बेहद कम पैसों में शुरू करें ये कारोबार, हर महीने होगी ₹5 लाख की कमाई, सरकार देगी 85% तक सब्सिडी

नई दिल्ली. कोरोना के चलते अगर आपकी इनकम प्रभावित हुई है. या फिर आपको नौकरी खोने का डर है और अतिरिक्त इनकम के लिए कारोबार (Start own business) करने की सोच रहे हैं, तो आज हम आपको एक शानदार बिजनेस आइडिया (New business Idea) के बारे में बताएंगे. जी हां..आज हम आपको एक ऐसे कृषि संबंधित बिजनेस आइडिया (Agriculture Business Ideas) के बारे में बता रहे हैं, जिसे आप कम से कम पैसे लगाकर (Small level business) आसानी से शुरू कर सकते हैं. आपको बता दें कि कृषि क्षेत्र का बिजनेस (Agri Business)एक ऐसा क्षेत्र है, जहां लाभ कमाने की आपार संभावनाएं हैं. यह ऐसा क्षेत्र है जिसे महामारी भी प्रभावित नहीं कर सकती है, देश की GDP में सबसे ज्यादा योगदान कृषि क्षेत्र का ही है.

क्या है मधुमक्खी पालन का कारोबार? (What is Beekeeping business?)मधुमक्खी पालन एक ऐसा ही कारोबार है जिससे बड़ी संख्या में लोग कमाई कर रहे हैं. यह एक कम खर्चीला घरेलु उद्योग है. यह एक ऐसा रोजगार है जिसे समाज के हर वर्ग के लोग अपना कर लाभान्वित हो सकते है. मधुमक्खी पालन कृषि व बागवानी उत्पादन बढ़ाने की क्षमता भी रखता है. मधुमक्खियां मोन समुदाय में रहने वाली कीटों वर्ग की जंगली जीव है, इन्हें उनकी आदतों के अनुकूल कृत्रिम ग्रह (हईव) में पाल कर उनकी वृधि करने तथा शहद एवं मोम आदि प्राप्त करने को मधुमक्खी पालन या मौन पालन कहते है. इस क्षेत्र को पूरी तरह से प्रकृति पर निर्भर माना जाता है, लेकिन जब से खेती में विज्ञान और टेक्नोलॉजी के प्रयोग होने लगा है, तब से कृषि क्षेत्र एक बहुत ही बड़ा और विशाल क्षेत्र बन गया है. इसे कोई भी शुरू कर सकता है.

Beekeeping business

कैसे करें इसका कारोबार? (How to start Beekeeping business)सबसे पहले आप अपनी मधुमक्खी कॉलोनी को बनाए रखने में मदद करने के लिए पेशेवर मधुमक्खी पालक संघों से क्षेत्र-विशिष्ट जानकारी लें.क्षेत्रीय मधुमक्खी रोगों, अन्य कीट जो मधुमक्खियों को प्रभावित कर सकते हैं. नए मधुमक्खी पालकों के लिए सामान्य समर्थन जानकारी के बारे में पता लगा लें.मौजूदा मधुमक्खियों के स्थान और आपके क्षेत्र में आम तौर पर उत्पादित शहद के प्रकारों के बारे में पूछताछ करें.पहली चीज जो आपको करनी है वह यह है कि अपनी पहली फसल के बाद अपने मधुमक्खी पालन कार्य का मूल्यांकन करें. इसलिए योजना बनाना किसी भी बिजनेस मॉडल का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है. अपने मधुमक्खियों और पित्ती के स्वास्थ्य की जांच करें.अपने छत्ता रखरखाव तकनीकों को परिष्कृत करने के लिए अपने मधुमक्खी पालक संघ के साथ काम करें. अपने खर्चों की तुलना अपने शहद और मोम की आय से करें.निर्धारित करें कि क्या आपको अपनी मधुमक्खियों की आपूर्ति का विस्तार करना चाहिए ताकि बाजार में और वृद्धि हो सके.इसे शुरू करने के लिए आप अपने शहर या काउंटी क्लर्क के कार्यालय से व्यवसाय लाइसेंस ले सकते हैं और अन्य परमिट के बारे में पूछताछ कर सकते हैं.अपने मधुमक्खी से संबंधित उत्पादों की बिक्री के लिए बिक्री लाइसेंस के संबंध में अपने राज्य के राजस्व विभाग से संपर्क करें और राज्य मधुमक्खी पालन कानूनों के बारे में कृषि वकील से परामर्श लें.

जानें कैसा है Beekeeping का मार्केट?

शहद के साथ कई अन्य उत्पाद हैं जिनका आप उत्पादन कर सकते हैं जैसे कि बीज़वैक्स, रॉयल जेली, प्रोपोलिस या मधुमक्खी गोंद, मधुमक्खी पराग. ये सभी प्रोडक्ट्स इंसानों के लिए बहुत फायदेमंद हैं और बाजार में बहुत महंगे हैं. यानी मार्केट में बेहद डिमांडिंग है. हम आपको बता रहे हैं इन प्रोडक्ट्स की मार्केट वैल्यू के बारे में, ताकि आप जान सकें कि आप इसके विभिन्न उत्पादों से कैसे पैसा कमाएंगे.शहद (Honey)- कुछ ऑर्गेनिक शहद की कीमत अधिक होती है लेकिन ज्यादातर 699 रुपये से 1000 रुपये के बीच उपलब्ध होते हैं.मधुमक्खी मोम (Bee Wax)- यह मधुमक्खियों द्वारा बनाया गया एक वास्तविक कार्बनिक मोम है. बाजार में इसकी औसत कीमत 300 से 500 रुपये प्रति किलो है. रिपोर्ट्स के मुताबिक मधुमक्खी के डिब्बे या डिब्बे में 50 से 60 हजार मधुमक्खियों को रखा जा सकता है. इससे 1 क्विंटल तक शहद उत्पादन प्राप्त किया जा सकता है.


मधुमक्खी पालन पर 85% तक सब्सिडी देगी सरकारबता दें कि कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय (Ministry of Agriculture & Farmers Welfare) ने ‘फसल उत्पादकता में सुधार के लिए मधुमक्खी पालन का विकास’ (Development of Beekeeping for Improving Crop Productivity)नाम से एक केंद्रीय योजना शुरू की है. इस योजना में इस सेक्टर को विकसित करना, प्रोडक्टिविटी बढ़ाना, प्रशिक्षण करना और जागरूकता फैलाना है. राष्ट्रीय मधुमक्खी बोर्ड (NBB) ने नाबार्ड (NABARD) के साथ मिलकर भारत में मधुमक्खी पालक व्यवसाय के वित्तपोषण की योजनाएं (financing the beekeeper business in India) बनाई हैं. वे इस क्षेत्र में महिलाओं के रोजगार के लिए सहायता भी प्रदान करते हैं. आप निकटतम राष्ट्रीय मधुमक्खी बोर्ड कार्यालय में जा सकते हैं या वेबसाइट से जानकारी ले सकते हैं. बता दें कि सरकार मधुमक्खी पालन पर 80 से 85% तक सब्सिडी देती है. इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए लाभ उठा सकते हैं.

कैसे होगी हर महीने लाखों में कमाई?आप इस व्यवसाय को कम से कम निवेश में शुरू कर सकते हैं. आपको इससे हर महीने 5 लाख तक की कमाई होगी. आइए जानते हैं कैसे…बाजार में शहद की मौजूदा कीमत = 500 रुपये (विभिन्न ब्रांडों पर निर्भर करता है). तो मान लीजिए कि आपको प्रति बॉक्स 1000 किलोग्राम की उपज मिलती है, तो आपको = 5,00000 रुपये (5 लाख) कमाई होगी.मान लीजिए कि आप 50 Colonies बनाते हैं, कुल आय = 2, 5000000 रुपये (2 करोड़) होगी.यह औसत डेटा है, इसे आप कुछ Colonies से भी शुरू कर सकते हैं और शहद का उत्पादन कर सकते हैं. इस व्यवसाय को चलाने के कुछ वर्षों के भीतर, आपकी कमाई की क्षमता बहुत जल्द करोड़ों रुपये हो जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *