Uncategorized

गरुड़ पुराण: इन 5 तरह के लोगों की संगति व्यक्ति को ले जाती है बर्बादी की तरफ, तुरंत ही छोड़ दें

इस संसार में हर व्यक्ति अपना जीवन बेहतर से बेहतर बनाने की कोशिश करता है परंतु ना चाहते हुए भी जीवन में किसी ना किसी प्रकार की परेशानियां खड़ी हो जाती हैं। दरअसल, हमारे जीवन में जो परेशानियां आती हैं, उसके पीछे कहीं ना कहीं जिम्मेदार हम खुद होते हैं। हमारी आदतें और हमारी संगति हमारे जीवन पर काफी प्रभाव डालती है। आपको बता दें कि गरुड़ पुराण में जीवन से लेकर मृत्यु और उसके बाद की स्थितियों का विस्तार से वर्णन किया गया है। गरुड़ पुराण को सनातन धर्म में 18 महापुराणों में से एक माना जाता है। गरुड़ पुराण में ऐसी कई नीतियों का उल्लेख मिलता है जिसके माध्यम से व्यक्ति का जीवन बेहतर बन सकता है।

आज हम आपको इस लेख के माध्यम से गरुण पुराण के अनुसार ऐसे 5 तरह के लोगों के बारे में जानकारी देने वाले हैं जिनकी संगति कभी भी नहीं करनी चाहिए। अगर इन लोगों की संगति व्यक्ति करता है तो इसकी वजह से वह बर्बादी की तरफ चला जाता है। तो चलिए जानते हैं आखिर यह कौन से लोग हैं जिनकी संगति नहीं करनी चाहिए।

जो लोग रहते हैं भाग्य के भरोसे

गरुड़ पुराण में इस बात का वर्णन मिलता है कि अगर कोई व्यक्ति अपने जीवन में किसी भी काम को पूरा करने के लिए कर्म नहीं करता है। वह सिर्फ अपनी किस्मत के भरोसे ही बैठा रहता है। जो लोग मेहनत करने से पीछे हटते हैं। वह जीवन में कभी भी सफल नहीं होते हैं और ना ही उनके साथ रहने वाले लोगों को सफलता मिलती है। ऐसे लोग अपने साथ रहने वाले लोगों को भी सफल नहीं होने देते हैं। इसलिए ऐसे लोगों की संगति को तुरंत छोड़ देना ही बेहतर होगा।

जो लोग रखते हैं नकारात्मक सोच

गरुड़ पुराण में इस बात का वर्णन मिलता है कि अगर कोई व्यक्ति हमेशा अपनी सोच नकारात्मक रखता है तो उसको अपने जीवन में बहुत सी परेशानियों से गुजरना पड़ता है। ऐसे लोगों के साथ कभी भी अच्छा नहीं होता है क्योंकि नकारात्मक सोच की वजह से इसका प्रभाव जीवन पर पड़ने लगता है। नकारात्मक सोच कभी भी व्यक्ति को सफल नहीं होने देती है। इसलिए हमेशा नकारात्मक लोगों से दूरी बनाकर रखें अन्यथा आप अपने जीवन में कभी सफल नहीं हो पाएंगे। ऐसे लोग दूसरों को भी अपनी ही तरह बना देते हैं।

जो लोग करते हैं दिखावा

बहुत से लोग ऐसे हैं जो धन और वस्तुओं का दिखावा करते हैं। गरुड़ पुराण में इस बात का उल्लेख किया गया है कि ऐसे लोगों से हमेशा दूरी बना कर रखना चाहिए क्योंकि जो लोग दिखावा करता है वह अहंकारी बन जाता है। जी हां, ऐसे लोगों के अंदर अहंकार की भावना अधिक रहती है। यह लोग अपने अहंकार की वजह से कई बार दूसरों को अपमानित और दुखी करने से भी पीछे नहीं हटते हैं। इसलिए ऐसे लोगों की संगति जितनी जल्दी छोड़ दें उतना ही अच्छा होगा।

फिजूल बातों पर समय नष्ट करने वाले लोग

गरुड़ पुराण के अनुसार जो लोग हमेशा इधर-उधर की बातें करके अपना समय बर्बाद करते रहते हैं, उनकी संगति तुरंत छोड़ देनी चाहिए क्योंकि ऐसे लोग अपने साथ-साथ दूसरों का भी समय बर्बाद करते हैं। अगर व्यक्ति इस तरह के लोगों की संगति रखता है तो उसका सिर्फ समय ही बर्बाद नहीं होता है, बल्कि वह खुद ऐसे लोगों की तरह हो जाता है। गरुड़ पुराण में यह वर्णन मिलता है कि व्यक्ति को हमेशा ज्ञानी लोगों की संगति में रहना चाहिए।

elss mutual fund doubles income tax savers money in one year

आलस करने वाले लोग

गरुड़ पुराण के अनुसार जो व्यक्ति अपने जीवन में बिना मेहनत के सब कुछ प्राप्त करने की इच्छा रखता है. जो लोग आलसी होते हैं और जो सिर्फ कल्पना में ही खोए रहते हैं। ऐसे लोगों को अपने जीवन में कभी सफलता नहीं मिलती है। अगर कोई व्यक्ति इस तरह के लोगों की संगति में रहता है तो उसका प्रभाव उसके ऊपर भी पड़ने लगता है। इसलिए ऐसे लोगों की संगत छोड़ना ही बेहतर साबित होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button