आधुनिक, स्मार्ट और विकसित छत्तीसगढ़ बनाना हम सबका लक्ष्य : डॉ. रमन सिंह

0
13

रायपुर. मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि छत्तीसगढ़ को वर्ष 2025 में तक स्मार्ट, आधुनिक और विकसित राज्य बनाना हम सबका लक्ष्य है। रजत जयंती वर्ष तक छत्तीसगढ़ का सकल घरेलू उत्पादक दोगुना, किसानों की आय दोगुनी होगी। हर गांव सड़क से जुड़ेगा। शिक्षा और स्वास्थ्य की बेहतर व्यवस्था होगी। बड़े शहर एयर कनेक्टिविटी से जुड़ जाएंगे। डॉ. सिंह आज प्रदेश व्यापी अटल विकास यात्रा के दौरान सरगुजा जिले के तहसील मुख्यालय सीतापुर में एक विशाल आमसभा को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने सरगुजावासियों को अंचल में आज मनाए गए करमा त्यौहार की बधाई और शुभकामनाएं दी।
मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर 455 करोड़ 53 लाख रूपए की लागत के 15 कार्याें का लोकार्पण और शिलान्यास किया। डॉ. सिंह ने ग्राम काराबेल-बतौली में 13 करोड़ 22 लाख रूपए की लागत से निर्मित 132/33 के.व्ही. क्षमता के विद्युत उपकेन्द्र का लोकार्पण किया। इस केन्द्र के प्रारंभ होने से क्षेत्र के 213 गांवों की कम वोल्टेज की समस्या हल होगी। डॉ. सिंह ने कहा कि राज्य सरकार सर्वसमाज की बेहतरी के लिए योजना बनाकर काम कर रही है। पिछले 15 वर्षाें में गरीबों, किसानों, मजदूरों के जीवन में बेहतर बदलाव आया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब किसानों को खाद-बीज के लिए भटकना नहीं पड़ता। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने किसानों को आसानी से यूरिया उपलब्ध कराने के लिए नीम कोटेड यूरिया की व्यवस्था की है। इससे यूरिया की कालाबाजारी को रोकने में मदद मिली है। डॉ. सिंह ने कहा कि किसानों को पांच हार्स पावर तक के सिंचाई पम्पों के लिए फ्लैट रेट की सुविधा देने के साथ राज्य सरकार ने एकल बत्ती कनेक्शन वाले 12 लाख परिवारों को फ्लैट रेट पर एग्रीमेंट का विकल्प दिया है, 30 यूनिट से अधिक बिजली की खपत पर इन परिवारों को 100 रूपए मासिक देना होगा।
उन्होंने कहा कि वनवासियों की परेशानियों को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने 20 हजार तक के जुर्माने वाले वन अपराध के छोटे-मोटे 20 हजार प्रकरणों को वापस लेने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि सीतापुर में ग्रामीणों की उपस्थिति और उत्साह देख कर लग रहा है कि आप राज्य सरकार की योजनाओं से जुड़ना चाहते हैं। इस क्षेत्र के विकास के सपने को साकार करने के लिए मैं विकास यात्रा लेकर आपके बीच आया हूं। उन्होंने कहा कि विकास कार्याें के लिए आवेदन देने की जरूरत नहीं हैं। राज्य सरकार एक-एक चीज की चिंता करके योजनाएं बना रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी ने छत्तीसगढ़ राज्य बनाया। पिछले 18 वर्षाें में प्रदेश में हुए विकास कार्याें का श्रेय उन्हीं को जाता है। इसलिए विकास यात्रा के दूसरे चरण का नाम अटल विकास यात्रा रखा गया है। विकास यात्रा के जरिये मैं छत्तीसगढ़ के विकास की जानकारी आम जनता को देने निकला हूं। डॉ. सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत गरीब परिवारों की 36 लाख महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन और चूल्हे दिए जा रहे हैं। इस योजना का लाभ अब अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जाति वर्ग के सभी परिवारों को मिलेगा। इस अवसर पर गृह मंत्री श्री रामसेवक पैकरा, लोकसभा सांसद श्री कमलभान सिंह, राज्य सभा सांसद श्री रामविचार नेताम, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती फलेश्वरी सिंह, पूर्व विधायक प्रोफेसर गोपालराम सहित अनेक जनप्रतिनिधि इस अवसर पर उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज प्रदेशव्यापी अटल विकास यात्रा के दौरान मुंगेली जिले के लोरमी में आयोजित आमसभा में जनता के आग्रह पर अतिरिक्त कलेक्टर का लिंक कोर्ट और उप कोषालय प्रारंभ करने की घोषणा की। उन्होंने शासकीय महाविद्यालय लोरमी में अतिरिक्त कक्ष निर्माण के लिए 15 लाख रूपए की स्वीकृति भी दी। डॉ. सिंह ने इस अवसर पर 34 करोड़ रूपए की लागत से झापल कबराटोला में निर्मित 132/33 केव्ही विद्युत उपकेन्द्र और टेमरी से लोरमी तक विद्युत लाईन, 95 करोड़ 94 लाख रूपए की लागत से मुंगेली-लोरमी-पण्डरिया मार्ग उन्नयन कार्य, आठ करोड़ 28 लाख रूपए की लागत से निर्मित 50 बिस्तरों वाले मातृ एवं शिशु अस्पताल लोरमी का लोकार्पण और 93 करोड़ 53 लाख रूपए की लागत से किए जाने वाले लोरमी-पैजनिया-मसना-मसनी-जरहागांव मार्ग उन्नयन एवं चौड़ीकरण कार्य, 45 करोड़ 93 लाख रूपए की लागत से प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के अंतर्गत मनियारी जलाशय के कमाण्ड क्षेत्र विकास एवंज ल प्रबंधन कार्य का भूमिपूजन सहित कुल 386 करोड़ रूपए की लागत के 122 कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। उन्होंने 800 हितग्राहियों को दो करोड़ 85 लाख रूपए की सामग्री और सहायता राशि भी वितरित की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here