चलवाई और लखनऊ में बहुत से अच्छे बदलाव हुए जिससे वहां की जनता को बहुत फायदा हो रहा है.
google

2019 मे भी उम्मीद है लोकसभा चुनाव में लखनऊ से राजनाथ सिंह ही चुनाव लड़ेंगे इसलिए लखनऊ से भाजपा को हराना मुश्किल है।राजनाथ सिंह 1 बड़े नेता है और लखनऊ भाजपा का गढ़ है. राजनाथ सिंह ने लोगो के लिए बहुत सारे काम अंजाम दिए है और उन्होंने जनता के हित में भलाई की है उनके काम से जनता को बहुत सुविधा हुई है.
google

बहुत सारी समस्या का निवारण भी किया है-आवारा पशुओं की समस्या, बेरोज़गारी,किसानों का क़र्ज़ माफी,शिक्षा,स्वास्थ,शैक्षिक संस्था की स्थापना जैसी बहुत सी समस्या का हल निकाला है. लोगो का मानना है राजनाथ सिंह को लोकसभा चुनाव में हराना मुश्किल है ये मुकाबला मुश्किल होगा, ये तो आने वाला वक़्त ही बतायेगा लखनऊ की लोकसभा सीट पर कौन विजयी होता है, टोटल वोट 53%है राजनाथ सिंह को 54.3% वोट मिला था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *